scriptread gulshan grover struggle story from book bad man | साबुन बेचकर स्कूल जाने को थे मजबूर, आज इंडस्ट्री में जाने जाते हैं सबसे बड़े विलेन | Patrika News

साबुन बेचकर स्कूल जाने को थे मजबूर, आज इंडस्ट्री में जाने जाते हैं सबसे बड़े विलेन

बॉलीवुड के बैड मैन यानि कि गुलशन ग्रोवर को कौन नहीं जानता। इंडस्ट्री में वैसे तो बहुत खलनायक हुए लेकिन बहुत कम ही खलनायक हैं जिन्होंने लोगों पर बहुत गहरी छाप छोड़ी हो। उन्हीं कुछ चुनिंदा विलेन में से एक हैं गुलशन ग्रोवर

नई दिल्ली

Published: January 15, 2022 06:39:45 pm

गुलशन ग्रोव ने न सिर्फ अपनी जबरदस्त एक्टिंग से बल्कि अपने लुक से भी लोगों के बीच में डर कायम करके रखा था। बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड, जर्मन, ऑस्ट्रेलियन और ब्रिटेन की फिल्मों अपना परचम लहरा चुके उन्हीं गुलशन ग्रोवर पर एक किताब लिखी गई हैं किताब का नाम है बैड मैन। बता दें कि ये उनकी एक फिल्म का बेहद ही फेमस डायल़ॉग है।
gulshan-grover.jpg
GULSHAN GROVER
उनकी इस किताब में उनकी जिंदगी से जुड़े कई किस्से शेयर किए गए हैं। ऐसी कई बातें बताई गई हैं जो इंडस्ट्री में क्या, बाहरी दुनिया में उनके फैंस को भी पता नहीं होंगी। बता दें कि इंडस्ट्री के मोस्ट फेवरेट विलेन ने अपने फिल्मी करियर में 400 से भी ज्यादा फिल्मों में काम किया है, लेकिन आज जिस शोहरत का मजा वो ले रहे हैं उसके पीछे बहुत संघर्ष छुपा हुआ है और इन्हीं संघर्ष का खुलासा उन्होंने अपनी किताब में किया है।
गुलशन में बताया कि उनका स्कूल दोपहर को होता था, लेकिन वे सुबह ही बस्ते में स्कूल की यूनिफॉर्म रखकर घर से निकल जाया करते थे। वे हर सुबह अपने घर से दूर बड़ी-बड़ी कोठियों में बर्तन और कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट पाउडर बेचा करते थे। अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने मुम्बई का रुख करने का मन बना लिया था। वे एक्टिंग में अपना करियर बनाना चाहते थे।
यह भी पढ़ेंः भारती सिंह ने छोड़ दिया अपना घर, क्यों बनाया इस जगह को अपना ठिकाना ?

बता दें कि गुलशन ग्रोवर ने दिल्ली विश्वविद्यालय के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से मास्टर्स की पढ़ाई की हुई है, लेकिन इसके लिए भी उन्होंने काफी मशक्कत की है। अपनी बायोग्राफी में मुंबई जाने की बात पर गुलशन ग्रोवर ने लिखा है, ‘जब पहली बार मैं मुंबई आया था, तब घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी। जिसकी वजह से मेरी मां को अपने गहने और पिता को घर गिरवी रखना पड़ा था, लेकिन ना कामयाबी मिलने पर मुझे वापस घर जाना पड़ा।
इसके बावजूद भी मैं हार नहीं मानना चाहता था इसलिए मैंने फिरसे अपने पिता जी से बात की और उनसे कहा कि ‘मैंने दोबारा मुंबई जाने को सोचा, भले ही उस शहर ने मेरे साथ बुरा बर्ताव क्यों न किया हो, लेकिन इस बार मुझे कोई डेडलाइन नहीं चाहिए। उन्होंने कहा कि मुझे समय की जरूरत। है, ताकि मैं एक एक्टर के तौर पर अपनी कमजोरियों और अपनी ताकत को एक ट्रेनिंग लेकर समझ सकूं।
यह भी पढ़ेंः जब शाहरुख-सलमान को इस एक्ट्रेस ने लगा दी थी फटकार, सुबह उठते ही करते थे ये काम

इतनी दिक्कतों और तंगी के बावजूद भी मेरे मां-बाप ने मुझे नहीं रोका औऱ मैं फिर से मुम्बई चला है। आज बॉलीवुड इंडस्ट्री में भला कौन है जो गुलशन ग्रोवर को नहीं जानता। उन्होंने आज अपने दम पर इंडस्ट्री में वो मुकाम हासिल कर लिया है, जो बड़े- बड़ों के बस की बात नहीं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

महाराष्ट्रः सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी के 12 विधायकों का निलंबन किया रद्द, बताया असंवैधानिकCorona cases in india: पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2.51 लाख केस, 627 की मौत, नए मामलों में 12% की कमीUP Assembly Elections 2022 : अमित शाह की अखिलेश यादव को खुली चुनौती, बोले- अगर हमारे मुकाबले 10 फीसदी भी काम किया तो जवाब देंटाटा की Air India आज से भरेगी उड़ान, इस तरह करेंगे यात्रियों का स्वागतRRB-NTPC: छात्र संगठनों का आज बिहार बंद का ऐलान, महागठबंधन ने भी किया समर्थन, पड़ोसी राज्यों में अलर्टजमाव बिंदू के पास पहुंचा पारा, जमी ओस की बूंदेBudget 2022: इस बार टूटी परंपरा 'हलवा समारोह' की जगह मिठाई बांटीज्योतिरादित्य सिंधिया का जवाब-केपी यादव को लेकर कही ये बात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.