टी-20 से बाहर होने को टेस्ट क्रिकेट में मौके की तरह देख रहे हैं कुलदीप यादव

टी-20 से बाहर होने को टेस्ट क्रिकेट में मौके की तरह देख रहे हैं कुलदीप यादव

Mazkoor Alam | Publish: Sep, 20 2019 08:43:27 PM (IST) | Updated: Sep, 20 2019 08:45:33 PM (IST) क्रिकेट

कुलदीप यादव कुछ समय से भारतीय टी-20 टीम का हिस्सा नहीं हैं, लेकिन वह इससे निराश नहीं हैं। वह टेस्ट क्रिकेट में वापसी के मौके के रूप में इसे देख रहे हैं।

मैसूरु : भारतीय क्रिकेट टीम के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव को कुछ दिनों पहले तक टीम इंडिया का चमकता सितारा बताया जा रहा था, लेकिन विंडीज दौरे से ही उनके लिए टीम इंडिया में जगह नहीं बन पा रही है। वह टी-20 टीम से बाहर हैं तो विंडीज दौरे पर उनकी जगह टेस्ट टीम में रविंद्र जडेजा को टीम में मौका दिया गया था। अब उन्हें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेली जा रही टी-20 सीरीज में भी टीम में जगह नहीं मिली है। इसके बावजूद वह इस बात से निराश नहीं हैं। उनका कहना है कि कोई बात नहीं, अगर उन्हें टी-20 टीम में जगह नहीं मिली है तो इसका फायदा उन्हें टेस्ट मैच की तैयारी में मिलेगी। इस समय वह इंडिया-ए की तरफ दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेल रहे हैं।

टूट गया था अंगूठा, उसके बावजूद इंग्लैंड के खिलाफ अंतिम टेस्ट में खेले कंगारू कप्तान पेन

लगातार नहीं खेलते तो लय में आने में होती है दिक्कत

इंडिया ए के खिलाफ दूसरा अनाधिकारिक टेस्ट मैच ड्रॉ समाप्त होने के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए कुलदीप ने कहा कि अगर आप लगातार टेस्ट नहीं खेलते हो तो प्रारूप में खेलना काफी मुश्किल होता है। लय में आने में समय लगता है और अगर आप सीमित ओवरों में खेलते रहते हैं तो टेस्ट क्रिकेट में लय में आने में और भी मुश्किल होती है। इस फॉर्मेट में लंबे स्पैल डालने होते हैं। अभ्यास मैच खेलने होते हैं और साथ में यह भी समझना होता है कि फील्ड कैसे जमानी है और विकेट कैसे लेनी है। इसलिए उनके लिए जरूरी था कि वह इंडिया-ए के लिए खेलें और ज्यादा से ज्यादा ओवर फेंके। उन्होंने कहा कि अभी उन्हें काफी काम करना है।

सुनील गावस्कर ने 600 वंचित वर्ग के बच्चों के दिल के ऑपरेशन के लिए जुटाई राशि

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मिल सकता है मौका

कुलदीप यादव भारत की टेस्ट टीम का हिस्सा हैं। वह विंडीज दौरे पर भी भारतीय टीम में शामिल हैं। हालांकि उन्हें अंतिम-11 में जगह नहीं मिली थी। लेकिन उन्हें उम्मीद है कि घरेलू सीरीज में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उन्हें मौका मिल सकता है। यहां अफ्रीका को भारत के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी हैं। इसकी वजह यह है कि भारत में टीम इंडिया दो स्पिनरों के साथ उतर सकती है। कुलदीप ने कहा कि वह, रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा टीम में तीन स्पिनर हैं। सही संयोजन चुनना काफी मुश्किल होता है। लेकिन अगर मौका मिलता है तो उसे भुनाने को तैयार रहना पड़ता है। जाहिर सी बात है कि ऐसे में अगर आपको कम मौके मिलते हैं तो आप पर दवाब भी रहता है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned