scriptrbi repo rate hike interest know its effect on you emi will be larger | Repo Rate Hike: आरबीआई ने रेपो रेट बढ़ाई, लोन होगा महंगा- बढ़ेगी EMI | Patrika News

Repo Rate Hike: आरबीआई ने रेपो रेट बढ़ाई, लोन होगा महंगा- बढ़ेगी EMI

RBI Repo Rate Hike:बुधवार को आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने प्रेस क्रॉफ्रेंस कर आरबीआई के रेपो रेट को बढ़ाए जाने की घोषणा की है. इस घोषणा के साथ ही अब महंगाई और बढ़ेगी.

नई दिल्ली

Updated: May 04, 2022 03:51:39 pm

नई दिल्ली. बीते कुछ माह से लगातार बढ़ रही महंगाई को देखते हुए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने रेपो रेट बढ़ा दिया है. आरबीआई ने एक झटके में रेपो रेट में 0.40 फीसदी की बढ़ोतरी का ऐलान किया है. रेपो रेट में ताजा हुई बढ़ोतरी के बाद अब रेपो रेट 4.40 फीसदी हो गई है. आरबीआई के इस फैसले से महंगाई के साथ-साथ लोन की ईएमआई और बढ़ेगी. आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बताया कि 2 और 3 मई को मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी की आपात बैठक हुई थी जिसमें ये रेपो रेट को बढ़ाने का फैसला लिया गया.

rbi_governor_shaktikanta_das_1.jpg

बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में rbi गवर्नर शक्तिकांत दास ने ये जानकारी दी. उन्होंने बताया कि दुनियाभर में बढ़ती महंगाई के कारण यह फैसला लिया गया है. आरबीआई गर्वनर ने आगे कहा कि मार्च 2022 में खुदरा महंगाई तेजी से बढ़कर 7 फीसदी पहुंच गई. खाने-पीने की चीजों की महंगाई के कारण खुदरा महंगाई तेजी से बढ़ी. बताया गया कि देश में महंगाई दर 17 महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई थी. ऐसे में मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी की मीटिंग में सभी मेंबरों ने एकमत से रेपो रेट को बढ़ाने पर अपनी सहमति दी.

यह भी पढ़ेंः Unemployment Rate: अप्रैल में और बढ़ी बेरोजगारी, शहरों के हालात ज्यादा खराब, हरियाणा में सबसे अधिक परेशानी

रेपो रेट बढ़ाए जाने का आप पर क्या पड़ेगा प्रभाव
रेपो रेट उस दर को कहते हैं जिस दर पर आरबीआई बैंकों को कर्ज उपलब्ध कराती है. यानि आरबीआई से कर्ज लेने पर बैंकों को 4 फीसदी के बजाए अब 4.40 फीसदी ब्याज चुकाना होगा. जब बैंकों को ज्यादा ब्याज देना होगा तो जाहिर है वे अपने ग्राहकों को भी ज्यादा ब्याज पर कर्ज देंगे. आसान भाषा में कहे तो यदि आपने किसी भी बैंक से कोई लोने ले रखी है तो उसका ईएमआई बढ़ जाएगा.

रूस-यूक्रेन में चल रहे विवाद को महंगाई का बताया कारण
गवर्नर ने बताया कि मॉनिटरी पॉलिसी की मीटिंग हर दो महीने में होती है. इस वित्त वर्ष की पहली बैठक पिछले महीने 6-8 अप्रैल को हुई थी. अगली बैठक जून में होनी थी. रेपो रेट बढ़ाए जाने से खाने के तेल की कीमतों में और बढ़ोतरी संभव है. बढ़ोतरी के पीछे ग्लोबल सप्लाई चेन में आई दिक्कतों को कारण बताया जा रहा है. बता दें कि बीते करीब दो माह से रूस और यूक्रेन में चल रहे विवाद के कारण भारत के साथ-साथ पूरी दुनिया में महंगाई बढ़ी है.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

IPL 2022: टिम डेविड की तूफानी पारी, मुंबई ने दिल्ली को 5 विकेट से हराया, RCB प्लेऑफ मेंपेट्रोल-डीज़ल होगा सस्ता, गैस सिलेंडर पर भी मिलेगी सब्सिडी, केंद्र सरकार ने किया बड़ा ऐलान'हमारे लिए हमेशा लोग पहले होते हैं', पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती पर पीएम मोदीArchery World Cup: भारतीय कंपाउंड टीम ने जीता गोल्ड मेडल, फ्रांस को हरा लगातार दूसरी बार बने चैम्पियनआय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला दोषी करार, 26 मई को सजा पर होगी बहसऑस्ट्रेलिया के चुनावों में प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन हारे, एंथनी अल्बनीज होंगे नए PM, जानें कौन हैं येगुजरात में BJP को बड़ा झटका, कांग्रेस व आदिवासियों के लगातार विरोध के बाद पार-तापी नर्मदा रिवर लिंक प्रोजेक्ट रद्दजापान में होगा तीसरा क्वाड समिट, 23-24 मई को PM मोदी का जापान दौरा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.