scriptEducation Department in Higher Secondary Schools of Chittorgarh Will Start Mission Gyan from Monday to Friday | E-Education: स्कूलों में चलेगा 'मिशन ज्ञान', गुरूजी नहीं होंगे तो भी पढ़ेंगे बच्चे | Patrika News

E-Education: स्कूलों में चलेगा 'मिशन ज्ञान', गुरूजी नहीं होंगे तो भी पढ़ेंगे बच्चे

locationचित्तौड़गढ़Published: Sep 26, 2023 12:04:36 pm

Submitted by:

Akshita Deora

Mission Gyan: चित्तौड़गढ़ जिले के उच्च माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों के रिष्ठह्म् पद होने पर सभी विद्यार्थियों को स्मार्ट कक्षाओं में मिशन ज्ञान के माध्यम से सप्ताह में सोमवार से शुक्रवार तक पढ़ाई कराई जाएगी।

photo1695709950.jpeg

Mission Gyan: चित्तौड़गढ़ जिले के उच्च माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों के रिष्ठह्म् पद होने पर सभी विद्यार्थियों को स्मार्ट कक्षाओं में मिशन ज्ञान के माध्यम से सप्ताह में सोमवार से शुक्रवार तक पढ़ाई कराई जाएगी। शिक्षा विभाग की ओर से विद्यार्थियों की पढ़ाई को लेकर नए-नए प्रयोग किए जा रहे हैं। अब ई-कक्षाओं के संचालन की व्यवस्था की जा रही है। इसकी समय सारणी जल्द ही बनाई जाएगी। साथ ही इसमें जो चैप्टर पढ़ाया जाएगा, उसकी पीडीएफ भी विद्यार्थी को उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए शिक्षा सचिव नवीन जैन ने समय सारणी तैयार करने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें

हॉस्टल में रह रहे 11 साल के बच्चे की वार्डन ने की पिटाई , तो अभिभावकों ने शिक्षिका को पीटा




इंटरनेट नहीं तो ऑफलाइन मोड
स्मार्ट कक्षाओं के संचालन की सतत मॉनिटरिंग होगी। सचिव ने बताया कि जिन विद्यालयों में इंटरनेट सुविधा नहीं है, वहां पर मिशन ज्ञान के सहयोग से कम्प्यूटर हार्डवेयर में ई-कंटेंट लोड करते हुए सुलभ कराया है। ताकि ऑफलाइन मोड पर भी विद्यार्थी स्मार्ट कक्षाओं में अध्ययन कर सकें। उन्होंने कहा कि प्रदेश के नव क्रमोन्नत माध्यमिक विद्यालयों में भी आगामी दिनों में चरणबद्ध रूप से स्मार्ट कक्षओं के संचालन के लिए आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराए जाएंगे।
यह भी पढ़ें

सरकार की इस योजना में बेटियों को मिलेंगे 51000 तक के नकद इनाम, आवेदन के लिए यह हैं जरूरी Document



इस तरह से रहेंगी कक्षाएं
ऑनलाइन कक्षाएं शुरू करने के लिए प्रदेश के सभी ब्लॉक के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालयों के संस्था प्रधानों की वीसी के माध्यम से इस विषय पर विस्तार से चर्चा की जाएगी। स्कूलों में विषय अध्यापकों की संख्या और ई-कंटेंट का बैलेंस करते हुए मिशन स्टार्ट में ई- कक्षाओं के माध्यम से 700 से 800 घंटे की कक्षाओं का संचालन किया जा सकता है। साथ ही शनिवार को भी दो सत्रों में सुबह 11 बजे से 12.30 बजे और दोपहर 12.30 बजे से 2 बजे तक विषयों पर चर्चा की जा सकती है। वहीं, स्मार्ट कक्षाओं के संचालन और समय सारणी तैयार करने के लिए स्कूल लेसन गाइडेंस मॉड्यूल तैयार किया गया है। इसके लिए पीडीएफ कॉपी सभी विद्यालयों को भेज दी गई है।

ट्रेंडिंग वीडियो