मैच फीस को लेकर बोर्ड से नाराज हैं पाकिस्तान के टॉप क्रिकेटर्स, कप्तान बाबर आजम के सब्र का बांध भी टूटा

पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के टॉप क्रिकेटर्स अपनी कम सैलेरी और मैच फीस से परेशान हैं और उन्होंने इस बारे में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड से अपील भी है। ऐसे में पाकिस्तानी क्रिकेटर्स बोर्ड से काफी नाराज हैं।

By: Mahendra Yadav

Updated: 12 Aug 2021, 10:13 AM IST

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड में शामिल है। बीसीसीआई अपने खिलाड़ियों को अच्छी सैलेरी और सुविधाएं देता है। वहीं कुछ क्रिकेट बोर्ड ऐसे भी हैं, जो अपने खिलाड़ियों को ज्यादा मैच फीस या सैलरी नहीं दे पा रहे हैं। पिछले दिनों श्रीलंका के क्रिकेटर्स ने सैलेरी को लेकर नाराजगी जताई थी। अब पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के टॉप क्रिकेटर्स भी अपनी कम सैलेरी से परेशान हैं और उन्होंने इस बारे में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड से अपील भी है। दरअसल, पाकिस्तानी क्रिकेटर्स अपनी मैच फीस से खुश नहीं हैं। ऐसे में मैच फीस को लेकर पाकिस्तानी क्रिकेटर्स और बोर्ड आमने—सामने हो गए हैं।

इन क्रिकेटर्स ने की बोर्ड से अपील
रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान बाबर आजम, विकेटकीपर मुहम्मद रिजवान, ऑलराउंडर हसन अली और तेज गेंदबाज शाहीन शाह अफरीदी सहित शीर्ष क्रिकेटरों ने पीसीबी से मैच फीस में बढ़ोतरी करने की अपील की है। वेबसाइट 'क्रिकेट पाकिस्तान' की रिपोर्ट के अनुसार, हाल ही में पीसीबी ने इन चारों क्रिकेटर्स को ‘ए’ ग्रेड अनुबंध दिया था। अब इन्होंने बोर्ड से कहा है कि इनकी मैच फीस को संशोधित किया जाना चाहिए।

मैच फीस में नहीं की गई बढ़ोतरी
रिपोर्ट के अनुसार, ये क्रिकेटर्स अपनी मैच फीस से खुश नहीं हैं क्योंकि नए कॉन्ट्रैक्ट में उनकी टेस्ट, वनडे और टी20 मैच फीस में बढ़ोतरी नहीं की गई है। पीसीबी ने जुलाई माह में 20 खिलाड़ियों के लिए केंद्रीय अनुबंध सूची 2021-22 की घोषणा की थी। इस अनुबंध के अनुसार सिर्फ कप्तान बाबर आजम, रिजवान, हसन और शाहीन को ग्रेड ए में लिया गया है। इसके अलावा पूर्व कप्तान अजहर अली और सरफराज अहमद सहित अन्य वरिष्ठ खिलाड़ियों को ग्रेड बी और सी में ट्रांसफर कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें—विराट कोहली की खराब फॉर्म पर उठे सवाल तो पाकिस्तानी क्रिकेटर ने किया सपोर्ट

pcb.png

सी कैटेगरी के सभी फॉर्मेट में की गई बढ़ोतरी
'ए' ग्रेड में शामिल किए गए खिलाड़ियों के लिए 25 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है, लेकिन मैच फीस में कोई बदलाव नहीं किया गया। वहीं 'बी' ग्रेड में 25 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इसके साथ ही इनकी टेस्ट फीस में 15 प्रतिशत बढ़ाई गई है। जबकि 'बी' ग्रेड के लिए वनडे में 20 प्रतिशत जबकि टी20 अंतरराष्ट्रीय में 25 प्रतिशत की वृद्धि की गई। वहीं 'सी' कैटेगरी वाले खिलाड़ियों के लिए सभी फॉर्मेट में अच्छी खासी बढ़ोतरी हुई है। उनकी टेस्ट मैच फीस में 34 प्रतिशत, वनडे में 50 प्रतिशत और टी20 अंतरराष्ट्रीय में 67 प्रतिशत की वृद्धि की घोषणा की गई है। इसी वजह से 'ए' कैटेगरी में शामिल खिलाड़ी मैच फीस में बढ़ोतरी न होने से नाराज हैं।

यह भी पढ़ें— पाकिस्तान की कश्मीर प्रीमियर लीग को मान्यता देने के पक्ष में नहीं बीसीसीआई, आईसीसी को लिखा पत्र

जानिए कितनी सैलेरी मिलती है पाकिस्तानी क्रिकेटर्स को
पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट के 'ए' ग्रेड में शामिल क्रिकेटर्स को मात्र 46 लाख रुपए सालाना मिलते हैं। वहीं ग्रेड 'बी' में शामिल खिलाड़ियों को 28 लाख और ग्रेड 'सी' के खिलाड़ी को 19 लाख रुपए मिलते हैं। इसके साथ ही पाकिस्तान के खिलाड़ियों की टेस्ट, वनडे और टी20 मैच फीस बेहद कम है। पाकिस्तान के खिलाड़ियों को एक टेस्ट के 3.6 लाख रुपए मिलते हैं। वनडे मैच के लिए 2.2 लाख और एक टी20 मैच के उन्हें 1.6 लाख रुपए मिलते हैं।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned