'आश्रम 2' में Bobby Deol की एक्टिंग ने जीता फैंस का दिल, दर्शकों ने कहा- 'बाबा की जय हो'

By: Shweta Dhobhal
| Published: 12 Nov 2020, 11:25 AM IST
'आश्रम 2' में Bobby Deol की एक्टिंग ने जीता फैंस का दिल, दर्शकों ने कहा- 'बाबा की जय हो'
Actor Bobby Deol Acting Was Liked By People In Ashram 2

11 नवंबर को वेब सीरीज़ 'आश्रम 2' ( Aashram 2 ) रिलीज़ हो चुकी है। सीरीज़ के रिलीज़ होते ही एक बार से सोशल मीडिया पर जपनाम-जपनाम सुनाई देने लगा है। ट्विटर पर फैंस अभिनेता बॉबी देओल ( Bobby Deol ) की एक्टिंग से खूब प्रभावित होते हुए दिखाई दे रहे हैं।

नई दिल्ली। 11 नवंबर को निर्देशक प्रकाश झा ( Prakash Jha ) की वेब सीरीज़ 'आश्रम' ( Aashram ) का दूसरा पार्ट भी रिलीज़ हो गया है। पहले ही सीज़न की तरह दूसरे सीज़न को भी दर्शकों का खूब प्यार मिल रहा है। इस बार भी वेब सीरीज़ में अभिनेता बॉबी देओल ( Bobby Deol ) ने ढोंगी बाबा के किरदार में सैकड़ों लोगों का दिल जीत लिया है। काशीपुर वाले बाबा के किरदार में दर्शकों कों उनकी एक्टिंग काफी पसंद आ रही है। सोशल मीडिया पर जमकर ट्विट्स के माध्यम से वेब सीरीज़ और उनके किरदारों के रिएक्शन देखने को मिल रहे हैं।

यह भी पढ़ें- नेशनल टेलीविज़न पर Rahul Vaidya ने किया दिशा परमार को शादी के लिए प्रपोज, सामने आया मां का रिएक्शन

'आश्रम 2' ( Aashram 2 Reactions ) के लिए सामने आ रहे रिएक्शन्स की बात करें तो यूजर्स ने ट्वीट करते हुए कहा है कि 'वेब सीरीज़ आश्रम 2 तुरंत देखिए, ये कमाल की है।' दूसरे यूजर ने कहा है कि 'लव यू बॉबी पाजी, आश्रम चैप्टर 2 की टीम ने कमाल का काम किया है। बाबा जी दर्शन देने आ गए हैं, जपनाम-जपनाम..सब प्रसाद ले लो, बाबा जी की जय हो।' वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा है कि 'इसे देखने के बाद अब वह आश्रम 3 के इंतजार कर रही हैं।

यह भी पढ़ें- भाई अक्षत की मेहंदी पर Kangana Ranaut ने किया जमकर डांस, शादी के बाद जाएंगी मुंबई

आपको बता दें चले कि जब से 'आश्रम 2' के रिलीज़ होने की खबर सामने आई थी। तब से ही करणी सेना इसे बैन करवाने की मांग कर रही थी। करणी सेना का कहना है कि इस वेब सीरीज़ में बाबाओं की छवि को गलत दिखाया जा रहा है। जिससे हिंदू धर्म की भावनाओं को ठेस पहुंच रहा है। वहीं इस पर निर्देशक प्रकाश झा ने कहा था कि इस बात का फैसला दर्शकों पर छोड़ना ज्यादा सही होगा कि यह वेब सीरीज़ समाज के लिए ठीक है नहीं। जिसके बाद प्रकाश झा का विरोध करते हुए उनके पुतले भी जलाए गए थे।