इस 'नेता' पर महिला ने लगाया यौन शोषण का आरोप, स्कूल की मान्यता दिलाने का दिया था लालच

इस 'नेता' पर महिला ने लगाया यौन शोषण का आरोप, स्कूल की मान्यता दिलाने का दिया था लालच

Nitin Sharma | Updated: 14 Aug 2019, 04:13:52 PM (IST) Bulandshahr, Bulandshahar, Uttar Pradesh, India

मुख्य बातें

  • स्कूल की मान्यता दिलाने और शादी का झांसा देकर किया यौन शोषण
  • पीड़िता ने थाना पुलिस के बाद एसएसपी से की कार्रवाई की गुहार

बुलंदशहर। जिले के डिबाई क्षेत्र की एक स्कूल संचालक महिला ने मान्यता दिलाने व शादी का झांसा देकर पूर्व में नगर पंचायत अध्य्क्ष का चुनाव लड़ चुके एक नेता पर यौन शोषण व उसके घर पर जबरन कब्जे का आरोप लगाया है। महिला का आरोप है कि शख्स ने उसे घर से बाहर निकाल दिया है। आरोपी को सत्ताधारी पार्टी के नेताओं का संरक्षण प्राप्त है। जिसके कारण स्थानीय पुलिस भी कार्रवाई नहीं कर रही है। पीडि़त महिला ने मामले की शिकायत एसएसपी से की है।

यह गैंग जनरेट करता है New Code Word और फिर बदमाश देते हैं हत्या की वारदात को अंजाम

शादी का झांसा देकर साथ रह रहा था आरोपी

जानकारी के अनुसार, बुलंदशहर एसएसपी कार्यालय पर खड़ी पीडि़त महिला ने बताया कि पिछले 15 साल से यौन शोषण से प्रेरित है। उसका आरोप है कि इलाके के ही एक नेता प्रेमपाल सिंह ने उसे शादी का झांसा देकर 15 साल तक यौन शोषण किया। वह उसके घर में रहने लगा। पीडि़ता ने बताया कि उसने अपने स्कूल की समिति में प्रेमपाल को इस लालच से अध्यक्ष भी बना दिया कि वह स्कूल की मान्यता दिला देगा। पीडि़ता का आरोप है कि अब प्रेमपाल ने यौन शोषण करने के साथ ही उसके घर पर कब्जा कर लिया। और महिला को उसके घर से निकाल कर बाहर कर दिया। वहीं पीडि़ता अब एसएसपी के पास पहुंची है। जहां उसने कार्रवाई की मांग की है।

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह के प्रस्तावक बने बसपा के ये दिग्गज विधायक, राजनीति में मचा हड़कंप

नेता का आरोप सभी आराेप गलत

वहीं इस मामले में आरोपी प्रेमपाल सिंह ने बताया है कि यह मेरी पत्नी है और सारे कागजों में इनका नाम दर्ज है। यह अपनी जमीन अपने भाइयों के नाम करना चाहती हैं। इसी के चलते यह मुझ पर आरोप लगा रही है। उधर एसएसपी बुलंदशहर संतोष कुमार सिंह ने बताया कि महिला ने मंगलवार को शिकायत की है। इसकी जांच सीओ डिवाइ को दे दी गई है। जांच कर दोषी पर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned