देवगुरु बृहस्पति हुए मार्गी, जानिये किन पर रहेंगे शुभ और किन पर अशुभ!

देवगुरु बृहस्पति हुए मार्गी, जानिये किन पर रहेंगे शुभ और किन पर अशुभ!

Deepesh Tiwari | Updated: 11 Aug 2019, 05:27:47 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

अब देवगुरु बृहस्पति devguru brahaspati ने चली सीधी चाल, इस दिन से 12 राशियों पर दिखेगा असर: effects on 12 zodiac sign due to jupiter transit in scorpio ...

भोपाल। अभी चंद दिनों पहले यानि 9 अगस्त 2019 को मंगल mars के राशि परिवर्तन के बाद आज 11 अगस्त से गुरु मार्गी चलने जा रहे हैं। आज शाम 7 बजकर 04 मिनट से गुरु वृश्चिक राशि में Jupiter transit in scorpio सीधी चाल से चलेंगे और 4 नवंबर को अपनी राशि धनु में प्रवेश कर जाएंगे।

दरअसल 11 अगस्त को श्रावण शुक्ल पक्ष की एकादशी पर रविवार को गुरु वृश्चिक राशि jupiter transit in scorpio में मार्गी होंगे। गुरु धनु राशि में 29 मार्च को आए थे। 10 अप्रैल को वक्री अवस्था में थे। वक्री होने के कारण 30 अप्रैल को वृश्चिक scorpio राशि में वापसी कर गए थे। अब 11 अगस्त को फिर से मार्गी हो जाएंगे। गुरु वृश्चिक राशि में ही मार्गी होंगे।

पंडित सुनील शर्मा के अनुसार ज्योतिष शास्त्र में गुरु यानि बृहस्पति ग्रह jupiter का बहुत बड़ा दर्जा है। इन्हें समस्त देवताओं का गुरु माना जाता है। गुरु ज्ञान के सलाह के दाता हैं। बड़े बुजूर्गों, वरिष्ठ अधिकारियों की कृपा गुरु की कृपा से ही संभव हैं।

efects on zeodic sign

यदि आपकी कुंडली में गुरु शुभ हैं तो आपको विकट परिस्थितियों में भी सहयोग मिलता रहता है। कर्क राशि में बृहस्पति ग्रह jupiter उच्च के होते हैं तो मकर राशि में इन्हें निकृष्ट माना जाता है। ये धनु व मीन राशि के स्वामी हैं। सूर्य, चंद्रमा व मंगल के साथ इनकी मित्रता है।

तो शुक्र व बुध के साथ ये शत्रुवत संबंध रखते हैं। राहु-केतु व शनि के साथ इनका तटस्थ संबंध है। बृहस्पति jupiter में एक खास बात यह भी है कि इनकी भले ही किसी ग्रह से शत्रुता हो लेकिन जो ग्रह इनके साथ मित्रता नहीं रखते वे इनके शत्रु भी नहीं है यानि अधिकतर ग्रहों का बृहस्पति ग्रह jupiter से तटस्थ रिश्ता है।


गुरु के राशि परिवर्तन की यात्रा: rashi parivartan of devguru

गुरू 29 मार्च 2019 को धनु राशि में प्रवेश।
गुरू 10 अप्रैल 2019 को धनु राशि में वक्री।
गुरू 22 अप्रैल 2019 को वृश्चिक राशि में वक्री अवस्था में।
गुरु 11 अगस्त 2019 को वृश्चिक राशि में 19:04 पर मार्गी अवस्था में गोचर करेंगे।

 

MUST READ : ये राशि देवगुरु बृहस्पति की कृपा से 2019 की बनेंगी सरताज

https://www.patrika.com/bhopal-news/effects-of-jupiter-on-year-2019-rsahifal-in-hindi-4023383/

गुरु की ये रही चाल : Rashi parivartan of jupiter ...

अब गुरु 4 नवम्बर 2019 को धनु राशि में 29:16 पर प्रवेश करेंगे। वहीं इससे पहले गुरु धनु राशि में 29 मार्च 2019 को आए थे, 10 अप्रैल 2019 से वक्री अवस्था में थे, वक्री होने के कारण 23 अप्रैल को वॄश्चिक राशि में वापसी कर गए थे और 11 अगस्त 2019 से बृहस्पति फिर से मार्गी होने वाले है।

गुरु का वॄश्चिक राशि में मार्गी होना स्वर्णधातु की मूल्यों में उतार-चढ़ाव करने के साथ साथ 12 राशियों के जातकों के जीवन को भी प्रभवित कर रहा है। यहां वक्री होने का अर्थ यह है कि ग्रह के उल्टा चलने का आभास होना है, और मार्गी चलना अर्थात सीधा चलना है।


देवताओं के गुरु बृहस्पति 11 अगस्त को वक्री से मार्गी होंगे। गुरु लगभग 13 महीने तक एक राशि में रहते हैं। गुरु के वृश्चिक राशि में मार्गी होने से वह सीधी और सही दिशा में चलेंगे जिसके कारण व्यक्ति ज्ञान व धन में इसका सीधा असर रहेगा। वहीं जानकारों के अनुसार जहां शनि अपनी ग्रह परिवर्तन से पहले ही असर दिखाना शुरू कर देता है, वहीं गुरु परिवर्तन के करीब तीन दिन बाद से राशियों पर अपनी बदली स्थिति का पूरा असर दिखाना शुरू करता है।

grahon ki chaal astrology

इनके लिए रहेंगे खास : special effects of jupiter ...
गुरु का यह वृश्चिक राशि में ये गोचर स्त्री जातकों के लिए बहुत महत्वपूर्ण रहेगा। स्त्री जातकों के विवाह में त्रिबल शुद्धि हेतु गुरु बल में गुरु का राशि परिवर्तन विशेष महत्व रखेगा।

शास्त्रानुसार त्रिबल शुद्धि में गुरु के अपूज्य स्थिति में होने पर स्त्री जातक का विवाह वर्जित माना गया है। वहीं पूज्य स्थानों में होने पर गुरु की शांति के उपरांत ही स्त्री जातक का विवाह करने का निर्देश है। जिसे प्रचलित भाषा में पीली पूजा कहा जाता है। कुछ विद्वान अत्यंत आवश्यक होने पर देश-काल-परिस्थिति अनुसार अपूज्य स्थानों में होने पर भी पीली पूजा अर्थात् गुरु का शांति अनुष्ठान कर विवाह करने का परामर्श दे देते हैं।

इन राशि वाले जातकों के विवाह में बाधक बनेंगे गुरु : jupiter creat problems -
जिन स्त्री जातकों की राशि से गुरु अपूज्य स्थान अर्थात् 4,8,12 में गोचर करेंगे उन स्त्री जातकों का विवाह 1 वर्ष के लिए वर्जित रहेगा। वहीं जिन स्त्री जातकों की राशि से गुरु "पूज्य" स्थान अर्थात् 1,3,6,10 में गोचर करेंगे उनका विवाह गुरु शांति अनुष्ठान (पीली पूजा) संपन्न करने के उपरांत हो सकेगा।

planet Astrology

शेष राशि वाले स्त्री जातकों के लिए गुरु शुभ रहेंगे। आइए अब जानते हैं कि 11 अक्टूबर को होने वाला गुरु का गोचर किन राशियों की स्त्री जातकों के विवाह में बाधा बनेगा।

1. अपूज्य- मेष , सिंह, धनु (विवाह वर्जित)

2. पूज्य- मिथुन, कन्या, वृश्चिक, कुंभ (गुरु की शांति के उपरांत विवाह)


किसी ग्रह के वक्री होने का मतलब पीछे की तरफ चलना और मार्गी का अर्थ आगे की तरफ चलना। ऐसे में गुरु का वृश्चिक राशि में मार्गी होना किस राशि के जातकों के लिए शुभ रहेगा और किसके लिए अशुभ...

मेष राशि  / aries

गुरु का ये रहेगा राशियों पर असर : Effects of Jupiter...


1. मेष राशि फल / jupiter effect on aries
आपकी राशि से देवताओं के गुरु बृहस्पति आठवें भाव में रहेंगे, यह शुभ फल का कारक तो नहीं माना जा सकता, लेकिन इस दौरान आपको अटके धन की प्राप्ति की संभावना है। धार्मिक कार्यों के आयोजन और व्यय होने की संभावनाएं हैं। धन संचय सहज होगा। व्ययों में बढ़ोतरी होगी। व्यापारिक क्षेत्र में अड़चनें आयेंगी। धन निवेश किया जा सकता है। निर्माण कार्य करने में आर्थिक लाभ के योग। कोई नया काम शुरू हो हो सकता है।

 वृषभ राशि  /  <a href=taurus " src="https://new-img.patrika.com/upload/2018/12/29/002_1_4959423-m.jpg">

2. वृषभ राशि फल / jupiter effect on taurus
बृहस्पति देवगुरु आपकी राशि से सातवें स्थान पर रहेंगे, जिससे कारोबारी पार्टनरशिप के अच्छे मौके बनने की संभावना है। व्यापार में स्थितियां थोड़ी कठिन बनेंगी। नौकरी पेशे में तरक्की देंगे। लेकिन निर्माण कार्य करने वालों को आर्थिक हानि की संभावना है। साझेदारी की योजनाओं पर कार्य किया जा सकता है। व्यापारिक विस्तार और नया व्यापार शुरु करने के लिए समय अनुकूल रहेगा। व्यापारिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। पुराने विवाद समाप्त होंगे। भाई बहनों का सहयोग मिलेगा।

 मिथुन राशि /  <a href=gemini " src="https://new-img.patrika.com/upload/2018/12/29/003_1_4959423-m.jpg">

3. मिथुन राशि फल / jupiter effect on gemini
आपसे छठें भाव में स्थित बृहस्पति देवगुरु का गोचर बीमारियों को न्यौता दे सकता है,अत: स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहें। ॠण लेन देन के कार्य सहजता से होंगे। कारोबारी और नौकरीपेशा व्यक्ति की अब तक की दिक्कतें समाप्त होंगी। विदेश गमन के योग बन रहे है। नौकरी और व्यापार में प्रतिष्ठा के साथ धन लाभ कराएगा। विवादों को सुलझाने का मौका मिलेगा। ससुराल से संबंधों में सुधार होगा।

कर्क राशि /  <a href=cancer " src="https://new-img.patrika.com/upload/2018/12/29/004_1_4959423-m.jpg">

4. कर्क राशि फल / jupiter effect on cancer
आपकी राशि से पंचम भाव में स्थित बृहस्पति देवगुरु का गोचर आय साधनों में वृद्धि के साथ ही स्टूडेंट्स के लिए भी फायदेमंद सिद्ध होगा। अपना स्वभाव थोड़ा लचीला रखें। कुल मिलाकर आपके लिए ये शुभ समय है, जिसका आप भरपूर उपयोग करें। उच्च शिक्षा अध्ययन कर रहे छात्रों के लिए समय अनुकूल। स्वास्थ्य में सुधार होगा। ऊर्जावान महसूस करेंगे। नई उमंग और उत्साह आपमें होगा। आय-लाभ में बढ़ोतरी होगी। कार्यक्षेत्र में योजनाओं पर समय पर काम होगा। सम्मान में वृद्धि होगी।

 सिंह राशि  /   <a href=leo " src="https://new-img.patrika.com/upload/2018/12/29/005_1_4959423-m.jpg">

5. सिंह राशि फल / jupiter effect on leo
आपसे चौथे भाव में गुरु का गोचर आपको कारोबारी क्षेत्र में प्रतिष्ठा दिलाएगा। छिपा धन भी मिलने की संभावना है। गुरु नई उमंग और उत्साह प्रदान करेगा। योजनाओं के अनुसार काम होने से प्रसन्नता रहेगी। कार्य स्थल पर सम्मान में वृद्धि होगी। अत्यधिक विश्वास धन हानि का कारण बन सकता है। रुके हुआ धन प्राप्त होगा। कारोबारियों के लिए समय अनुकूल। अपने स्वास्थ्य का खास ध्यान रखना होगा। विदेश गमन के प्रयास भी इस समय सफल होंगे।

 कन्या राशि  /  <a href=virgo " src="https://new-img.patrika.com/upload/2018/12/29/006_1_4959423-m.jpg">

6. कन्या राशि फल / jupiter effect on virgo
आपसे तीसरे भाव में गोचर कर रहे देवगुरु आपके आय साधनों में वृद्धि करने में सहायक होंगे, साथ ही लंबे समय से अटके प्रोजेक्ट को पुन: शुरू करने का ये उपयुक्त समय है। किसी भी प्रकार के निवेश से बचें और अनजानों पर विश्वास न करें।जीवन में कई विषयों में आपको बाधाओं का सामना करना पड़ेगा। अचानक से धन प्राप्ति के योग बन रहे है। पिता या पिता समान व्यक्ति के साथ संबंध बेहतर होंगे। धार्मिक कार्यों में रुचि बढ़ेगी। गलत कार्य करने से बचें। यात्राओं से लाभ प्राप्त होगा।

तुला राशि / libra

7. तुला राशि फल / jupiter effect on libra
आपसे दूसरे भाव में गुरु का गोचर बीमारियों से राहत दिलाएगा। वहीं इस राशि के जातकों को कार्य क्षेत्र में प्रतिष्ठा भी दिलाएगा। शुुरुआती असफलताओं के बाद सफलता मिलेगी। समय अच्छा रहेगा। नया व्यापार शुरू होगा।अब तक चले आ रहे रोगों से मुक्ति मिलेगी। लेकिन ध्यान रखें इस दौरान ससुराल पक्ष से संबंधों में खटास भी आ सकती है। शोध छात्रों को अध्ययन में ग्रह योगों का सहयोग मिलेगा। आपकी प्रतिष्ठा में बढ़ोतरी होगी। ससुराल से रिश्तों को मधुर बनाए रखने के लिए अतिरिक्त मेहनत करनी होगी। धन का लाभ होगा। पदोन्नति के योग बनेंगे।

वृश्चिक राशि / scorpio

8. वृश्चिक राशि फल / jupiter effect on scorpio
देवगुरु आपकी ही राशि में गोचर करेंगे। ऐसे में भाग्य भाव में गुरु की दृष्टि आपको अचानक लाभ देती दिख रही हैं। पहले से भी अच्छी परिस्थितियां बनेंगी। धन लाभ होगा और अविवाहितों के विवाह में आने वाली बाधाएं दूर होंगी।पारिवारिक माहौल सुखद रहेगा। जीवन साथी के साथ रिश्ते मजबूत होंगे। भाई बहनों का सुख-सहयोग प्राप्त होगा। धार्मिक यात्रा पर जाने के लिए समय अनुकूल है। कुछ नया सीखने का मन हो तो सीख सकते है।

 धनु राशि  /   <a href=sagittarius " src="https://new-img.patrika.com/upload/2018/12/29/009_1_4959423-m.jpg">

9. धनु राशि फल / jupiter effect on sagittarius
आपकी राशि से गुरु 12वें भाव में गोचर करेंगे, इसके प्रभाव से आपके खर्चों में यानि व्यय में वृद्धि हो सकती है। आपके लिए धीरे-धीरे लाभ की स्थितियां बनेंगी। शत्रु पर नियंत्रण कर पाएंगे। अदालती मामलों के फैसले आपके पक्ष में आ सकते हैं, साथ ही कर्ज में फंसे पैसे के वापसी के योग भी हैं। शासकीय कार्यों में सहायता मिलेगी। परिवार में सुखद वातावरण रहेगा। कोर्ट कचहरी के मामलों का फैसला आपके पक्ष में हो सकता है। कर्ज में फंसा धन वापस मिल सकता है। शत्रुओं पर विनम्रता दिखाने से बचें।

मकर राशि /  <a href=capricorn " src="https://new-img.patrika.com/upload/2018/12/29/0010_1_4959423-m.jpg">

10. मकर राशि फल / jupiter effect on capricorn
आपकी राशि से 11वें भाव में गुरु का गोचर एक ओर जहां आपकी आय में इजाफा करेगा। वहीं यह समय निवेश के लिए शुभ रहेगा। गुरु कार्यों को बनाने में सफल होगा। धन लाभ मिल सकता है। रुके हुए कार्य पूरे होंगे। अप्रत्याशित सफलताएं भी कार्यक्षेत्र में मिल सकती है। पुश्तैनी जायदाद को लेकर तनाव बढ़ सकता है। अस्पताल में जाने की स्थिति बन सकती है।

कुंभ राशि  /  <a href=Aquarius " src="https://new-img.patrika.com/upload/2018/12/29/0011_1_4959423-m.jpg">

11. कुंभ राशि फल / jupiter effect on Aquarius
आपकी राशि से दसवें भाव में गुरु का गोचर नई कार व प्रापर्टी के योग निर्मित कर रहा है। इसके साथ ही दुश्मनों की ओर से बनाई जा रही साजिश को भी यह अपने आप ही असफल कर देगा। अप्रत्याशित सफलताएं मिलेंगी। पिछले दिनों की परेशानियों से निजात मिलेगी। धन लाभ के साथ प्रतिष्ठा में भी लाभ होगा। बीमारियों से ये समय निजाद दिलाने वाला हो सकता है। व्यापार में लाभ और उन्नति मिलेगी। परिवार से खुशियां मिलेंगी। वाहन की प्राप्ति होगी। ऋण संबंधी समस्याओं को सुलझाने का मौका मिलेगा। घर में नया सामान आ सकता है। नई संपत्ति खरीदने के कार्य किए जा सकते है।

 मीन राशि / jupiter effect on  <a href=pisces " src="https://new-img.patrika.com/upload/2018/12/29/0012_1_4959423-m.jpg">

12. मीन राशि फल / jupiter effect on pisces
आपकी राशि से नौवें भाव में गुरु का गोचर आपको शांति व प्रसन्नचित्त बनाएगा। यह आपके लिए काफी शुभ रहने के साथ ही भाई बहनों की ओर से खुशखबरी दिलाएगा। वहीं निवेश के हिसाब से भी ये समय उचित रहेगा। व्यापार में लाभ और उन्नति मिलेगी। परिवार से खुशियां मिलेंगी। वाहन की प्राप्ति होगी। ऋण संबंधी समस्याओं को सुलझाने का मौका मिलेगा।रुका हुआ धन प्राप्त हो सकता है। धार्मिक कार्यो के आयोजन पर व्यय होने के योग बन रहे है। यात्रा पर जाने के योग है। कोई स्नेह संबंध शुरु हो सकता है।

jupiter special

अगस्त में ये ग्रह भी करेंगे परिवर्तन : Rashi Parivartan of planets in August 2019...

अगस्त का नया महीना शुरू हो चुका है। हर महीने सभी 9 ग्रहों में से कई ग्रह एक राशि को छोड़कर दूसरी राशि में जाते हैं। अगस्त में बुध मिथुन राशि से कर्क राशि में प्रवेश करेंगे। इसके बाद मंगल कर्क राशि से बाहर निकलकर सिंह राशि में प्रवेश करेंगे। सूर्य और शुक्र का राशि परिवर्तन इसी महीने भी है। इसके अलावा अगस्त महीने में गुरु मार्गी होंगे।

इन ग्रहों की स्थितियों में बदलाव से राशियों पर गहरा प्रभाव पड़ता है। राशि परिवर्तन से सभी राशियों पर सकारात्मक और नकारात्मक दोनो तरह का प्रभाव पड़ता है।

: सूर्य - सूर्य हर महीने अपनी राशि बदलते हैं। 17 अगस्त में सूर्य सिंह राशि में प्रवेश करेगा।
: चंद्र - चंद्रमा लगभग सवा दो दिन में अपनी राशि को बदलते हैं।
: अगस्त महीने में मंगल का राशि परिवर्तन 9 अगस्त को हो चुका है।
: बुध - अगस्त महीने में बुध का राशि परिवर्तन होगा। 1 अगस्त को बुध मिथुन राशि में मार्गी रहेंगे। इसके बाद 3 अगस्त को कर्क राशि में फिर 26 अगस्त को सिंह राशि में प्रवेश करेंगे।
: शुक्र- 16 अगस्त को शुक्र सिंह राशि में प्रवेश करेगा।


अगस्त माह की ये हैं पांच भाग्यशाली राशियां : Lucky Rashi in Agust 2019 ...
अगस्त महीने में मंगल, सूर्य, शुक्र और बुध का राशि परिवर्तन होगा। जिस कारण से वृष, कर्क, तुला, मकर और मीन राशियों के लिए यह महीना बहुत भाग्यशाली रहेगा।

No data to display.
Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned