पत्नी की हत्या करने 35 किलो मीटर सायकल चला कर पहुंचा था हत्यारा पति, जांच में हुआ खुलासा

थाना प्रभारी पेंड्रा युवराज तिवारी ने बताया कि गांव में रहने वाली फुलवरिया बाई की हत्या की सूचना मिलने के बाद जांच शुरू की गई। इसमें पता चला कि मृतक महिला का उसके पति मंगल सिंह के साथ विवाद होता था। पति की तलाश शुरू की गई तो वो अपने रिश्तेदार हरसडांड में मिला।

By: Karunakant Chaubey

Published: 04 Oct 2020, 04:15 PM IST

बिलासपुर. पेंड्रारोड के टंगियामार में महिला की गला मामले में पुलिस ने उसके पति को गिरफ्तार किया है। शुक्रवार रात को इसकी सूचना पुलिस को मिली थी। पति की निशादेही पर पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल कुल्हाड़ी को बरामद कर जांच कर रही है।

थाना प्रभारी पेंड्रा युवराज तिवारी ने बताया कि गांव में रहने वाली फुलवरिया बाई की हत्या की सूचना मिलने के बाद जांच शुरू की गई। इसमें पता चला कि मृतक महिला का उसके पति मंगल सिंह के साथ विवाद होता था। पति की तलाश शुरू की गई तो वो अपने रिश्तेदार हरसडांड में मिला। पूछताछ में आरोपी पति ने बताया कि वह पत्नी से आए दिन के विवाद व उसके गैर लोगो से संबंध होने की शंका पर हत्या की है।

6 साल से कलयुगी पिता कर रहा था बेटी से बलात्कार, गर्भवती होने पर करवा देता था गर्भपात

पुलिस ने मंगल सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। मंगल सिंह ने बताया कि वह सुबह 10 हरदड़ांड से अपनी सायकल में कुल्हाडी लेकर पत्नी की हत्या करने की नीयत से घर से निकला था। जंगल के रास्ते होते हुए वह अपने रिश्तेदार के घर पहुंचा वहां खाना खाया और फिर सायकल चलाते हुए अपने घर टंगियामार पहुंचा, पहुंचने के बाद उसने पत्नी के गले में वार कर हत्या कर दी।

पति मंगल सिंह पत्नी पर चरित्र शंका करता था, शंका के चलते दोनों पति पत्नी के बीच रोजना विवाद की स्थिति बनी रहती थी। मंगल सिंह रोजना की खीटपीट से परेशान होकर हत्या करने हरसड़ांड से सायकल पर सवार होकर टंगियामार पहुंचा और हत्या कर हरसड़ांड पहुंचा इस दौरान पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया व उसकी निशानदेही पर कुल्हाडी जब्त की है।

-युवराज सिंह थाना प्रभारी पेंड्रा

Read also: नाबालिग मूक बधिर लड़की से भाई ने किया बलात्कार, परिजनों ने ही कराया गर्भपात

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned