कोरोना लॉकडाउन के बाद घर से निकलने वालों को दी जा रही है ऐसी-ऐसी सजा

  • पुलिस प्रशासन की सख्ती के कारण नवरात्रि के पहले दिन लोग नहीं पहुंचे मंदिर

बिजनौर. पूरे देश को कोरोना जैसी महामारी बीमारी से बचाने के लिए किए गए लॉकडउन के बाद बिजनौर की सड़कों पर जिला प्रशासन के अधिकारी और पुलिस अधिकारी सहित सभी कर्मी सड़क पर उतर कर बेवजह घर से निकलने वाले लोगों पर जहां शिकंजा कस रहे हैं। वहीं, बिना कारण बताए दो पहिया वाहन मालिकों के टायरों से हवा भी निकाली जा रही है । लोगों को घर में ही रहने के लिए पुलिस-प्रशासन की ओर से सभी तरह की जरूरी हिदायत दी जा रही है। इसके साथ ही बीमार लोगों के लिए दवा की उपलब्ध बनीं रहे, इसके लिए शहर के कुछ मेडिकल स्टोरों को खोला गया है। जहां पर एक दूरी बनाकर लाइन में लगकर लोग दवा को खरीद रहे हैं। वहीं, इस महामारी को लेकर नवरात्रि के पहले दिन लोग मंदिर नहीं पहुंचे।

यह भी पढ़ें: देशभर में लॉकडाउन की घोषणा के बाद पुलिस ने लिया यह बड़ा फैसला, किसी नहीं होगी परेशानी

प्रशासन लॉकडाउन को पूरी तरह सफल बनाने में जुटे हुए हैं, ताकि बिजनौर ही नहीं, बल्कि पूरे देश के नागरिकों को इस महामारी से बचाया जा सके। इसके लिए जहां देश के प्रधानमंत्री ने मंगलवार रात 12:00 से 21 दिनों तक के लिए पूरे देश को लॉकडाउन करने का ऐलान किया । वहीं, हिदायत के तौर पर उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने सभी जिले के प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस अधिकारियों को आदेश दिए हैं कि लॉकडाउन को लेकर लोग घरों में रहें। इसके लिए प्रशासन मुस्तैदी से लोगों को घर में रहने के लिए जागरूक करें और अगर उन्हें लगे कि बाहर निकल रहे लोगों के खिलाफ कड़े कदम की जरूरत है तो प्रशासन वह भी उठा जा सकता है।

यह भी पढ़ेें: जेल में बंद कैदियों ने भी शुरू की कोरोना से लड़ाई, देश के लिए कर रहे हैं यह बड़ा काम

इसको लेकर बिजनौर के डीएम रमाकांत पांडे और एसपी संजीव त्यागी सहित एसपी सिटी लक्ष्मी निवास मिश्र के साथ ही पुलिसकर्मी व जिला प्रशासन के अधिकारी बुधवार को जनपद की सभी सड़कों पर निकलकर जायजा ले रहे हैं। वहीं, बेवजह निकलने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में ला रहे हैं। लॉकडाउन को लेकर जनपद बिजनौर की सभी दुकानें जहां बंद हैं। वहीं, कुछ मेडिकल स्टोरों को बीमार व्यक्तियों के लिए खोला गया है। जहां पर वह आकर दवा ले रहे हैं। वहीं, नवरात्र के पहले दिन बुधवार को श्रद्धालु भी लॉकडाउन के दौरान मंदिर नहीं पहुंचे हैं। सभी श्रद्धालु घर पर ही रह कर मुख्यमंत्री के आदेश का पालन करते हुए देश हित में अपने घर पर रहकर पूजा पाठ कर रहे हैं।

Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned