अब भारत में सिर्फ ये वाहन चला पाएंगे 18 साल से कम की उम्र के किशोर

अब भारत में सिर्फ ये वाहन चला पाएंगे 18 साल से कम की उम्र के किशोर

Vineet Singh | Updated: 19 Aug 2019, 01:05:14 PM (IST) बाइक

  • Traffic Rules में किया गया है बड़ा बदलाव
  • अब 16 से 18 साल के युवा चला सकते हैं सिर्फ इतने सीसी की बाइक्स
  • नियम तोड़ने पर देना पड़ सकता है जुर्माना

नई दिल्ली: भारत में ट्रैफिक रूल्स ( Traffic Rules ) चेंज हो गए हैं। कार और बाइक चलाने के नियमों में बदलाव किया गया है। आपको बता दें कि अब बाइक चलाने वाले किशोरों को एक तय सीसी तक की बाइक चलाने की अनुमति है। दरअसल 16 से 18 साल के किशोर सिर्फ 50 सीसी तक की बाइक ही चला सकते हैं, लेकिन हैरानी की बात ये है कि भारत में जितनी भी नामी दुपहिया वाहन निर्माता कंपनियां हैं वो 50 सीसी के वाहन बनाती ही नहीं हैं।

आपको बता दें कि भारत में 16 से 18 साल के किशोरों को महज 50 सीसी के वाहन चलाने के लिए अनुमति दी जाती है जबकि भारत में मौजूद कंपनियां 100 सीसी से नीचे के वाहन बनाती ही नहीं हैं ऐसे में अगर कोई किशोर ज्यादा सीसी के वाहन चलाता है तो उसे जुर्माना देना पड़ सकता है।

यामहा ने लॉन्च की XSR 155 बाइक, इन शानदार फीचर्स से है लैस

ज्यादातर किशोर जो आजकल दुपहिया वाहन चलाते हैं उनकी क्षमता 100 सीसी या उससे अधिक होती है। क्योंकि 50 सीसी के वाहन सिर्फ चाइनीज कंपनियां ही बना रही हैं जिन्हें ज्यादातर भारतीय खरीदना पसंद ही नहीं करते हैं। आपको बता दें कि 9 साल पहले ही 50 cc से कम इंजन के साथ वाहन बनना बंद हो गए थे। अब कोई भी ऑटो कंपनी 50 cc से कम इंजन क्षमता वाले वाहन नहीं बनाती है।

भारत में 50 सीसी की जो बाइक्स मौजूद हैं उनकी कीमत 20,000 से 25,000 रुपये तक है ऐसे में लोगों को इतने पैसे खर्च करना ठीक नहीं लगता है और वो ज्यादा सीसी के वाहन खरीद लेते हैं क्योंकि उनकी कीमत और कम सीसी की बाइक्स की कीमत में ज्यादा फर्क नहीं है। यही वजह है कि 16 से 18 साल तक की उम्र के ज्यादातर किशोर 100 सीसी तक के वाहन चलाते है।

कहीं जानलेवा ना बन जाएं हाईटेक हेल्मेट्स, तेजी से बढ़ रही इनकी डिमांड

18 साल की उम्र के बाद किशोरों का लाइसेंस बन जाता है और वो आसानी से 50 सीसी और उससे ज्यादा क्षमता के वाहन चला सकते हैं। भारत में बदलते हुए नियमों को देखते हुए आने वाले समय में किशोरों को 50 सीसी से ज्यादा के वाहन चलाने पर जुर्माना देना पड़ सकता है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned