सेंट्रल जेल से फरार हुए कैदी ने पकड़े जाने के बाद अस्थाई जेल में फांसी लगाकर जान दी

  • बिजनौर में आजीवन कारावास के कैदी ने फांसी लगाकर आत्महत्या की
  • सेंट्रल जेल से फरार होने के बाद पुलिस ने रखा था 50 हजार का इनाम
  • बिजनौर पुलिस ने फरार कैदी को गिरफ्तार कर रखा था अस्थाई जेल में
  • अस्थाई जेल में ही कैदी ने फांसी लगाकर कर ली आत्महत्या

By: shivmani tyagi

Updated: 05 Feb 2021, 07:09 AM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क
बिजनौर. फरार बन्दी ने गिरफ्तारी के बाद फांसी लगाकर जान दे दी। गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने कैदी को अस्थाई जेल में कोविड-19 के तहत शिफ्ट किया था। सजायाफ्ता कैदी ने बीती रात बाथरूम में अपने लोअर का फंदा बनाकर फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली। सुबह अस्थाई जेल में नियुक्त सिपाहियों ने जब बाथरूम खोल कर देखा तो कैदी मृत अवस्था में बाथरूम में पड़ा मिला। पुलिस ने कैदी के शव का पंचनामा भरकर शव को जिला पोस्टमार्टम हाउस भेज दिया है।

यह भी पढ़ें: बुढ़ापे का सहारा बनेगी LIC की ये स्कीम, सिर्फ एक बार देना हाेगा प्रीमियम फिर जीवनभर मिलेगी पेंशन

मृतक कैदी नरपाल उर्फ सोनू जनपद किरतपुर थाना क्षेत्र के गांव मौजमपुर रायपुर का रहने वाला था। 14 फरवरी 2009 को आरोपी मृतक कैदी ने एक नाबालिक बच्ची के साथ दुष्कर्म किया था। इस दुष्कर्म को लेकर माननीय न्यायालय ने मृतक कैदी को आजीवन कारावास व 15 हज़ार रुपये का अर्थ दंड देकर जेल भेज दिया था। कुछ समय के बाद मृतक कैदी को बिजनौर जेल से बरेली सेंट्रल जेल शिफ्ट कर दिया गया था। कैदी नरपाल एक फरवरी को सेंट्रल जेल बरेली से फरार हो गया था। जिसके बाद पुलिस महा निरीक्षक ने फरार कैदी की गिरफ्तारी के लिए 50 हज़ार का इनाम भी घोषित किया था। इसी कड़ी में जनपद बिजनौर की किरतपुर की पुलिस ने दो फरवरी को जेल से फरार कैदी को गिरफ्तार कर लिया था और बिजनौर की अस्थाई जेल में कोविड-19 के तहत बंद कर दिया था। बीती रात मृतक कैदी द्वारा अस्थाई जेल के बाथरूम में अपने लोअर से फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया है। इस घटना को लेकर न्यायिक जांच जा रही है। मजिस्ट्रेट ने मृतक के शव का पंचनामा भरकर पुलिस को दिया है जिसे अब पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned