Kangana Ranaut का खुलासा, पापा से बोलीं- अगर आपने मुझे थप्पड़ मारा तो मैं भी आपको थप्पड़ मारूंगी

By: Sunita Adhikari
| Published: 20 Feb 2021, 09:52 PM IST
Kangana Ranaut का खुलासा, पापा से बोलीं- अगर आपने मुझे थप्पड़ मारा तो मैं भी आपको थप्पड़ मारूंगी
Kangana Ranaut

  • कंगना रनौत ने पर्सनल लाइफ को लेकर किया खुलासा
  • पिता ने थप्पड़ मारने की कोशिश की तो कह दी बड़ी बात

नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं और आए दिन अपने बयानों के चलते हमेशा सुर्खियों में रहती हैं। कंगना वैसे तो किसी न किसी सेलेब को टारगेट करती हैं लेकिन इस बार उन्होंने अपनी जिंदगी से जुड़े कुछ खुलासे किए हैं। अपनी पर्सनल लाइफ के बारे में बात करते हुए उन्होंने बताया कि वह महज 15 साल की उम्र में ही बागी बन गई थीं।

अनुपम खेर ने अपने दोस्त प्रेम चोपड़ा से कराई मुलाकात, सालों बाद दोनों ने याद किए पुराने दिन.. वीडियो वायरल

इसके अलावा, कंगना ने बताया कि एक बार जब उनके पिता ने उन्हें हाथ उठा कर थप्पड़ मारने की कोशिश की तो उन्होंने उनसे कहा कि अगर आपने मुझे थप्पड़ मारा तो मैं भी आपको थप्पड़ मारूंगी। कंगना ने अपने पहले ट्वीट में लिखा- 'मेरे पिता मुझे दुनिया का बेस्ट डॉक्टर बनाना चाहते थे, उन्हें लगा कि वो सबसे बेहतर संस्थान में मुझे शिक्षा देकर क्रांतिकारी पिता बन गए हैं, जब मैंने स्कूल जाने से मना किया तो उन्होंने मुझे थप्पड़ मारने की कोशिश की। मैंने उनका हाथ पकड़ लिया और उनसे कहा- अगर आपने मुझे थप्पड़ मारा तो मैं भी आपको थप्पड़ मारूंगी'।

इसके बाद कंगना ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा- 'मेरे पिता के पास लाइसेंसी राइफल और गन थी। जब मैं बड़ी हो रही थी तो वो डांटते नहीं थे दहाड़ते थे, मैं अंदर तक कांप जाती थी। जवानी में वो अपने कॉलेज में गैंगवार के लिए मशहूर थे जिसकी वजह वो गुंडे के तौर पर मशहूर हो गए थे, मैंने उनसे तब झगड़ा किया जब मैं 15 साल की थी और मैंने घर छोड़ दिया, इसके साथ ही 15 की उम्र में पहली बाग़ी राजपूत महिला बन गई'।

सिद्धार्थ मल्होत्रा और कियारा आडवाणी की फिल्म 'शेरशाह' की रिलीज डेट आई सामने, दिखेगी कारगिल के योद्धा विक्रम बत्रा की कहानी

साथ ही, कंगना ने बॉलीवुड सेलेब्स पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि 'इस चिल्लर इंडस्ट्री समझती है कि सफलता मेरे दिमाग में घुस गई है और वो मुझे ठीक कर सकते हैं, मैं हमेशा से ही बागी थी सफलता के बाद सिर्फ मेरी आवाज मजबूत हुई है। आज मैं राष्ट्र की सबसे प्रमुख आवाजों में से एक हूं। इतिहास गवाह है कि जिसने भी मुझे ठीक करने की कोशिश की है, मैंने उसे ठीक कर दिया है'।