शिवराज सरकार ने प्रदेश के सभी अस्पतालों के लिये नियुक्त की करीब 1 हजार नर्स स्टाफ, कोरोना से मुकाबले की तैयारी

शुक्रवार को राज्य के सभी चिकित्सलायों के लिए 978 स्टाफ नर्स की नियुक्तियां की गईं है। इसे कोरोना की तीसरी लहर के मुकाबले के लिये प्रभावी कदम माना जा रहा है।

By: Faiz

Published: 05 Jun 2021, 03:36 PM IST

भोपाल/ मध्य प्रदेश में पिछले 50 दिनों के लिये लगे कोरोना कर्फ्यू की सख्ती के बाद संक्रमण की रफ्तार में कमी आ गई है। लेकिन, जानकारों का कहना है कि, जिस तरह कोरोना की दो लहरों ने त्राहिमाम किया है, उसी तरह तीसरी लहर का खतरा अभी बाकि है। इसे लेकर मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने तैयारियां शुरु कर दी हैं। इसी क्रम में शुक्रवार को राज्य के सभी चिकित्सलायों के लिए 978 स्टाफ नर्स की नियुक्तियां की गईं है।

 

पढ़ें ये खास खबर- हड़ताल करने वाले डॉक्टरों को हॉस्टल खाली करने का आदेश, जूडा बोला- ये दमनकारी कार्रवाई, बातचीत को तैयार है मंत्री


इन्हें किया गया नर्स के पद पर नियुक्त

स्वास्थ्य विभाग की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, जिन 978 स्टाफ नर्स की नियुक्तियां की गईं है, वो सभी लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और चिकित्सा शिक्षा विभाग के अंतर्गत संचालित शासकीय नर्सिंग प्रशिक्षण केंद्रों से जी. एन.एम. की ट्रेनिंग पास कर चुकी छात्राएं हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- सरकार की चेतावनी : मेडिकल कॉलेज की सीट छोड़ने पर जूनियर डॉक्टरों को देने होंगे बांड के 10 से 30 लाख रुपए


कोरोना मरीजों के इलाज संबंधी दी जाएगी ट्रेनिंग

इन सभी की नियुक्तियां ऑफलाइन काउंसलिंग के बाद विभिन्न अस्पतालों में खाली पड़े पदों के लिए की गई है। वहीं, आगामी दिनों में इन चयनित नर्सों को कोरोना मरीजों के लिए इलाज के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी। जल्द ही इनकी ट्रेनिंग शुरू कर दी जाएगी।

कोरोना वैक्सीन से जुड़े हर सवाल का जवाब - जानें इस वीडियो में

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned