गाड़ी चलाते समय जरुर जान लें इन TRAFFIC SIGNS का मतलब, कभी नहीं होंगे परेशान

गाड़ी चलाते समय जरुर जान लें इन TRAFFIC SIGNS का मतलब, कभी नहीं होंगे परेशान

Faiz Mubarak | Updated: 04 Jul 2019, 01:47:04 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

सड़कों पर फैली इस अव्यवस्था को दुरुस्त करने की जिम्मेदारी जितनी ट्रैफिक पुलिस की है, उससे कई ज्यादा सड़क पर वाहन से सफर करने वाले आम इंसान की भी है। इस खबर में बताए गए ट्रैफिक संकेतों को समझकर उनका पालन करें, साथ ही साथ इस खबर के माध्यम से दूसरों को जागरुक करें और देश के सजग नागरिक होने का संदेश दें।

 

भोपालः मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की आबादी दिन ब दिन बढ़ती ही जा रही है। यही कारण है कि, यहां शहर का फैलाव काफी तेजी से हो रहा है, जिसका सीधा असर शहर की ट्रैफिक व्यवस्था पर पड़ रहा है। शहर की हर सड़क और चौराहे पर भारी ट्रैफिक मिलना ( disadvantages of Population Growth ) अब आम सी बात हो गई है, जिसका खामियाजा़ खुद शहर की जनता को ही भुगतना पड़ता है। रास्तों पर वाहनों के ओवर बर्डन के चलते यहां ज्यादातर ट्रैफिक व्यवस्थाएं भी फेल होती नज़र आ जाती हैं। हालांकि, सड़कों पर फैली इस अव्यवस्था को दुरुस्त ( overcome from population ) करने की जिम्मेदारी जितनी ट्रैफिक पुलिस की है, उससे कई ज्यादा सड़क पर वाहन से सफर करने वाले आम इंसान की भी है।

traffic sign rules

 

हम देखते हैं कि, शहर में ट्रैफिक को लेकर काफी अव्यवस्थाएं हैं, जिसका खामियाज़ा एक राहगीर होने के कारण कई बार हमें भी भुगतना ( Disadvantages Of Overpopulation ) पड़ता है। अगर हम वाहन चलाते समय थोड़ी सजगता बरतें तो हम शहर की सड़कों पर रोज़ाना मिलने वाली इस गंंभीर समस्या से निपट सकते हैं। आपने देखा होगा कि, गाड़ी चलाते समय अकसर लोग ट्रैफिक साइन ( Traffic Signs and Rules in India ) को अनदेखा कर देते हैं। कई लोगों को तो इन ट्रैफिक साइनों का सही मतलब भी नहीं पता होता, जिसकी वजह से आए दिन सड़क दुर्घटनाएं होना और ट्रैफिक जाम की स्थिति बनना आम बात हो गई है। गाड़ी ड्राइव करने वाले हर शख्स को ट्रैफिक साइन का मतलब जानना जरुरी है, ताकि वो खुद भी एक जागरुक नागरिक की तरह शहर के ट्रैफिक को व्यवस्थित रख सके। हम आपको ऐसे ही पंद्रह ट्रैफिक साइनों का मतलब बताने जा रहे हैं, जिनका ध्यान रखकर आप भविष्य को एक बेहतर ट्रैफिक व्यवस्था ( Advantages of Population Growth h ) देने की पहल कर सकते हैं। आइये जानते हैं उन ट्रैफिक साइन ( Drivers Handbook ) का मतलब।


इन खास ट्रैफिक संकेतों को समझ लें, कभी नहीं होंगे परेशान

traffic sign rules

1- ये साइन इस बात को दर्शाता है कि आप यू टर्न नहीं ले सकते।

2- दूसरे साइन का मतलब होता है कि आप बाएं नहीं मुड़ सकते।

3- ट्रैफिक आपको दाएं मुड़ने की इजाजत नहीं देता।

traffic sign rules

1 - ट्रकों के लिए नो एंट्री है।

2 - यहां पार्किंग की अनुमति नहीं है, और अगर कोई गाड़ी यहां खड़ी पाई जाती है तो उसे यहां से दूर कर दिया जाएगा।

3 - यहां पैदल चलना मना है।

 

traffic sign rules

1 - आगे स्कूल है, कृपया धीरे चलें और सावधानी पूर्वक आगे बढ़ें।

2 - आगे हिरन भ्रमण क्षेत्र है, कृपया धीरे चलें।

3 - दोनों और से जाने के लिए रास्ता खुला है।

 

traffic sign rules


1 - कार्य प्रगति पर है, कृपया धीरे चलें।

2 - ये साइन हमें अलर्ट करता है कि आगे सड़क का काम चल रहा है, जहां जरुरी हो वहां रूक जाएं और धीरे चलें।

3 - ये जगह इमरजेंसी वेहकिल के लिए है, जैसे एम्बुलेंस, फायर ब्रिगेड, पुलिस की गाड़ी।

 

traffic sign rules


1 - ये साइन बताता है कि आप साइकिल क्रॉस कर सकते हैं।

2 - बायां लेन आगे समाप्त होता है। सुरक्षति सफर के लिए आगे से राइट लेन पर सफर करें।

3- दायां लेन आगे ख़त्म हो रहा है। कृपया आगे से बाएं लेन पर चलें।

 

ट्रैफिक सिग्नल पर दिखने वाले 3 रंगों का मकसद भी जानें

traffic sign rules

 

-सिग्नल की लाल लाइट

सिग्‍नल में लाल लाइट का एक खास महत्‍व होता है। लाल रंग की गति अन्‍य रंगों के मुकाबले सबसे तेज होती है। इस रंग को दूसरे रंगों की अपेक्षा ज्यादा लंबी दूरी से देखा जा सकता है। इसके अलावा सिग्‍नल में लाल रंग का प्रयोग रोकने ( traffic signs rules ) के लिए किया जाता है, ताकि आपको बताया जा सके कि, सुनिश्चित स्थान से संभावित समय में गुज़रने में आपको खतरा है। लाल रंग रक्‍त और हिंसा का घोतक होता है जिसके कारण इसका प्रयोग यातायात को रोकने में लिए किया जाता है।

पढ़ें ये खास खबर- Today Petrol Diesel Rate: जानिए आज आपके शहर में पेट्रोल-डीजल के दाम क्या हैं


-सिग्नल की पीली लाइट

पीले रंग को ऊर्जा का केन्दर माना जाता है, ट्रैफिक नियम के अनुसार इस रंग के ज़रिये वाहन चालक को निर्देशित किया जाता है कि, आप अपनी उर्जा को समेट कर तैयार हो जाएं। ट्रैफिक सिग्‍नल पर पीले रंग की लाईट जलने का मतलब होता है कि, अब आप अपने वाहन का इंजन स्‍टार्ट कर लें, साथ ही एक्सिलेरेटर, ब्रेक, क्लच समेत वाहन के आसपास के एरिया पर नियंत्रण बना लें। इस रंग की ट्रैफिक लाइट जलने पर आप धीमे -धीमे अपने वाहन को आगे बढ़ा सकते हैं ताकि, सिग्नल ग्रीन होने पर आप तुरंत आगे बढ़ सकें।

पढ़ें ये खास खबर- सांस फूलना और पसीना आना होता है कोलेस्‍ट्रॉल बढ़ने का संकेत, पड़ सकता है जान पर भारी


-सिग्नल की हरी लाइट

यह रंग खतरे के बिलकुल विपरीत होता है। जैसा कि लाल रंग का प्रयोग वाहनों को रोकने के लिए किया जाता है उसी प्रकार हरे रंग का प्रयोग वाहनों को आगे बढ़ने ( traffic symbols while driving ) के लिए किया जाता है। हरे रंग का मतलब है कि रास्ता आपके लिए सुरक्षित और खाली है और आप अपने वाहन पर नियंत्रण रखते हुए आगे बढ़ सकते हैं।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned