पिछले पांच रणजी सीजन में ये कारनामा किया है हनुमा ने, आज कन्धों पर है भारतीय टीम की जिम्मेदारी

पिछले पांच रणजी सीजन में ये कारनामा किया है हनुमा ने, आज कन्धों पर है भारतीय टीम की जिम्मेदारी

Siddharth Rai | Publish: Sep, 09 2018 01:38:25 PM (IST) क्रिकेट

इस मैच में भी भारतीय बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर पाए। ऐसे में टीम की जिमेदारी अपना पहला मैच खेल रहे युवा बल्लेबाज हनुमा विहारी पर है। हनुमा क्रीज़ पर जमे हुए हैं और अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं हनुमा को टीम में जगह कैसे मिली। दरअसल हनुमा के नाम पर रणजी ट्रॉफी का एक ऐसा रिकॉर्ड है जो भारत के किसी भी दिग्गज खिलाड़ी के नाम नहीं है।

नई दिल्ली। भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का आखिरी टेस्ट मैच लंदन के ओवल मैदान में खेला जा रहा है। इस मैच में इंग्लैंड के गेंदबाजों ने शानदार गेंदबाजी करते हुए मैच में पकड़ बना ली है। इसकी बड़ी वजह भारतीय बल्लेबाजों का लगातार फ्लॉप होना है। इस मैच में भी भारतीय बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर पाए। ऐसे में टीम की जिमेदारी अपना पहला मैच खेल रहे युवा बल्लेबाज हनुमा विहारी पर है। हनुमा क्रीज़ पर जमे हुए हैं और अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं हनुमा को टीम में जगह कैसे मिली। दरअसल हनुमा के नाम पर रणजी ट्रॉफी का एक ऐसा रिकॉर्ड है जो भारत के किसी भी दिग्गज खिलाड़ी के नाम नहीं है।

हनुमा ने ठोके हैं पांच दोहरे शतक
जी हां! हनुमा विहारी भारत के ऐसे इकलौते खिलाड़ी हैं जिन्होंने रणजी ट्रॉफी के पिछले पांच सीजन में हर बार दोहरा शतक लगाया है। इस साल रणजी ट्रॉफी में हनुमा ने 10 परियों में 94.00 के औसत से 752 रन ठोके थे जिसमें दो शतक और तीन अर्धशतक शामिल थे। इस साल हनुमा ने एक तेहरा शतक भी लगाया था। उनका सर्वोच्च स्कोर 302 रन था। इतना ही नहीं इंग्लैंड के साथ खेले जा रहे इस आखिरी मैच में भी हनुमा अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं। हनुमा विहारी (25) रन बनाकर नाबाद खेल रहे हैं। विहारी अब तक 50 गेंदों की पारी में तीन चौके और एक सिक्स लगा चुके हैं। भारत हनुमा से एक अच्छी पारी की उम्मीद करेगा ताकि टीम इंग्लैंड के 332 के स्कोर के करीब पहुंच सके। हनुमा के साथ इस सीरीज का अपना पहला मैच खेल रहे रवींद्र जडेजा (8) रन बना कर खेल रहे हैं।

भारतीय बल्लेबाजी संकट में
भारतीय टीम अपनी पहली पारी में 51 ओवर में 174 रन तक अपने छह विकेट गंवाकर संकट में पड़ता दिख रहा है। भारत अभी इंग्लैंड द्वारा पहली पारी में बनाए गए 332 के स्कोर से 158 रन पीछे है जबकि उसके चार विकेट शेष हैं। स्टंप्स के समय रवींद्र जडेजा (8) और अपना पदार्पण मैच खेल रहे हनुमा विहारी (25) रन बनाकर नाबाद लौटे। भारत ने तीसरे सत्र में 121 रन बनाए और पांच विकेट गंवाए। इससे पहले, इंग्लैंड को 332 रन पर ऑलआउट करने के बाद अपनी पहली पारी में बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम की शुरूआत सही नहीं रही।मेहमान टीम को छह रन के स्कोर पर ही शिखर धवन (3) के रूप में पहला झटका लगा। धवन को स्टुअर्ट ब्रॉड ने पगबाधा आउट किया। इसके बाद लोकेश राहुल (37) और चेतेश्वर पुजारा (37) ने दूसरे विकेट के लिए 64 रन की अर्धशतकीय साझेदारी की। राहुल टीम के 70 स्कोर पर सैम कुरेन की गेंद पर बोल्ड हो गए। पुजारा टीम के 101 के स्कोर पर तीसरे बल्लेबाज के रूप में आउट हुए। पुजारा के आउट होते ही अजिंक्या रहाणे आठ गेंदों पर खाता खोले बिना टीम के 103 के स्कोर पर चौथे बल्लेबाज के रूप में आउट हुए। रहाणे के सस्ते में निपटने के बाद कप्तान कोहली (49) ने विहारी के साथ पांचवें विकेट के लिए 51 रन की साझेदारी की। कोहली अपने अर्धशतक बनाने से चूक गए। कोहली टीम के 154 के स्कोर पर आउट हुए।

Ad Block is Banned