सिर्फ स्मोकिंग ही नहीं ये आहार भी हैं कैंसर का बड़ा कारण, आज ही बना लें इनसे दूरी

सिर्फ स्मोकिंग ही नहीं ये आहार भी हैं कैंसर का बड़ा कारण, आज ही बना लें इनसे दूरी

Faiz Mubarak | Publish: May, 02 2019 08:18:56 AM (IST) | Updated: May, 02 2019 08:18:57 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

सिर्फ स्मोकिंग ही नहीं ये आहार भी हैं कैंसर का बड़ा कारण, आज ही बना लें इनसे दूरी

भोपालः कैंसर एक ऐसी प्राणघातक बीमारी है, जिसका नाम सुनते ही अच्छे अच्छों का पसीना छूट जाता है। अकसर लोगों का मानना होता है कि, स्मोकिंग या तंबाकू सेवन ही कैंसर का कारण होते हैं। हालांकि, ये कैंसर का बड़ा कारण है। लेकिन, कैंसर का कारण सिर्फ ये नशीले पदार्थ ही नहीं है। इसके पीछे व्यक्ति खानपान और गलत लाइफस्टाइल भी जिम्मेदार होती है। कुछ दिनो पहले हुई रिसर्च में ये बात सामने आई है कि, 10 में से 1 कैंसर का कारण गलत खानपान होता है। संतृप्त वसा, खाने में ज्यादा नमक और फाइबर की कमी भी कैंसर सेल्स को बढ़ा देती है। यहां तक की ज्यादा तापमान पर खाना पकाने से भी जिन रसायनों का प्रवाह होता है, उनसे शरीर की कोशिकाओं को नुकसान होता है। तो आइए जानते हैं कुछ ऐसे फूड्स के बारे में जिनके सेवन से कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए इनके अधिक सेवन से बचना चाहिए।

 

इन चीजों के सेवन से हो सकता है भारी नुकसान

-अल्कोहल

ये तो ज्यादातर लोग जानते हैं, कि अल्कोहल का अधिक सेवन कैंसर को आमंत्रण देता है। इसके अलावा ये डायबिटीज और मोटापे का शिकार भी बना देता है। एक आम व्यक्ति के मुकाबले शराब पीने वाले लोगों को जींन में वंशानुगत कैंसर सेल्स होते हैं। इसलिए इन लोगों को एक आम व्यक्ति के मुकाबले कैंसर का खतरा ज्यादा होता है। इसलिए जल्द से जल्द चिकित्सकीय सलाह लेकर अल्कोहल का सेवन छोड़ देना चाहिए। इसे छोड़ने के लिए पर्याप्त उपचार चिकितसकों के पास मौजूद है।

-चीनी

ज्यादातर लोगों को ये पता होता है कि, चीनी या उससे बनी कोई भी खाने की चीज का अधिक सेवन डायबिटीज या वजन बढ़ने का मुख्य कारण होता है। लेकिन चीनी या उससे बनी चीजों के अधिक सेवन से कैंसर का खतरा भी बढ़ जाता है। चीनी में इस्तेमाल होने वाला आर्टिफिशियल स्वीटनर कई केमिकल्स से बनाए जाते हैं, जो शरीर में कैंसर सेल को बढ़ावा तो देते ही हैं, साथ ही इस स्वीटनर से सिरदर्द, याददाश्त की कमी, चक्कर आने और दिमाग का ट्यूमर होने की संभावना भी बढ़ जाती है।

-माइक्रोवेव में बने पॉपकॉर्न

वैसे तो कई चिकित्सक माइक्रोवेव में खाना बनाने के ही खिलाफ होते हैं, क्योंकि इसमें खाना बनाने के लिए निकलने वाली ऊर्जा किरणें खाने के पोषक तत्वों को जला देती हैं, जो सेहत के लिए हानिकारक होता है। इसके अलावा कई लोग माइक्रोवेव में किसी भी चीज़ को बनाने के लिए प्लास्टिक के बर्तनों का इस्तेमाल करते हैं ये भी सेहत के लिए बेहद खतरनाक है। गर्म होने पर प्लास्टिक से निकलने वाला वसा खाने में मिश्रिक होकर सेहत को काफी नुकसान पहुंचाता है। इसके अलावा, घर पर माइक्रोवेव में पॉपकार्न बनाकर खाना पसंद करते हैं। लेकिन आपकी ये आदत आपकी सेहत के लिए काफी हानीकारक हो सकती है। चिकित्सकों का मानना है कि, ये कैंसर का कारण भी बन सकता है। दरअसल, ओवन में पॉपकॉर्न बनाते समय इसमें एक (PFOA) केमिकल डाला जाता है जो बहुत खतरनाक होता है। इसके खाने से लोगों का किडनी, मूत्राशय, लीवर और आंत कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। एक अध्ययन में भी ये बात सामने आ चुकी है कि, माइक्रोवेव में बने पॉपकार्न खाने से फेफड़ों के कैंसर के पीड़ित काफी तेजी से बढ़ रहे हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned