पृथ्वी शॉ की विस्फोटक बल्लेबाजी के फैन हुए आकाश चोपड़ा, बोले-'पूरे भारत में ऐसा कोई बल्लेबाज नहीं'

श्रीलंका के खिलाफ पहले वनडे मैच में पृथ्वी शॉ ने 24 गेंदों में 43 रनों की विस्फोटक पारी खेली। इस पारी में शॉ ने 9 चौके लगाए।

By: भूप सिंह

Published: 19 Jul 2021, 05:09 PM IST

 

नई दिल्ली। भारत और श्रीलंका (India vs Sri Lanka) के बीच रविवार को 3 वनडे मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला खेला गया। इस मैच में टीम इंडिया के ओपनर बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) ने विस्फोटक बल्लेबाजी करते हुए 24 गेंदों में 43 रनों की पारी खेली। शॉ की की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के फैन हुए भारत के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने कहा कि शॉ की आक्रामक बल्लेबाजी की तुलना किसी अन्य भारतीय बल्लेबाज से नहीं की जा सकती है।

यह खबर भी पढ़ें:—ईशान किशन ने ड्रेसिंग रूम में साथियों से किया था वादा-पहली बॉल कहीं भी आए सिक्स मारूंगा

'शॉ जैसा बल्लेबाज पूरे भारत में नहीं'
अपने यूट्यूब चैनल पर साझा किए गए एक वीडियो में आकाश चोपड़ा ने कहा, 'ऐसा लग रहा था कि श्रीलंका के पास मोमेंटम होगा, लेकिन जब पृथ्वी शॉ आए तो उन्होंने पूरी तरह से मैदान मार लिया। वह अलग तरह के बल्लेबाज हैं। मैं पृथ्वी शॉ का फैन हूं क्योंकि उनके जैसा बल्लेबाज पूरे भारत में नहीं है।'

'2021 शॉ के नाम रहा है'
आकाश चोपड़ा ने कहा कि शॉ विजय हजारे ट्रॉफी की अपनी फॉर्म को बरकरार रखे हुए हैं। उन्होंने कहा, 'पहले भारत के पास विस्फोटक बल्लेबाज के रूप में पहले वीरेंद्र सहवाग हुआ करते थे। लेकिन शॉ ने सिर्फ 24 गेंदों में 43 रन बना डाले। बिना ज्यादा मेहनत किए, बिना कोई चांस लिए, सिर्फ ऑन द राइज और गैप में शॉट खेलकर रन बनाए। मैं क्या कहूं, क्या खिलाड़ी है। 2021 इस खिलाड़ी के नाम रहा है। विजय हजारे ट्रॉफी से लेकर आईपीएल तक और अब। वह शानदार फॉर्म में हैं।'

यह भी पढ़ें— IND vs SL Ist ODI Match : शिखर धवन की यंग ब्रिगेड ने श्रीलंका को पहले वनडे मैच में 7 विकेट से हराया

'शॉ ने विजय हजारे ट्रॉफी में रिकॉर्ड 827 रन बनाए थे'
शॉ ने विजय हजारे ट्रॉफी में मुंबई की कप्तानी करते हुए शानदार बल्लेबाजी की थी। उन्होंने रिकॉर्ड 827 रन बनाए थे। आईपीएल के पहले चरण में भी उन्होंने विस्फोटक बल्लेबाजी करते हुए अपनी फॉर्म को बरकरार रखा था। शॉ की तारीफ करने के साथ आकाश चोपड़ा ने माना कि उनके सिर पर एक बाउंसर गेंद लगी जिसके बाद वह खराब शॉट खेलकर आउट हो गए। चोपड़ा ने कहा कि इस बारे में शॉ को सोचना होगा। ये 43 रन बहुत प्यारे और आक्रामक थे लेकिन लोग 40 के करीब के स्कोर को भूल जाते हैं।'

भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned