कपासन, चित्तौडग़ढ़ व निम्बाहेड़ा विधानसभा क्षेत्रों में भी बूथों पर पहुंचे मतदान दल

कपासन, चित्तौडग़ढ़ व निम्बाहेड़ा विधानसभा क्षेत्रों में भी बूथों पर पहुंचे मतदान दल

Nilesh Kumar Kathed | Publish: Apr, 28 2019 10:21:09 PM (IST) | Updated: Apr, 28 2019 10:21:10 PM (IST) Chittorgarh, Chittorgarh, Rajasthan, India

लोकसभा में आगामी पांच वर्ष तक चित्तौडग़ढ़ संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कौन करेगा ये तय करने के लिए सोमवार को 20 लाख से अधिक मतदाता लोकतंत्र का महात्यौहार मनाते हुए मतदान करेंगे। इस महात्यौहार को मनाने के लिए प्रशासनिक स्तर पर तैयारियांं रविवार शाम तक पूरी कर ली गई।


चित्तौडग़ढ़. लोकसभा में आगामी पांच वर्ष तक चित्तौडग़ढ़ संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कौन करेगा ये तय करने के लिए सोमवार को २० लाख से अधिक मतदाता लोकतंत्र का महात्यौहार मनाते हुए मतदान करेंगे। इस महात्यौहार को मनाने के लिए प्रशासनिक स्तर पर तैयारियांं रविवार शाम तक पूरी कर ली गई। जिले के १५०७ सहित संसदीय क्षेत्र के कुल २ हजार ३२७ बूथों पर मतदान होगा। मतदान कराने के लिए निम्बाहेड़ा, चित्तौडग़ढ़ एवं कपासन विधानसभा क्षेत्र के मतदान दल रविवार सुबह अंतिम प्रशिक्षण प्राप्त कर दोपहर तक मतदान केन्द्रों पर पहुंच गए। बड़ीसादड़ी एवं बेगूं विधानसभा क्षेत्रों में शनिवार को ही मतदान दल पहुंच गए थे।
जिला मुख्यालय स्थित शहीद मेजर नटवर सिंह शक्तावत राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में सुबह कपासन, निम्बाहेड़ा व चित्तौडग़ढ़ विधानसभा क्षेत्र के मतदान दलों को प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण प्राप्त करके मतदान दल चुनाव सामग्री प्राप्त कर गंतव्य के लिए प्रस्थान कर गए। इससे पूर्व जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती शिवांगी स्वर्णकार ने मतदान दलों को संबोधित करते हुए कहा कि चुनाव कार्य में पूर्ण निष्पक्षता बरतते हुए कोई परेशानी आती है तो सेक्टर मजिस्ट्रेट व उच्चाधिकारियों से संपर्क कर मार्गदर्शन ले। पुलिस अधीक्षक अनिल कयाल ने कहा कि भयमुक्त माहौल में मतदान कार्य सम्पन्न कराए। शांतिपूर्ण चुनाव के लिए पर्याप्त पुलिस बल लगाया गया है। उप जिला निर्वाचन अधिकारी मुकेश कलाल ने कहा कि प्रशिक्षण में दिए गए निर्देशानुसार चुनाव प्रक्रिया को सम्पन्न कराए। प्रशिक्षण प्रभारी विनय पाठक ने भी मार्गदर्शन दिया। इधर, सामान्य पर्यवेक्षक मिन्हाज आलम ने माइक्रो आब्र्जवर को प्रशिक्षण दिया। आलम ने उनको मतदान केन्द्रों में चुनाव संबंधी प्रत्येक गतिविधियों पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए।
...........
४६ हजार युवा करेंगे पहली बार मतदान
संसदीय क्षेत्र में १८ से १९ वर्ष आयु वर्र्ग के ४६ हजार ५२४ मतदाता है जो पहली बार मतदान करेंगे। इक्कीसवीं सदी में जन्मे इन युवाओं में से कुछ चार माह पहले विधानसभा चुनाव में भी मतदान कर चुके है। संसदीय क्षेत्र में ८० वर्ष से अधिक आयु वाले बुर्जुग मतदाताओं की संख्या ५३ हजार १७८ है। क्षेत्र में २० से २९ वर्ष आयु वर्ग के पांच लाख १४ हजार ४२८ मतदाता है।
................
पहली बार ११ घंटे तक मतदान
पहली बार संसदीय चुनाव में ११ घंटे तक मतदान होगा। चुनाव आयोग ने इस बार मतदान का समय सुबह ७ से शाम ६ बजे तक तय किया है। चार माह पूर्व हुए विधानसभा चुनाव में ये समय ९ घंटे सुबह ८ से शाम ५ बजे तक ही था। समय बढ़ाने से आयोग उम्मीद लगाए हुए है कि मतदान प्रतिशत में वृद्धि होगी। हॉलाकि प्रचण्ड गर्मी के चलते दोपहर के समय मतदान बहुत धीमा रहने की आशंका है। अधिक मतदान सुबह-शाम के समय ही होने के आसार है।
....................
मतदान केन्द्रों पर छाया-पानी के इंतजाम पर खास फोकस
भीषण गर्मी के दृष्टिगत मतदान केन्द्रों पर इस बार छाया-पानी के इंतजाम पर खास फोकस किया गया है। मतदान केन्द्रों पर लगने वाली कतारों के लिए टेंट का इंतजाम किया गया है तो मतदान केन्द्रों से २०० मीटर दूर राजनीतिक दलों द्वारा कायम किए गए जाने वाले बूथों पर भी छाया के लिए व्यवस्था की अनुमति दी गई है। मतदान केन्द्रों पर पेयजल का भी प्रबंध किया गया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned