scriptWhen Rashtrapati Bhavan rule was changed at behest of Amitabh Bachchan | जब ठनका अमिताब बच्चन का माथा, रातों रात बदल गया राष्ट्रपति भवन का सालों पुराना नियम | Patrika News

जब ठनका अमिताब बच्चन का माथा, रातों रात बदल गया राष्ट्रपति भवन का सालों पुराना नियम

अमिताभ बच्चन ने कभी ऐसा ही एक कदम उठाया था जब उन्होंने राष्ट्रपति भवन में सालों से चले आ रहे नियम को ही बदलवा दिया था। ये बात साल 1983 की है जब अमिताभ फिल्ममेकर टिनू आनंद की फिल्म 'मैं आजाद हूं' कि शूटिंग कर रहे थे।

 

Updated: December 07, 2021 03:54:33 pm

नई दिल्ली: बॉलीवुड के शंहशाह अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) जहां 70 के दशक से लोगों का मनोरंजन करते आ रहे हैं। वहीं, अमिताभ ने निजी जिंदगी में भी बहुत काम ऐसे किए हैं, जिसके कारण महानायक का टैग उन पर बिल्कुल फिट बैठता है। आज हम आपको अमिताभ के एक किस्से के बारे में बता रहे हैं, जिसमें उन्होंने राष्ट्रपति भवन में सालों से चले आ रहे नियम को ही बदलवा दिया था।
When Rashtrapati Bhavan rule was changed at behest of Amitabh Bachchan
Amitabh Bachchan
एमपी रहते हुए क्या किया

दरअसल ये बात साल 1983 की है जब अमिताभ फिल्ममेकर टिनू आनंद की फिल्म 'मैं आजाद हूं' कि शूटिंग कर रहे थे। इस फिल्म में अमिताभ बच्चन के साथ शबाना आजमी नजर आईं थीं। ये वो ही फिल्म थी जिससे अमिताभ बॉलीवुड में री लॉन्च हो रहे थे क्योंकि उससे पहले वो फिल्मों से दूर होकर राजनीतिक में सक्रिय हो गए थे। एक दिन राजकोट में शूटिंग के दौरान बात बात में शबाना आजमी ने अमिताभ से एक सवाल पूछा कि क्या एमपी रहते हुए उन्होंने कोई चीज बदली या कोई नया कानून लेकर आए? इसके जवाब में अमिताभ बच्चन ने कहा था हां, और फिर उसके बारे में बताया।
अशोक स्तंभ का बताया अपमान
अमिताभ ने बताया कि एक बार वो राष्ट्रपति भवन में रात के खाने पर गए थे। वो खाने की मेज पर बैठे तो सामने लगी प्लेट पर उनकी नजर गई और उनका माथा ठनका। दरअसल जिस प्लेट में सब लोग खाना खा रहे थे उस प्लेट पर राष्ट्रीय प्रतीक यानि अशोक स्तंभ बना हुआ था। ये बात अमिताभ को सही नहीं लगी। उन्होंने संसद में इस बात को रखते हुए कहा कि खाने की प्लेट पर राष्ट्रीय प्रतीक का होना उसका अपमान है।
अमिताभ के ये बात सामने रखने के कुछ ही दिन बाद एक कानून पारित हुआ, जिसमें ये कहा गया कि खाने की प्लेटों पर राष्ट्रीय प्रतीक नहीं होगा। इस तरह अमिताभ बच्चन के कारण राष्टपति भवन का सालों पुराना नियम बदल दिया गया।
आपको बता दें साल 1984 में अमिताभ बच्चन ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के कहने पर इलाहाबाद से लोकसभा चुनाव लड़ा था। उन्होंने यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री हेमवंती नंदन बहुगुणा के खिलाफ ये चुनाव लड़े थे। जिसमें अमिताभ बच्चन ने जीत हासिल की थी। आपको जानकर हैरानी होगी कि उस समय में हेमवंती नंदन बहुगुणा को हराना बहुत भी मुश्किल हुआ करता था। इसके बाद उन्होंने राजनीति को अलविदा कह दिया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

Mizoram Earthquake: मिजोरम में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर रही 5.6 तीव्रताराष्ट्रीय युद्ध स्मारक में विलय की गई अमर जवान ज्योति की लौ; देखें VIDEO'हिजाब' पर कर्नाटक के शिक्षा मंत्री के बयान पर बवाल! जानिए क्या है पूरा मामलाUP Election 2022: राहलु और प्रियंका ने जारी किया कांग्रेस का घोषणा पत्र, युवाओं पर फोकसदिल्ली उपराज्यपाल ने आप सरकार के प्रस्ताव को किया खारिज, वीकेंड कर्फ्यू हाटने और प्रतिबंधों में ढील से इनकारकोरोना की रफ्तार से ऑफलाइन हो सकती है 12वीं-10वीं की बोर्ड परीक्षा! CGBSE ने की ये तैयारीकर्नाटक: शनिवार व रविवार को भी खुलेंगे बाजार लेकिन एक शर्त हैIND vs SA: मायूस विराट कोहली के चेहरे पर आई खुशी, ऋषभ पंत का सिक्स देखकर करने लगे डांस
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.