एसीयू ने मेजबान संघों को दी चेतावनी, टीम इंडिया की सुरक्षा में न हो किसी तरह की कोताही

एसीयू ने मेजबान संघों को दी चेतावनी, टीम इंडिया की सुरक्षा में न हो किसी तरह की कोताही

Mazkoor Alam | Updated: 21 Sep 2019, 10:07:21 PM (IST) क्रिकेट

एसीयू अध्यक्ष ने अजीत सिंह ने कहा कि मोहाली में जिस तरह की घटना घटी वह बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

नई दिल्ली : दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चल रहे टी-20 सीरीज के दूसरे मैच में सुरक्षा व्यवस्था में भारी चूक दिखी थी। जब टीम इंडिया मोहाली पहुंची थी तो चंडीगढ़ पुलिस की ओर से सुरक्षा के इंतजामात नहीं किए गए थे। इस वजह से विराट कोहली के साथ बड़ा हादसा होते-होते रह गया था। सुरक्षा व्यवस्था के इंतजामात में कोताही का कारण भुगतान में देरी बताया जा रहा है।

आईसीसी ने की बड़ी गलती, राहुल द्रविड़ को बताया बाएं हाथ का बल्लेबाज

पहले दिन नहीं था कोई पुलिस

बता दें कि चंडीगढ़ में पहले दिन होटल में टीम इंडिया के की सुरक्षा के लिए पुलिस नहीं पहुंची थी। होटल की टीम ने ही अपने स्तर से टीम इंडिया के खिलाड़ियों को सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराई थी। दूसरे दिन कहीं जाकर टीम इंडिया की सुरक्षा के लिए पुलिस पहुंची थी। इस बात से खफा भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की भ्रष्टाचार रोधी ईकाई के अध्यक्ष अजीत सिंह ने मेजबान संघों को मैदान के अंदर और मैदान के बाहर खिलाड़ियों की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता रखने के लिए नोटिस भेजा है।

टी-20 से बाहर होने को टेस्ट क्रिकेट में मौके की तरह देख रहे हैं कुलदीप यादव

सभी मेजबान संघों को भेजा गया नोटिस

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने जानकारी दी कि टीम इंडिया की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर यह मेल सभी मेजबान संघों को गया है। उनसे कहा गया है कि इस तरह की चूक अब बर्दाश्त नहीं की जाएगी, क्योंकि इससे कभी भी बेहद खतरनाक स्थिति पैदा हो सकती है। एसीयू अध्यक्ष अजीत सिंह ने कहा कि मेजबान संघों को भेजे गए मेल में स्पष्ट कर दिया गया है कि इस तरह की कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सुरक्षा इंतजामात में कमी होना बड़ा मुद्दा बन सकता है। कई बार प्रशंसक भी सारी हदें पार कर जाते हैं। इस मेल में उन्होंने स्पष्ट लिखा है कि इस बात का ध्यान रखा जाए कि मोहाली जैसी घटना दोबारा न हो। मोहाली में मैच के दौरान स्टेडियम में तीन तरफ से तीन प्रशंसक मैदान में घुस आए थे। इस पत्र में उन्होंने लिखा है कि पिच पर लोगों को आने से रोकने के लिए सुरक्षा स्टाफ बाउंड्री के पास लगाना होगा, साथ में पब्लिक फेंसिंग पर भी उन्हें लगाना होगा। उन्होंने यह भी लिखा है कि इस सुनिश्चित किया जाए कि सुरक्षा स्टाफ दर्शकों की तरफ मुंह खड़ा करके रहे।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned