बंद कमरे में हुई बात के बाद सीएम के सामने ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने नापसंद को किया 'पसंद'!

बंद कमरे में हुई बात के बाद सीएम के सामने ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने नापसंद को किया 'पसंद'!

Muneshwar Kumar | Updated: 14 Jul 2019, 05:21:05 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

ज्योतिरादित्य सिंधिया जिसे करते थे नापसंद, कमलनाथ ने उन्हें बनाया अपेक्स बैंक का अध्यक्ष

भोपाल. मध्यप्रदेश कांग्रेस में गुटबाजी की बात किसी से छिपी नहीं है। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद भी गुटबाजी बात सामने आई थी। साथ ही बीच-बीच में मध्यप्रदेश सरकार ( madhya pradesh governement ) में भी गुटबाजी की झलक दिख जाती है। अब नया मामला है प्रदेश में राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर। कमलनाथ सरकार ने पहली राजनीतिक नियुक्ति की है। अशोक सिंह ( Ashok Singh ) को अपेक्स बैंक ( apex bank chairman ) का अध्यक्ष बनाया गया है।

 

इस नियुक्ति को प्रदेश की सियासत में कांग्रेस की गुटबाजी से ही जोड़कर देखा जा रहा है। अशोक सिंह अपेक्स बैंक के अध्यक्ष बने हैं। ये वहीं अशोक सिंह हैं जो इस बार ग्वालियर से कांग्रेस की टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़े थे। लेकिन चुनाव हार गए थे। लोकसभा चुनाव के दौरान इनके टिकट का ज्योतिरादित्य सिंधिया ( Jyotiraditya Scindia ) ने विरोध किया था। उसके बावजूद उनके विरोध को नजरअंदाज कर सीएम कमलनाथ ( Kamal Nath ) ने उन्हें टिकट दिया था।

Kamal Nath and  jyotiraditya scindia

 

सिंधिया करते हैं नापसंद
कहा जाता है कि कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया अपेक्स बैंक के अध्यक्ष अशोक सिंह को नापसंद करते हैं। लेकिन उनके नापसंद को एक बार फिर से दरकिनार कर कमलनाथ ने उन्हें नई जिम्मेवारी दी है। अशोक सिंह सिंधिया के गुट के नहीं माने जाते हैं। इसलिए वे बार-बार अशोक सिंह की ग्वालियर से उम्मीदवारी का विरोध करते रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: ...तो कमलानथ बचाएंगे कर्नाटक में कांग्रेस सरकार, पार्टी ने सौंपी जिम्मेदारी

 

बंद कमरे में बनी बात
सूत्रों की मानें तो हाल ही में भोपाल दौरे के समय सीएम और सिंधिया की मुलाकात में अशोक सिंह के संबंध में बात हुई और सिंधिया को सहमति देनी पड़ी। दरअसल, सिंधिया गुट के मंत्री तुलसी सिलावट के घर पर डिनर का आयोजन किया गया था। इस आयोजन में सीएम कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया भी पहुंचे थे। डिनर शुरू होने से पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया और सीएम कमलनाथ के बीच बंद कमरे में बात हुई थी। कहा जा रहा है कि अशोक सिंह के संबंध में यही बात हुई और सिंधिया को सहमति देनी पड़ी।

 kamal nath

 

दिग्विजय खेमे के हैं अशोक
अपेक्स बैंक के अध्यक्ष अशोक सिंह पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के खेमे के हैं। लेकिन दिग्विजय सिंह ने अपेक्स बैंक के लिए दूसरे नाम भी प्रस्तावित किए थे। इनमें पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव और पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के नाम शामिल हैं। ऐसे में कहा यह भी जा रहा है कि कमलनाथ ने इस बहाने अपना वर्चस्व बढ़ाया है।

इसे भी पढ़ें: ...तो इस वजह से कमलनाथ नहीं कूद रहे हैं कर्नाटक के मैदान में!

 

 

सत्र के बाद होंगी और नियुक्तियां
वहीं, निगम-मंडलों में अन्य नियुक्तियां विधानसभा के मानसून सत्र के बाद होंगी। संगठन ने साफ कर दिया है कि उन्हीं कार्यकर्ताओं को पद दिया जाएगा, जिन्होंने चुनाव में पार्टी को जिताने में भूमिका निभाई है। इस संबंध में दिल्ली की ओर से पहले ही सर्कुलर जारी हो चुका है। वहीं, प्रदेश प्रभारी रहे दीपक बावरिया ने कार्यकर्ताओं को चिट्ठी भेजकर भरोसा दिलाया था कि जिन्होंने अपना काम ईमानदारी से किया है, उन्हें ही मौका दिया जाएगा।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned