Ghaziabad: यह गैंग जनरेट करता है New Code Word और फिर बदमाश देते हैं हत्या की वारदात को अंजाम

Ghaziabad: यह गैंग जनरेट करता है New Code Word और फिर बदमाश देते हैं हत्या की वारदात को अंजाम

Nitin Sharma | Publish: Aug, 14 2019 01:13:56 PM (IST) Ghaziabad, Ghaziabad, Uttar Pradesh, India

मुख्य बातें

  • ट्रॉनिका सिटी में बदमाशों ने दिया था डबल मर्डर की वारदात को अंजाम
  • पहले बनाया था Code word, वारदात के समय इसी कोड में की थी बात
  • पुलिस ने गिरोह के तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा

गाजियाबाद। लोनी टोनिका सिटी में कुछ दिन पहले ही हुए (Double Murder) दोहरे हत्याकांड का खुलासा करते हुए पुलिस ने एक ऐसे गैंग के तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया है। जो (New Code Word) नया कोड वर्ड बनाकर हत्या की वारदात को अंजाम देता है। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से अवैध हथियार भी बरामद किए हैं। पुलिस का दावा है कि इन्हीं हथियारों के द्वारा इस दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया गया था।

Video: पानी भरने गई दलित युवती के साथ युवकों ने की छेड़छाड़ तो एसपी के पास पहुंचे भीम आर्मी कार्यकर्ता

दस दिन पहले जिले में बदमाशों ने की थी दो लोगों की हत्या

आपको बताते चलें कि बीती 5 तारीख को धर्मवीर शर्मा और उनके पड़ोसी बाबू और उनके भाई सोनू को गोली मार दी थी। इस वारदात में धर्मवीर शर्मा और पड़ोसी बाबू की मौत हो गई थी। वारदात के बाद से ही पुलिस इसका खुलासा करने में लगी थी । पुलिस द्वारा आनन-फानन में विशेष टीम का गठन किया गया और जगह-जगह छापेमारी की गई। आखिरकार पुलिस हत्यारों तक जा पहुंची और इन तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया।

लूट की प्लानिंग कर रहे बदमाशों को पुलिस ने ऐसे किया गिरफ्तार, अवैध हथियार भी हुए बरामद- देखें वीडियाे

इस गैंग के है तीनों हत्यारे, साथियों की तलाश जारी

गाजियाबाद के एसपी देहात नीरज कुमार जादौन ने बताया कि चेकिंग के दौरान मुखबिर द्वारा सूचना दी गई । जिसके बाद अभियुक्त जोगेंद्र, भूपेंद्र और अंकुश को गिरफ्तार किया गया। सभी आरोपी बावरिया गिरोह के हैं। इनके 6 साथी अभी फरार है। जिन को पकडऩे के लिए पुलिस लगातार दबिश दे रही हैं।

आधी रात अचानक थाने पहुंच गये एडिशनल चीफ सेक्रेट्री होम तो भागते हुए पहुंचे पुलिस अधिकारी- देखें वीडियो

वारदात से पहले बनाते है एक नया कोड वर्ड (Code Word)

एसपी देहात ने बताया कि इन शातिर बदमाशों द्वारा जितनी भी वारदात की जाती है। उससे पहले यह कोड वर्ड इस्तेमाल करते हैं। तरह-तरह के कोड वर्ड में बात कर यह वारदात को अंजाम देते है। इसी के चलते पुलिस को इन तक पहुंचने में देरी हो रही थी। बहरहाल पुलिस द्वारा अपना जाल बिछाया गया और इनकी सारी चालाकी धरी की धरी रह गई। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए, इन तीनों आरोपियों को धर दबोचा गया। फिलहाल अभी इनके अन्य साथियों की भी तलाश जारी है। जिन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned