ENG Vs AUS : इंग्लैंड की करिश्माई जीत, आखिरी विकेट के लिए 76 रन की रिकॉर्ड साझेदारी

Ben Stokes ने नाबाद 135 रनों की पारी खेली और आखिरी विकेट के लिए जैक लीच के साथ मिलकर 76 रनों की मैच जिताऊ साझेदारी की।

By: Mazkoor

Updated: 26 Aug 2019, 07:09 AM IST

लीड्स : इंग्लैंड ( England cricket team ) ने हेडिंग्ले मैदान पर खेले गए एशेज सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन रविवार को बेन स्टोक्स ( Ben Stokes ) के नाबाद शतक की मदद से ऑस्ट्रेलिया ( Australia cricket team ) को रोमांचक अंदाज में एक विकेट से हरा कर सीरीज 1-1 से बराबरी पर पहुंचा दिया।

पहली पारी में 67 रन पर ढेर होने के बाद भी जीती इंग्लैंड

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 179 रन का स्कोर बनाया था और इसके जवाब में इंग्लैंड की टीम पहली पारी में महज 67 रन पर ढेर हो गई थी। इस तरह ऑस्ट्रेलिया को पहली पारी में 112 रन की बढ़त हासिल हुई थी। दूसरी पारी में उसने 246 रन का स्कोर बनाकर इंग्लैंड के सामने जीत के लिए 359 रनों का मुश्किल लक्ष्य रखा। इस लक्ष्य को इंग्लैंड ने नौ विकेट खोकर हासिल कर लिया। इस जीत के हीरो रहे बेन स्टोक्स और जैक लीच। स्टोक्स ने 219 गेंदों पर 11 चौके और आठ छक्कों की मदद से 135 रन की नाबाद शतकीय पारी खेली। यह उनके करियर का आठवां शतक है। वहीं लिच ने रन तो महज एक बनाए, लेकिन अपना विकेट नहीं गंवाया।

भले टीम इंडिया के बल्लेबाजी कोच नहीं रहे संजय बांगड़, पर आईपीएल में हैं भारी मांग

आखिरी विकेट के लिए की नाबाद 76 रनों की साझेदारी

इंग्लैंड की टीम एक समय 286 रन तक अपने नौ विकेट गंवा कर हार के कगार पर खड़ी थी। उसे जीत के लिए 73 रनों की दरकार थी और मैदान पर अंतिम जोड़ी मौजूद थी। यहां से स्टोक्स ने जैक लीच के साथ 10वें विकेट के लिए 76 रनों की मैच जिताऊ साझेदारी कर ऑस्ट्रेलिया के मुंह से निश्चित जीत छीन ली। इस तरह बेन स्टोक्स ने इंग्लैंड को विश्व कप में असंभव सी जीत दिलाने के बाद एक बार फिर इसी तरह का कारनामा एक बार और कर दिखाया।

ईशांत शर्मा ने खोला कातिलाना गेंदबाजी का राज, बताया जसप्रीत बुमराह ने दी थी यह टिप्स

इंग्लैंड ने रचा इतिहास

इंग्लैंड ने यह टेस्ट मैच जीतकर इतिहास रच दिया है। इससे पहले इंग्लैंड की टीम टेस्ट क्रिकेट में कभी 350 से ज्यादा का लक्ष्य हासिल नहीं कर पाई थी। इसके अलावा हेडिंग्ले में इससे पहले सिर्फ एक बार 71 साल पहले 350 से ज्यादा का लक्ष्य हासिल हुआ था। 1948 में ब्रेडमैन की कप्तानी वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम ने इस मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ 404 रन का लक्ष्य हासिल किया था। इस मैच में डॉन ब्रैडमैन ने 173 रन बनाए थे तो वहीं ऑर्थर मॉरिस ने 182 रन बनाए थे। इन दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 301 रन की साझेदारी की थी।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned