Paatal Lok Review: वेब सीरीज़ देखने बैठे तो नहीं निकल पाएंगे बाहर, कलाकारों के अभिनय ने दर्शाया कड़वा सच

By: Shweta Dhobhal
| Published: 16 May 2020, 03:41 PM IST
Paatal Lok Review: वेब सीरीज़ देखने बैठे तो नहीं निकल पाएंगे बाहर, कलाकारों के अभिनय ने दर्शाया कड़वा सच
Paatal Lok Released On Amazon Prime Video

  • अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज़ हुई पताल लोक ( Paatal Lok )
  • वेब सीरीज़ की प्रोड्यूसर हैं अनुष्का शर्मा ( Anushka Sharma )

नई दिल्ली। लॉकडाउन के चलते इन दिनों सिनेमाघरों में फिल्मों की रिलीज़ को रोक दिया गया है। ऐसे में दर्शकों के मनोरजंन के लिए वेब सीरीज पाताल लोक ( Paatak lok ) रिलीज़ हो चुकी है। क्राइम,थ्रिलर और रिएलिटी पर आधारित पाताल लोक अमेजन प्राइम वीडियो ( Amazon Prime Video ) पर रिलीज़ हो गई है। इस सीरीज़ की खास बात यह भी है कि इसकी प्रड्यूसर अनुष्का शर्मा ( Producer Anushka Sharma ) हैं। 15 मई को रिलीज़ हुई इस वेब सीरीज़ के बारें में आज हर कहीं चर्चा हो रही हैं। फिल्म का जब पहला ट्रेलर सामने आया तभी से लोगों को वेब सीरीज़ को देखने की इच्छा जाग गई थी। चलिए जानते हैं इस वेब सीरीज़ की कहानी के बारें में।

वेब सीरीज 'पाताल लोक' ने पूरी दुनिया को तीन हिस्सों में बांट दिया है। जिनमें से एक हैं पाताल लोक के कीड़े जिनके काटने से भगवान भी डरते हैं। सीरीज में एक कत्ल की गुत्थी को सुलझते हुए कहानी आगे बढ़ती है। सीरीज़ में संजीव मेहरा एक समय पर मीडिया इंडस्ट्री का बड़ा नाम हुआ करता था। अब वो अपनी नौकरी बचाने की कोशिश कर रहा है। ऐसे में अपनी मर्डर की साजिश के बारे में सुनकर उसके होश उड़ जाते हैं। इस सीरीज में पकड़े गए चार लोग दिखने में भले ही आम से लगते हों लेकिन उनके पीछे का सच काफी खतरनाक है। यहां आपको सिर्फ पाताल लोक के दर्शन करने नहीं मिल रहे, बल्कि धरती लोक की परेशानियां भी देखने को मिलती हैं। तो वहीं ये भी पता चलता है कि स्वर्ग लोक असल में उतना भी कमाल नहीं है, जितना हम सब सोचते हैं।

पहला आदमी जिसका नाम है तोप सिंह ( Top Singh )। जिसने अपने गांव में तीन लोगों का खून किया है और दिल्ली में छुप कर नॉर्मल जिंदगी बीता रहा है। वहीं दूसरा किरदार जो नाम से हिंदू है लेकिन नाम में छिपे कुछ अक्षय किसी नई घटना की तरफ इशारा करते हैं। वहीं तीसरी है मैरी जो खुद को बेगुनाह साबित करने पर तुली है और इन तीनों में से किसी के साथ भी कनेक्शन ना होने से साफ माना करती हुई नज़र आती है। चौथा कीड़ा जो सबसे ज्यादा खतरनाक है। जिसका नाम है विशाल त्यागी ( Vishal tyagi ) जो एक खतरनाक गैंगस्टर है। यह यूपी पुलिस की मोस्ट वाटेंड लिस्ट में सबसे ऊपर है। यह अपने मनपसंदीदा हथियार हाथौड़े से लगभग 45 लोगों की जान ले चुका है।

अब इस पूरी गुत्थी को सुलझाने के लिए चुना गया है एक मामूली से पुलिस अफ्सर को जिसका नाम है हाथीराम ( HathiRam )। जो केस को जल्द सुलझा कर अपनी छाती चौड़ी करना चाहते हैं। केस में दमदार ट्विस्ट तब आता है जब केस को सुलझाते हुए हाथीराम के हाथ में कुछ ऐसे सबूत लग जाते हैं जो जाने-माने राजनैतिक नेताओं और बिजनेसमैन से जुड़े होते हैं। यह देखते हुए तुरंत हाथीराम को केस से हटा दिया जाता है और सीबीआई के हाथों में केस को थामा दिया जाता है। वहीं सीबीआई एक झूठी रिपोर्ट बनाते हुए सरकार को हीरो बना देती है। जिसमें सच और इंसाफ शब्द पर काला धब्बा लग जाता है। इस पूरी सीरीज़ में देश के असली कीड़ों का चेहरा दिखाया गया है। जो कुछ लोगों के पीछे छिपकर जुर्म को अंजाम देते हैं।

इस वेब सीरीज को अविनाश अरुण ( Avinash Arun )और प्रोसित रॉय ( Prosit Roy ) जैसे जाने-माने निर्देशकों ने मिलकर बनाया है। वेब सीरीज़ की कहानी को सुदीप शर्मा ( Sudeep Sharma ) ने लिखा है। कहानी में बैकग्राउंज म्यूजिक, स्क्रीनप्ले का बखूबी इस्तेमाल किया है। जो लोगों के दिलों के साथ-साथ दिमाग पर सीधा दस्तक देती है। सीरीज़ में कुल मिलाकर 9 एपिसोड है। जो करीबन 40 से 45 मिनट के हैं। जो इन्हें एक ही दिन में देखना चाहते हैं उन्हें करीबन 7 घंटे इस वेब सीरीज़ को देने होगें।