script Future in chhindwara: ट्रेनों की सुविधा बढ़े, स्वास्थ्य, शिक्षा सहित हर क्षेत्र में हो सुधार | Chhindwara plan in year 2024 | Patrika News

Future in chhindwara: ट्रेनों की सुविधा बढ़े, स्वास्थ्य, शिक्षा सहित हर क्षेत्र में हो सुधार

locationछिंदवाड़ाPublished: Dec 26, 2023 12:25:34 pm

Submitted by:

ashish mishra

आम लोगों के लिए 2024 की मुख्य जरूरत

Future in chhindwara: ट्रेनों की सुविधा बढ़े, स्वास्थ्य, शिक्षा सहित हर क्षेत्र में हो सुधार
Future in chhindwara: ट्रेनों की सुविधा बढ़े, स्वास्थ्य, शिक्षा सहित हर क्षेत्र में हो सुधार
छिंदवाड़ा. राजा शंकर शाह विश्वविद्यालय, छिंदवाड़ा के पूर्व कुलसचिव एवं राजनीतिक विज्ञान के वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ. राजेन्द्र मिश्रा ने वर्ष 2024 में छिंदवाड़ा की समस्या और विकास को लेकर अपनी राय रखी। कहा कि नए साल में आम आदमी के लिए सबसे बड़ी राहत सीवर लाइन के कार्य, और ट्रेन सुविधाओं में विस्तार का होना रहेगा। क्षेत्रवार बात करें तो चार साल राजा शंकर शाह विश्वविद्यालय को खुले हो चुके हैं। अब तक विश्वविद्यालय का भवन नहीं बन पाया है। ऐसे में उच्च शिक्षा को लेकर कई गतिविधियां रूकी हुई हैं। शिक्षा से ही विकास संभव है। ऐसे में इस पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। इसके अलावा शासकीय स्कूलों में शिक्षकों की कमी है। उनकी नियुक्ति होनी चाहिए। कई स्कूलों के भवन जर्जर हो चुके हैं और कई स्कूलों में रोशनी नहीं है। अधोसंरचना पर विशेष फोकस होना चाहिए। विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाने के लिए शासकीय कर्मचारियों को प्रेरित करना होगा। कई कॉलेज भवन की स्थिति काफी दयनीय है। इस पर भी ध्यान देने की जरूरत है। वर्षों बाद जिले को ब्राडगेज रेलमार्ग की सौगात मिली है। ट्रेनों की संख्या कम ही सही, लेकिन बढ़ी है इसमें और विस्तार करने की जरूरत है। छिंदवाड़ा से भोपाल, छिंदवाड़ा से बनारस सहित अन्य जगहों के लिए ट्रेनों की दरकार है। जिले के कई पहुंचविहीन क्षेत्र ऐसे हैं जहां पब्लिक ट्रांसपोर्ट की सुविधा की जरूरत है। बसों की सुविधा कई जगह जाने के लिए नहीं है। रात में काफी समस्या होती है।
पर्यटन स्थलों को विकसित करने की जरूरत
जिले के कुकड़ीखापा, देवरानीदायी, मोरघाट, झिलहरी घाट, भरतादेव, छोटा महादेव, तामिया सहित अन्य पर्यटन स्थल को विकसित करने की जरूरत है। यह ऐसे पर्यटन स्थल है जिन्हें विकसित कर दिया जाए तो शासन को फायदा भी होगा और लोग बिना किसी रोड़े के घूम सकेंगे।
स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने की जरूरत
स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर बनाने की जरूरत है। अभी भी लोग नागपुर पर ही निर्भर हैं। एयर एम्बुलेंस का सपना साकार नहीं हो पाया। हार्टिकल्चर एवं एग्रीकल्चर की परिकल्पना को भी क्रियान्वित करने की जरूरत है। खिलाडिय़ों को बढ़ावा देने के लिए स्पोट्र्स एकेडमी, फिजिकल ट्रेनिंग सेंटर सहित अन्य सुविधाओं को बढ़ाना चाहिए। इसके अलावा स्वच्छता, हवाई सर्विस, रात में मेडिकल एवं कैंटिन सुविधा की जरूरत है। हर वर्ष पानी की किल्लत होती है। इस पर भी देखना होगा।
गर्मी में आग लगने पर होती है परेशानी
हर वर्ष गर्मी के समय में अग्निशमन विभाग संसाधनों की कमी की वजह से असहाय नजर आता है। इसको लेकर विशेष योजना बनानी चाहिए। स्टॉफ की नियुक्ति के साथ प्रर्याप्त संसाधन देना होगा। हर विकासखंड में कार्यालय और सुविधाओं होनी चाहिए। इसके अलावा अतिक्रमण और यातायात व्यवस्था पर ध्यान देना होगा।
रात में पार्किंग की बनानी होगी व्यवस्था
त्योहार के समय शहर की सडक़ पर चलना दुभर हो जाता है। शाम को पार्किंग के लिए शहर में गल्र्स कॉलेज, एमएलबी, उत्कृष्ट विद्यालय सहित अन्य जगह है। यातायात पुलिस को इस पर विशेष योजना बनानी चाहिए। इसके अलावा अंधाधुंध कटाई, अवैध उत्खनन से पर्यावरण प्रभावित हो रहा है। इस पर रोक लगाई जानी चाहिए और हरियाली को बढ़ावा देना चाहिए। ऐसे वार्ड जो निगम क्षेत्र में जुड़े हैं वहां मुलभूत सुविधाएं होना जरूरी है।
खुली नाली ढकी जाए

वार्ड स्तर पर हेल्थ सेंटर बने तो अस्पतालों पर दबाव कम होगा। शहर में हरित कवर बढ़ाने के लिए पौधे लगाएं। खुली नालियां कवर्ड हों, जिससे मच्छरों का प्रकोप कम होगा।

ट्रेंडिंग वीडियो