कोरोना काल में लाभ कमाने मध्य प्रदेश में संचालित हो गए थे कई नर्सिंग होम, सरकार ने 60 पर जड़ा ताला, 392 को भेजा नोटिस

मध्य प्रदेश में 60 नर्सिंग होम्स बिना उपकरण और अपर्याप्त स्टाफ के कर रहे थे मरीजों का इलाज, सरकार ने निरस्त किये 60 के रजिस्ट्रेशन, भोपाल में ही 10 नर्सिंग होम पर लगा ताला।

By: Faiz

Published: 01 Aug 2021, 04:43 PM IST

भोपाल/ नर्सिंग होम के नियमों का उल्लंघन और मापदंडों का पालन न करना मध्य प्रदेश के 60 नर्सिंग होम्स पर भारी पड़ गया है। प्रदेश सरकार ने नियमों का पालन न करने वाले ऐसे 60 नर्सिंग होम्स के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनका रजिस्ट्रेशन निरस्त करते हुए उनपर ताला डालने का आदेश जरी कर दिया है। बता दें कि, प्रदेशभर में ङुई इन 60 नर्सिंग होम्स के खिलाफ कार्रवाई में 10 नर्सिंग होम सिर्फ राजधानी भोपाल में ही मौजूद हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- MP में फिर बढ़ा कोरोना का खतरा : एक सप्ताह में दोगुनी हो गई नए केस वाले जिलों की संख्या, छोटे इलाकों में सामने आ रहे संक्रमित


सरकार ने कराई थी 692 नर्सिंग होम और अस्पतालों की जांच

सीएमएचओ प्रभाकर तिवारी ने सरकार द्वारा जारी इस आदेश की पुष्टि करते हुए कहा कि, ये नर्सिंग होम बिना उपकरण और अपर्याप्त स्टाफ से संचालित किये जा रहे थे, जिनके विरुद्ध कार्रवाई की गई है। बता दें कि, प्रदेश में कोरोना के बिगड़े हालातों के दौरान दूसरी लहर के चलते ऐसे कई नर्सिंग होम खुल गए थे, जो मापदंडों का पालन नहीं कर रहे थे। अब इस स्थिति में बीमार लोगों का इन नर्सिंग होम्स में जाना खुद की जान से खिलवाड़ करने जैसा था। इसी के चलते सरकार ने प्रदेश के 692 नर्सिंग होम और अस्पतालों की जांच कराई थी। इनमें कई नर्सिंग होम मापदंडों के तहत संचालित नहीं पाए गए। कुछ नर्सिंग होम तो बंद ही मिले। कई जगह पर्याप्त स्टाफ नहीं था, तो कई जगह मरीजों के रिकॉर्ड नियमानुसार नहीं रखे गए थे। सरकार ने ऐसे नर्सिंग होम्स के खिलाफ कार्रवाई की है।

 

392 नर्सिंग होम को कारण बताओं नोटिस

जांच में जिन नर्सिंग होम्स और अस्पताल नियमों का पालन करते नहीं पाए गए उन्हें स्वास्थ्य विभाग की ओर से पिछले माह बंद करने का नोटिस जारी कर दिया गया था। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की तरफ से कार्रवाई की गई। 10 नर्सिंग होम भोपाल, 24 ग्वालियर और बाकी अन्य जिलों के है। इसके अलावा 392 नर्सिंग होम ऐसे भी है, जिन्हें कारण बताओं नोटिस जारी किया गया है।

 

पढ़ें ये खास खबर- एक दिन में सामने आए 5 नए कोरोना संक्रमित, वायरस का सोर्स कहा से आया- पता नहीं, अधिकारियों की बढ़ी चिंता


भोपाल CMHO ने की पुष्टि

भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी के अनुसार, सिर्फ राजधानी भोपाल में 10 नर्सिंग होम की जांच के बाद उनके रजिस्ट्रेशन करने निरस्त करने की पुष्टि की है। उनके मुताबिक, नर्सिंग होम बिना उपकरण और अपर्याप्त स्टाफ से संचालित किये जा रहे थे, जिन्हें पहले नोटिस जारी किया गया। उनके जवाब संतोषजनक न पाए जाने पर उनका रजिस्ट्रेशन निरस्त किया गया है।


भोपाल में इन नर्सिंग होम्स का रजिस्ट्रेशन किया गया निरस्त

-श्री राम रसिया हॉस्पिटल
-श्री श्याम हॉस्पिटल
-विद्या श्री हॉस्पिटल
-रामांश हॉस्पिटल एंड मेडिकल रिसर्च सेंटर
-साईं हास्पिटल एंड ट्रामा सेंटर
-रामसन हॉस्पिटल
-माया जनरल हॉस्पिटल
-चावरा पल्लीटिव केयर सेंटर
-हेल्थ स्टार मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल
-नेचर हॉस्पिटल एंड ट्रामा सेंटर

 

पवा वाटरफॉल पर लगा सैलानियों का जमावड़ा - देखें Video

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned