script शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी को मुंबई Mumbai crime branch ने किया तलब, जानिए पूरा मामला | Shahrukh's manager Pooja Dadlani was summoned by Mumbai crime branch | Patrika News

शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी को मुंबई Mumbai crime branch ने किया तलब, जानिए पूरा मामला

locationनई दिल्लीPublished: Nov 09, 2021 06:30:06 pm

Submitted by:

Sneha Patsariya

शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी को मुंबई पुलिस की एसआईटी का समन मिला है। पूजा से आर्यन के लिए फिरौती मांगे जाने के केस में पूछताछ होगी।

pooja-dadlani
आर्यन खान भले ही जमानत पर बाहर हों लेकिन मामला अभी खत्म नहीं हुआ है। एक ताजा घटनाक्रम में मुंबई पुलिस ने शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी को तलब किया है। इंडिया टीवी की एक रिपोर्ट के अनुसार, मुंबई पुलिस की एक विशेष जांच इकाई (एसआईटी) को कथित तौर पर लोअर परेल में पूजा के केपी गोसावी और सैम डिसूजा से मिलने के सीसीटीवी सबूत मिले हैं। टीम कथित तौर पर आर्यन से जुड़े क्रूज ड्रग मामले में 'जबरन वसूली' के आरोपों की जांच कर रही है।

खबरों के मुताबिक, एसआईटी किरण गोसावी के खिलाफ मामला दर्ज कर सकती है और पूजा ददलानी को अपना बयान दर्ज कराने के लिए बुलाएगी। पिछले हफ्ते सैम डिसूजा ने गिरफ्तारी से पहले जमानत के लिए बॉम्बे हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। अपनी याचिका में उन्होंने दावा किया था कि किरण गोसावी ने आर्यन खान को रिहा कराने के लिए शाहरुख के मैनेजर से 50 लाख रुपये लिए थे और यह रकम बाद में वापस कर दी गई थी।
टीम ने पहले किरण गोसावी को शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी से कनेक्ट करने में कथित तौर पर मदद करने के लिए रंजीत सिंह बिंद्रा और मयूर घुले के बयान दर्ज किए थे। माना जा रहा है कि पूजा ददलानी से संपर्क करने के लिए रंजीत सिंह ने अभिनेता चंकी पांडे के भाई चिक्की पांडे से संपर्क किया।
यह भी देखें- जब शाहरुख खान से बच्चे पूछते हैं- हम हिंदू हैं या मुस्लिम, जानिए किंग खान क्या देते हैं जवाब
बता दें कि, 2 अक्टूबर को गोवा जाने वाले एक क्रूज पर छापेमारी के बाद आर्यन खान को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने हिरासत में लिया था. बाद में उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। लगभग 3 सप्ताह जेल में बिताने के बाद बॉम्बे हाईकोर्ट से उन्हें जमानत दिए जाने के बाद उन्हें आर्थर रोड जेल से रिहा कर दिया गया। अब यह मामला विशेष जांच दल (एसआईटी) को सौंप दिया गया है।
मामले को केंद्रीय टीम में ट्रांसफर किए जाने के बाद ऐसी खबरें थीं कि समीर वानखेड़े इस केस को लीड नहीं करेंगे। इस बारे में बात करते हुए समीर वानखेड़े ने एएनआई को बताया, "मुझे जांच से नहीं हटाया गया है। यह अदालत में मेरी रिट याचिका थी कि मामले की जांच एक केंद्रीय एजेंसी द्वारा की जाए। इसलिए आर्यन मामले और समीर खान मामले की जांच दिल्ली एनसीबी की एसआईटी से की जा रही है। यह दिल्ली और मुंबई की एनसीबी टीमों के बीच कोर्डिनेशन है।

ट्रेंडिंग वीडियो