बुलंदशहर में महिला सिपाही पर ब्लैकमेल करने और रंगदारी मांगने के आराेपाें में मुकदमा दर्ज

  • दरोगा की तहरीर पर पुलिस ने किया मुकदमा दर्ज
  • महिला ने लगाया था पहले छेड़छाड़ का आराेप भी

By: shivmani tyagi

Published: 09 Nov 2020, 10:35 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क
बुलंदशहर। बुलंदशहर में तैनात एक महिला सिपाही पर कोतवाली शहर में मुकदमा दर्ज हुआ है। महिला सिपाही पर ब्लैकमेल करने और रंगदारी मांगने के आरोप हैं। पुलिस की यह कार्रवाई चर्चा का विषय बनी हुई है। लोग यही कह रहे हैं कि जब खाकी ही ब्लैकमेल करेगी और रंगदारी मांगेगी तो अपराधियों का क्या होगा ?

जानिए क्या है पूरा मामला
बुलंदशहर कोतवाली में तैनात दरोगा लोकेंद्र सिंह ने यह मुकदमा दर्ज कराया है। मुकदमा दर्ज कराने के लिए पुलिस को दी तहरीर में दरोगा लोकेंद्र ने कहा है कि जब वह ककोड़ थाने में तैनात थे तो उस समय एक महिला सिपाही ने उन पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। छेड़छाड़ का आरोप लगाने के बाद उन्हें ब्लैकमेल किया गया और उनसे पैसे भी मांगे गए। इस घटना से वह बेहद तनाव में आ गए और जब पुलिस ने दर्ज मुकदमे की जांच पड़ताल की तो उन पर लगे सभी आरोप झूठे पाए गए। लोकेंद्र ने तहरीर में यह भी बताया है कि महिला ने इसके बाद ककोड़ थाने के तत्कालीन प्रभारी इंस्पेक्टर दुर्गेश कुमार मिश्र पर भी छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए शिकायत की थी। इसी शिकायत के आधार पर उनका तबादला वाराणसी कर दिया गया था।

यह भी पढ़ें: दस माह के बच्चे को गोद में लेकर ड्यूटी कर रही आगरा की पूनम पति कर रहे सीमा पर देश की रक्षा

शहर कोतवाली प्रभारी अखिलेश कुमार त्रिपाठी ने तहरीर की पुष्टि करते हुए बताया है कि कॉन्स्टेबल के खिलाफ दरोगा लोकेंद्र की ओर से तहरीर में ब्लैकमेल करने और रंगदारी मांगने के साथ-साथ आईटी एक्ट के आरोप भी हैं। तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि इस मामले की जांच वह स्वयं कर कर रहे हैं। आरोपी महिला का तबादला सुल्तानपुर हो चुका है लेकिन अभी तक वह बुलंदशहर में ही है। इस पर एसएसपी संतोष कुमार सिंह का कहना है कि आचार संहिता के कारण अभी महिला सिपाही को रिलीव नहीं किया गया है। उधर अपने तबादले को लेकर महिला सिपाही ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। महिला सिपाही ने हाईकोर्ट में दी अर्जी में कहा है कि उनका तबादला नियमों के विरुद्ध किया गया है। इसके लिए उन्होंने एडीजी मेरठ और एसएसपी बुलंदशहर को भी आरोपित किया है।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned