मराठी फिल्म The Disciple जाएगी वेनिस, नया 'तमाशा' बुलंदी पर

By: पवन राणा
| Published: 02 Aug 2020, 10:25 AM IST
मराठी फिल्म The Disciple जाएगी वेनिस, नया 'तमाशा' बुलंदी पर
मराठी फिल्म 'द डिसाइपल' जाएगी वेनिस, नया 'तमाशा' बुलंदी पर

निर्देशक चैतन्य ताम्हणे ( ChaitanyaTamhane ) की नई मराठी फिल्म 'द डिसाइपल' ( The Disciple Marathi Movie ) (अनुयायी) सुर्खियों में है। शास्त्रीय संगीत की थीम वाली इस फिल्म को वेनिस फिल्म समारोह ( Venice Film Festival 2020 ) के मुख्य प्रतियोगिता खंड के लिए चुना गया है।

-दिनेश ठाकुर
एक दौर था, जब ज्यादातर मराठी फिल्में लोक कला तमाशा पर आधारित होती थीं और उनका दायरा महाराष्ट्र तक सीमित था। पिछले कुछ साल के दौरान कथानक और तकनीक के स्तर पर मराठी फिल्मों ने काफी तरक्की की है। ये फिल्में न सिर्फ देश में सुर्खियां बटोरती हैं, बल्कि अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह में भी इनकी पूछ-परख बढ़ती जा रही है। निर्देशक नागराज मंजुले की 'सैराट' (2016) मराठी सिनेमा के लिए लम्बी अंतरराष्ट्रीय छलांग साबित हुई। सौ करोड़ रुपए का कारोबार करने वाली इस पहली मराठी फिल्म को बर्लिन फिल्म समारोह की परिक्रमा का मौका मिला। 'सैराट' को हिन्दी में 'धड़क' (जान्ह्वी कपूर, ईशान खट्टर) नाम से बनाया गया। वैसे नए दौर की मराठी फिल्मों की कहानियां बॉलीवुड को काफी पहले से भा रही हैं। 'सैराट' से पहले निर्देशक बिपिन वर्ती की 'एक गाड़ी बाकी अनाड़ी' को हिन्दी में 'टार्जन : द वंडर कार' (अजय देवगन, आयशा टकिया), चंद्रकांत कुलकर्णी की 'बिंदास्त' को 'भागमभाग' (अक्षय कुमार, गोविंदा) और अशोक सराफ की 'फेंका फेंकी' को 'गोलमाल रिटर्न्स (अजय देवगन, करीना कपूर) नाम से बनाया जा चुका है।

इन दिनों निर्देशक चैतन्य ताम्हणे ( ChaitanyaTamhane ) की नई मराठी फिल्म 'द डिसाइपल' ( The Disciple Marathi Movie ) (अनुयायी) सुर्खियों में है। शास्त्रीय संगीत की थीम वाली इस फिल्म को वेनिस फिल्म समारोह ( Venice Film Festival 2020 ) के मुख्य प्रतियोगिता खंड के लिए चुना गया है। फिल्म में आदित्य मोडक, सुमित्रा भावे, अरुण द्रविड़ और किरण यज्ञोपवीत ने अहम किरदार अदा किए हैं। उन्नीस साल बाद कोई भारतीय फिल्म इस खंड में शिरकत करेगी। इससे पहले मीरा नायर की 'मानसून वेडिंग' (2001) ने इस खंड में शिरकत कर गोल्डन लॉयन अवॉर्ड जीता था। वैसे चैतन्य ताम्हणे की 'कोर्ट' (2014) वेनिस फिल्म समारोह के दूसरे वर्ग में दिखाई गई थी। भारतीय न्याय प्रणाली पर केंद्रित इस फिल्म को नेशनल अवॉर्ड से नवाजा गया था। इसे 2016 में ऑस्कर अवॉर्ड के लिए भी भेजा गया।


अगर सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो वेनिस फिल्म समारोह इटली के लीडो द्वीप पर 2 से 12 सितम्बर तक चलेगा। कोरोना काल में यह पहला बड़ा अंतरराष्ट्रीय आयोजन होगा। समारोह के दूसरे वर्ग में एक और भारतीय फिल्म 'मील पत्थर' भी दिखाई जाएगी, लेकिन फिल्म प्रेमियों की नजर प्रतियोगिता खंड पर रहेगी। इसमें गोल्डन लॉयन अवॉर्ड के लिए 'द डिसाइपल' का मुकाबला दुनियाभर की 19 फिल्मों से होगा।