'केदारनाथ' की सह-लेखिका ने सुशांत और क्लाइमैक्स सीन के बारे में किया ये खुलासा

By: Mahendra Yadav
| Updated: 24 Sep 2020, 12:53 PM IST
'केदारनाथ' की सह-लेखिका ने सुशांत और क्लाइमैक्स सीन के बारे में किया ये खुलासा
sushant_singh_rajput

कनिका ने बताया कि साल 2018 में आई फिल्म केदारनाथ का अंत सुनकर सुशांत रो पड़े थे। कनिका ने ट्वीट कर लिखा, तुम्हारे लिए मंसूर के किरदार को लिखना काफी खास था। तुमने इसे पूरे समर्पण के साथ निभाया। जब मैंने तुम्हें पहली बार केदारनाथ के अंत के बारे में बताया था, तुम रो पड़े थे- मंसूर के आखिरी दृश्य के वक्त हमारे होठों पर एक दर्दभरी मुस्कान थी और दिल में भरपूर प्यार था।

सुशांत सिंह राजपूत अभिनीत फिल्म केदारनाथ की स्क्रिप्ट की सह-लेखिका कनिका ढिल्लों ने बुधवार को सुशांत से जुड़ा एक पुराना किस्सा याद किया। कनिका ने बताया कि साल 2018 में आई फिल्म केदारनाथ का अंत सुनकर सुशांत रो पड़े थे। कनिका ने ट्वीट कर लिखा, तुम्हारे लिए मंसूर के किरदार को लिखना काफी खास था। तुमने इसे पूरे समर्पण के साथ निभाया। जब मैंने तुम्हें पहली बार केदारनाथ के अंत के बारे में बताया था, तुम रो पड़े थे- मंसूर के आखिरी दृश्य के वक्त हमारे होठों पर एक दर्दभरी मुस्कान थी और दिल में भरपूर प्यार था।

फिल्म में सुशांत ने मंसूर नामक एक पिट्ठ का किरदार निभाया था, जिसे सारा अली खान के निभाए किरदार मंदाकिनी से प्यार था। कनिका आगे लिखती हैं, तुमने हम सभी को रुला दिया। तुम्हें याद करने का सबसे बेहतरीन तरीका एक कलाकार के तौर पर तुम्हारे किए कामों को याद करना है।

अपने इस पोस्ट के साथ कनिका ने एक तस्वीर साझा की है, जिसमें सुशांत इस किरदार की तैयारी के क्रम में ट्रेडमिल पर बालू के बोरे के साथ ट्रेनिंग करते हुए दिख रहे हैं। बता दें कि सुशांत सिंह की मौत के मामले में बांद्रा स्थित फ्लैट में क्राइम सीन के रिक्रिएशन के बाद सीएफएसएल ने पाया कि सुशांत की मौत फांसी लगाने से हुई थी। सीएफएसएल ने सीबीआई टीम को यह रिपोर्ट दे दी है। हालांकि, इसकी आधिकारिक पुष्टि एक से दो दिन में जांच एजेंसी की ओर से की जा सकती है। बताया जा रहा है कि रिपोर्ट के अनुसार, इसे 'पार्शियल हैंगिंग' यानी पूर्ण फांसी नहीं कहा गया है।