प्रोसेस्ड फूड्स का बढ़ता चलन कर रहा है गंभीर बीमार, इस तरह शरीर को दें सही पोषण

अगर आप वजन घटाने के बारे में सोच रहे हैं, तो आपको प्रोसेस्ड फूड्स से दूर रहना बेहद जरूरी है। प्रोसेस्ड फूड्स इसलिए भी सेहत के लिए हानिकारक होता है क्योंकि, इसमें हाइड्रोजेनेटेड तेल इस्तेमाल किया जाता है।

By: Faiz

Published: 01 Jul 2019, 01:36 PM IST

 

 

भोपालः जैसे-जैसे हमारे जीवन में प्रोसेस्ड फूड्स ( Processed Foods ) यानी चिप्स, कोल्ड ड्रिंक्स, नूडल्स, ब्रेड, आइसक्रीम, बर्गर, पिज्जा, कैंडीज आदि का सेवन बढ़ता जा रहा है। वैसे वैसे लोगों के शरीर पर इसके दुष्परिणाम देखने को मिले है। क्योंकि, इस तरह के सभी फूंड्स अल्ट्रा प्रोसेस्ड होते हैं। इनके सेवन से आपका वजन तेजी से बढ़ने लगता है। अगर आप वजन घटाने के बारे में सोच रहे हैं, तो आपको प्रोसेस्ड फूड्स ( balanced diet ) से दूर रहना बेहद जरूरी है। प्रोसेस्ड फूड्स ( Healthy Diet ) इसलिए भी सेहत के लिए हानिकारक होता है क्योंकि, इसमें हाइड्रोजेनेटेड तेल इस्तेमाल किया जाता है।


इसके अलावा इसमें हाई फ्रक्ट्रोज कॉर्न सिरप ( carcinogenic foods ) , फ्लेवरिंग एजेंट्स और स्वाद बढ़ाने वाले केमिकल्स होते हैं। स्वास्थ विशेषज्ञों के मुताबिक, लगातार प्रोसेस्ड फूड्स ( ultra processed foods ) के सेवन करने से सिर्फ मोटापा ही नहीं बढ़ता बल्कि, कई गंभीर बीमारियां भी हो सकती हैं। चिकित्सकीय परामर्श के मुताबिक, प्रोसेस्ड फूड्स ( Diet and Nutritional Tips ) के अधिक सेवन से मोटापा तो बढ़ने लगता ही है, साथ ही इससे डायबिटीज, कैंसर, हार्ट अटैक, किडनी फेल्योर, कार्डियक अरेस्ट, हाई ब्लड प्रेशर, लिवर सिरोसिस, लिवर डैमेज जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।

पढ़ें ये खास खबर- ये जानलेवा बीमारियां होने पर भी आती है सुस्ती, इन संकेतों को बिल्कुल भी ना करें नज़रअंदाज़

इन बातों का रखें ध्यान

-अपनी डाइट को हेल्दी ( healthy nutrition ) बनाने के लिए आपको इन प्रोसेस्ड फूड्स की जगह सामान्य फूड्स का सेवन करना सेहत को सही पोषण देगा।

-होटल, रेस्टोरेंट्स में खाना खाने के बजाय आप घर पर बना हुआ खाना खाएं। बाहर मिलने वाले ज्यादातर फूड्स में तेल, मसालों और टेस्ट बढ़ाने वाले केमिकल्स ( Nutritional Disorders ) का प्रयोग किया जाता है।

-बाहर मिलने वाले रेडीमेड फूड्स, पैक्ड फूड्स, रोजाना के सामान खरीदते समय इसके पीछे छपे लेबल को जरूर पढ़ें। इस लेबल में आपको इस बात की जानकारी दी जाती है कि प्रोडक्ट को बनाने में किन चीजों का इस्तेमाल किया गया है और वो प्रोडक्ट से आपको कितनी कैलोरीज, फैट, कार्बोहाइड्रेट्स आदि मिलेंगे।

-घर के लिए खाने के सामानों की शॉपिंग करते समय ताजे फल, सब्जियां, मोटे अनाज, दालें और हॉल ग्रेन से बनी चीजें ज्यादा खरीदें।

-अगर आपको बाहर किसी रेस्टोरेंट में खाना खाने का मन है, तो ऑर्डर करते समय रंगीन सब्जियां, लाइट वर्जन फूड्स, लो-सोडियम फूड्स, स्मूदीज आदि ऑर्डर करें।

-घर में खाना बनाते समय तेल, मसालों का कम से कम प्रयोग करें। सप्ताह में 1-2 दिन सादा खाना जैसे- खिचड़ी, दलिया, स्प्राउट्स, फल, कच्ची सब्जियां आदि खाएं।

पढ़ें ये खास खबर- Today Petrol Diesel Rate: रोज़ाना बढ़ रहे हैं पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए आपके शहर के रेट

हफ्ते भर में ज़रूर करें 150 मिनट एक्सरसाइज

तमाम रिसर्च और अध्ययन बताते हैं कि व्यक्ति को स्वस्थ रहने के लिए एक सप्ताह में कम से कम 150 मिनट एक्सरसाइज जरूर करना चाहिए। आप रोज सुबह 30 मिनट पैदल चलकर, जॉगिंग करके, डांस या योगासन करके भी स्वस्थ रह सकते हैं। इसके अलावा ध्यान दें कि, हर बार खाना खाने के बाद तुरंत बैठें या लेटें नहीं, बल्कि कम से कम 15 मिनट पैदल चलें।


आज से ही बदलें ये आदत

फिट और हेल्दी रहने के लिए आपको अपने खान-पान की आदत को भी बदलना बेहद ज़रूरी है। देर रात में भोजन करना सेहत के हानिकारक होता है। इसलिए रात का खाना सोने से कम से कम 2-3 घंटे पहले खाना चाहिए। देर रात तक जागने से भी सेहत को नुकसान पहुंचता है। अकसर, देर रात तक जागने वालों को ही देर में भूख लगती है, जिसके कारण वो रात के समय लाइट स्नैक्स खाने लगते हैं। ये आदत भी आपके शरीर में फैट बढ़ाती है। इसलिए कोशिश करें कि, शाम को सोने से करीब तीन घंटे पहले खाना खाएं और उसके बाद कुछ भी खाने बचें।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned