SBI एटीएम और ब्रांच से कैश निकालना पड़ेगा महंगा

SBI बैंक ने बैंक की ब्रांच और एटीएम से पैसे निकासी को लेकर बदले नियम, एक जुलाई से चेक बुक के लिए भी शुल्क में किया बदलाव

By: सुनील शर्मा

Published: 28 Jun 2021, 07:44 AM IST

नई दिल्ली। एक जुलाई से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ग्राहकों के लिए ढेर सारे बदलाव ला रहा है। देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक अब एटीएम से नकद निकासी, शाखा से नकद निकासी और चेक बुक के लिए शुल्क में बदलाव कर रहा है।

बैंक की ओर से बेसिक बचत बैंक डिपॉजिट (BSBD) खातों या एसबीआई बीएसबीडी खातों के लिए, एटीएम और ब्रांच समेत मुफ्त 4 नकद निकासी के बाद लेन-देन पर अधिक शुल्क वसूला जाएगा। इसके अलावा एसबीआई खाताधारकों को पहले 10 चेक लीफ पर शुल्क से छूट दी जाएगी। इस सीमा से अधिक चेक लीफ के लिए एक जुलाई 2021 से चार्ज वसूल किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : क्या सरकारी कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना बहाल कर देनी चाहिए?

ब्रांच से नकद निकासी पर चार्ज
ब्रांच और एटीएम दोनों में नकद निकासी अभी सीमित है। और इस सीमा से अधिक निकासी करने पर एसबीआई खाताधारक पर एक जुलाई, 2021 से शुल्क लगाया जाएगा। चार मुफ्त नकद निकासी के बाद शाखा चैनल या एटीएम से निकासी पर 15 रुपए प्लस जीएसटी चुकाना होगा।

यह भी पढ़ें : कोरोना मृतकों को मुआवजे पर केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कही बड़ी बात

एटीएम से नकद निकासी पर चार्ज
एक जुलाई से एसबीआी एटीएम नकद निकासी पर चार मुफ्त लेन-देन से परे प्रत्येक लेन-देन पर 15 रुपए प्लस जीएसटी लागू होगा। एसबीआई के एटीएम के अलावा दूसरे एटीएम से भी कैश निकालने पर भी यही चार्ज लगेगा।

चेक बुक पर शुल्क
एक वित्तीय वर्ष में बिना किसी शुल्क के केवल दस चेक उपयोग करने की अनुमति है। इस सीमा से अधिक उपयोग करने पर चार्ज लगेगा। पहले 10 चेक लीफ के उपयोग के बाद अगले दस पर 40 रुपए और जीएसटी लगेगा। अगले 25 पर 75 रुपए और जीएसटी लगेगा। हालांकि वरिष्ठ नागरिकों को चेक बुक उपयोग सीमा से छूट दी गई है। यदि आप आपातकालीन चैक बुक चाहते हैं तो आपको 50 रुपए प्लस जीएसटी चार्जेंज देने होंगे।

सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned