नए क्रिकेट टूर्नामेंट 'द हंड्रेड' में 5 गेंद का होगा ओवर, जानिए अन्य नियमों के बारे में

इस लीग में पावरप्ले 25 गेंदों का रखा गया है। पावरप्ले के दौरान सिर्फ दो खिलाड़ी ही 20 गज के घेरे के बाहर रह सकेंगे।

By: Mahendra Yadav

Published: 14 Jul 2021, 10:25 AM IST

अगले सप्ताह से इंग्लैंड में क्रिकेट का एक नया टूर्नामेंट शुरू होने वाला है। यह टूर्नामेंंट न तो टी10 है और न ही टी20, बल्कि यह 100 गेंद वाला नया टूर्नामेंट होगा, जिसे 'द हंड्रेड' नाम दिया गया है। इसका पहला सीजन 21 जुलाई से शुरू होगा। इस टूर्नामेंट के नियम भी तैयार हो गए हैं और इन नियमों को सार्वजनिक भी कर दिया गया है। इस क्रिकेट टूर्नामेंट में अन्य क्रिकेट लीग से अलग नियम हैं। इसमें जो मैच होंगे, उनमें प्रत्येक पारी में 100 गेंद खेली जाएंगी। वहीं इस लीग के पहले सत्र में ओवर 5 गेंद का होगा।

लगातार 10 गेंद फेंक सकता है बॉलर
इसमें ओवर तो पांच गेंद का ही होगा, लेकिन गेंदबाज लगातार दस गेंद भी फेंक सकता है। पांच गेंद यानी ओवर पूरा होने पर अंपायर सफेद कार्ड को ऊपर उठाकर संकेत देगा कि गेंदबाज के कोटे की पांच गेंद हो चुकी हैं। वहीं इस लीग में पावरप्ले 25 गेंदों का रखा गया है। पावरप्ले के दौरान सिर्फ दो खिलाड़ी ही 20 गज के घेरे के बाहर रह सकेंगे। वहीं फिल्डिंग करने वाली टीम दो मिनट का स्ट्रैटेजिग टाइमआउट ले सकती है और यह पारी के दौरान कभी भी किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें— भारत की पांच महिला क्रिकेटर लेंगी 'द हंड्रेेड' टूर्नामेंट में हिस्सा

the_hundred.png

डीआरएस का इस्तेमाल
इंग्लैंड एंड क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने द हंड्रेड टूर्नामेंट के आयोजन के लिए नियमों की जानकारी देते हुए बताया कि टॉस डीजे स्टैंड पर होगा। इसके साथ ही पहली बार इंग्लैंड में घरेलू क्रिकेट में डीआरएस का इस्तेमाल किया जाएगा। इस लीग में कई देशों के खिलाड़ी हिस्सा लेंगे। भारतीय महिला क्रिकेट टीम की शैफाली वर्मा, हरमनप्रीत कौर, जेमिमा रॉड्रिग्स, स्मृति मंधाना और दीप्ति शर्मा 'द हंड्रेड' महिला टूर्नामेंट में हिस्सा लेंगी।

यह भी पढ़ें— IND vs SL: वनडे और टी20 मैचों की टाइमिंग में भी हुआ बदलाव, यहां जानें पूरा शेड्यूल

एक गेंदबाज फेंक सकता है अधिकतम 20 गेंद
इस लीग में एक बॉलर अधिकतम 20 गेंद ही फेंक सकता है। इसको वह चाहे तो 4 बार में पांच—पांच गेंदें फेंक सकता है या फिर दो बार में 10—10 गेंद। लगातार दस गेंद फेंकने का फैसला उस टीम के कप्तान को लेना होगा। मैचों के दौरान दोनों पारियों में अलग-अलग सफेद कूकाबुरा गेंदों का इस्तेमाल होगा और एक छोर से एक बार में 10 गेंदें फेंकी जाएंगी, जिन्हें पांच-पांच के दो भागों में भी किया जा सकेगा। नो बॉल के लिए दो रन रखे गए हैं।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned