scriptBig Project: दूधी-शक्कर नदी के पानी से जुन्नारदेव, परासिया, अमरवाड़ा और हर्रई के गांवों का सूखा होगा खत्म | Patrika News
छिंदवाड़ा

Big Project: दूधी-शक्कर नदी के पानी से जुन्नारदेव, परासिया, अमरवाड़ा और हर्रई के गांवों का सूखा होगा खत्म

– राज्य बजट में सरकार दिखाए प्राथमिकता तो तेजी से आगे बढ़े परियोजना
– विधानसभा चुनाव 2023 के संकल्प पत्र में भाजपा ने किया था जिक्र

छिंदवाड़ाJun 29, 2024 / 05:45 pm

prabha shankar

- पूर्व सीएम के भूमिपूजन के बाद नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण का सर्वेक्षण जारी

– पूर्व सीएम के भूमिपूजन के बाद नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण का सर्वेक्षण जारी

नर्मदा नदी की सहायक नदियां दूधी-शक्कर नदी का उद्गम छिंदवाड़ा में हैं। उनका पानी नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण के माध्यम से जुन्नारदेव, परासिया, अमरवाड़ा और हर्रई के गांवों में पहुंचाने के प्रयास शुरू हो गए हैं। एजेंसियां निर्धारित होने के बाद प्राधिकरण के अधिकारी गांवों का सर्वेक्षण करा रहे हैं। इस परियोजना से जिले की 56 हजार हेक्टेयर भूमि सिंचित होगी। जुलाई में प्रस्तुत राज्य बजट में इसे प्राथमिकता मिलने की उम्मीद की जा रही है। भाजपा ने विधानसभा चुनाव 2023 में इस परियोजना को आगे बढ़ाने का जिक्र भी किया था। यहां बता दें कि जुन्नारदेव, परासिया, अमरवाड़ा और हर्रई क्षेत्र में गांवों में डैम की संख्या कम होने से भू-जल स्तर 500 से एक हजार फीट नीचे तक है। इससे इस क्षेत्र में फसल सिंचित करने साधनों का अभाव है। इस परियोजना से पूरे इलाकों को पानी मिल पाएगा।

शिवराज सिंह ने किया था भूमिपूजन

शक्कर परियोजना का भूमिपूजन 21 जुलाई 2023 को नरसिंहपुर के गाडरवाड़ा में तो दूधी नदी के प्रोजेक्ट का भूमिपूजन 23 जुलाई 2023 को नर्मदापुरम जिले के बनखेड़ी में तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया था। भूमिपूजन के बाद नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण ने टेंडर किए। इसका काम अदाणी ग्रुप समेत अन्य कम्पनियों को मिला है। इससे छिंदवाड़ा जिले के 205 गांवों की जमीन सिंचित करने का लक्ष्य तय किया गया है।

दूधी प्रोजेक्ट से जुन्नारदेव-परासिया को लाभ

दूधी प्रोजेक्ट से नर्मदापुरम जिले की 30410 हेक्टेयर और छिंदवाड़ा जिले में 25 हजार हेक्टेयर जमीन सिंचित होगी। जुन्नारदेव के 83 गांवों की 16 हजार हैक्टेयर और परासिया के 30 गांवों की नौ हजार हेक्टेयर जमीन को लाभ मिलेगा। परियोजना की लागत 2631.74 करोड़ रुपए है। परियोजना में 1774 करोड़ रुपए का अनुबंध कोल्हापुर की एजेंसी को मिला है।

शक्कर परियोजना से अमरवाड़ा-हर्रई में आएगा पानी

नरसिंहपुर जिले के करेली के पास नयाखेड़ा में प्रस्तावित शक्कर परियोजना से नरसिंहपुर की 64 हजार हेक्टेयर तथा छिंदवाड़ा के अमरवाड़ा-हर्रई के 31 हजार हेक्टेयर जमीन को लाभ मिलेगा। करीब 92 गांव लाभान्वित होंगे। करीब 44034 करोड़ रुपए की परियोजना का ठेका अदानी गु्रप एवं अन्य को मिला है।

नहर से नहीं, पाइप के जरिए पहुंचेगा पानी

शक्कर नदी पर बांध का निर्माण तथा नरसिंहपुर और छिंदवाड़ा जिले में 0.35 एलपीएस/हेक्टेयर ड्यूटी के साथ 2.5 हेक्टेयर क्षेत्र दबावयुक्त पाइप सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली के निर्माण का जिक्र टेंडर में किया गया है। इस प्रोजेक्ट में खेतों तक नहर नहीं, बल्कि पाइप लाइन से पानी पहुंचाया जाएगा। यहां बता दें कि अमरवाड़ा-हर्रई का इलाका ऊंचाई पर स्थित है। इसके चलते प्रेशराइज्ड पाइप से पानी पहुंचाने का लक्ष्य तय किया गया है।

अभी गांवों का सर्वेक्षण जारी है

शक्कर और दूधी नदी परियोजना में छिंदवाड़ा जिले के अमरवाड़ा, हर्रई, परासिया और जुन्नारदेव से जुड़े गांवों की जमीन सिंचित करने का लक्ष्य रखा गया है। इस परियोजना में अभी गांवों का सर्वेक्षण जारी है। उसके बाद आगे की प्रक्रिया होगी।
-अंकुर शर्मा, ईई, पेंच-शक्कर लिंक प्रोजेक्ट नरसिंहपुर

Hindi News/ Chhindwara / Big Project: दूधी-शक्कर नदी के पानी से जुन्नारदेव, परासिया, अमरवाड़ा और हर्रई के गांवों का सूखा होगा खत्म

ट्रेंडिंग वीडियो