होली पूजा की तैयारी कर रही 5वीं कक्षा की छात्रा पर गिरी आकाशीय बिजली, मौत से मचा हाहाकार

Highlights
- बिजनौर जिले के नजीबाबाद थाना क्षेत्र स्थित पाई बाग मोहल्ले की घटना
- होली पूजन की सामग्री को बारिश से बचाने छत पर पहुंची थी छात्रा
- एसडीएम ने कहा- जांच के बाद छात्रा के परिजनों को दिया जाएगा मुआवजा

By: lokesh verma

Published: 07 Mar 2020, 01:12 PM IST

बिजनौर. पहाड़ी क्षेत्रों में पश्चिमी विक्षोभ के कारण मैदानी इलाकों में लगातार हो रही बारिश से जहां जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है। वहीं बिजनौर जिले के नजीबाबाद क्षेत्र में शनिवार को आकाशीय बिजली गिरने के कारण एक 12 वर्षीय छात्रा की मौत हो गई है। इस मौत के बाद से छात्रा के घर में कोहराम मच गया है। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भरते हुए पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है। वहीं इस हादसे को लेकर जिला प्रशासन की टीम मौके पर पहुंचकर जांच में जुट गई है।

यह भी पढ़ें- खनन माफिया का पीछा करते हुए नायब तहसीलदार की कार कोसी नदी में डूबी, बाल-बाल बची जान

दरअसल, छात्रा मोनिका नजीबाबाद थाना क्षेत्र के पाई बाग मोहल्ले में परिवार के साथ किराए के मकान में रहती थी। वह नजीबाबाद के ही आर कन्या विद्यालय में कक्षा पांच में पढ़ती थी। बताया जा रहा है कि छात्रा शनिवार सुबह घर की छत पर होलिका दहन के लिए बनाई गई पूजा की सामग्री को बारिश से बचाने को छत पर गई थी। इसी बीच तेज बारिश के बीच तेज गर्जना के साथ अकाशीय बिजली छात्रा पर गिर गई, जिससे छात्रा की मौके पर ही मौत हो गई। छात्रा की मौत के बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

पड़ोसी आनंद कुमार ने बताया कि छात्रा के पिता का पहले ही देहांत हो चुका है। छत पर होलिका का सामान को ढकने के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से छात्रा की मौत हो गई है। इस घटना को लेकर नजीबाबाद एसडीएम संगीता सिंह ने बताया कि मौके पर पुलिस पहुंची है। घटना की जांच अभी जारी है। अगर आकाशीय बिजली से छात्रा की मौत हुई है तो जो भी उचित मुआवजा होगा, वह छात्रा के परिवार वालों को दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें- तेज हवा और बारिश भी महिलाओं के हौसले नहीं डिगा पाई, सीएए के खिलाफ 40वें दिन भी धरने पर डटी रहीं महिलाएं

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned