आइसीसी की बैठक में नहीं होगी पाकिस्‍तान के बहिष्‍कार पर चर्चा, सुरक्षा व्‍यवस्‍था पर होगी बात

  • बुधवार से होगी आइसीसी की बैठक
  • यह बैठक आइसीसी मुख्‍यालय दुबई में होगी
  • इसमें विश्‍व कप 2019 के दौरान की गई सुरक्षा व्‍यवस्‍था पर चर्चा होगी

By: Mazkoor

Updated: 26 Feb 2019, 04:44 PM IST

मुंबई : पुलवामा आतंकी हमले के बदले के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) की मुख्य कार्यकारी समिति (सीईसी) की तिमाही बैठक बुधवार को आइसीसी मुख्‍यालय दुबई में होने वाली है। इस बैठक में विश्‍व कप 2019 में सुरक्षा व्‍यवस्‍था को लेकर उठाए गए भारत के संदेहों को सीईसी दूर करने की कोशिश करेगी। यह मसला पत्र लिखकर बीसीसीआइ के सीईओ राहुल जौहरी ने उठाया था और बिना पाकिस्‍तान का नाम लिए आतंकवाद पोषक देशों का बहिष्‍कार करने की बात कही थी। लेकिन बीसीसीआइ के इस अहम सवाल पर आइसीसी की बैठक में कोई चर्चा होने की कोई संभावना नहीं दिख रही है।

पुलवामा हमले के बाद भारत ने लिखी थी चिट्ठी
पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद होने के बाद बीसीसीआइ ने आइसीसी को चिट्ठी लिखकर यह मांग रखी थी। इसके बाद से ही भारत में इस बात को लेकर बहस चल रही है कि विश्‍वकप के दौरान 16 जून को मैनचेस्टर में पाकिस्‍तान के साथ भारत को होने वाले अपने मैच का बहिष्कार करना चाहिए।

सीईसी करेगी जौहरी के पत्र पर चर्चा
आइसीसी की तिमाही बैठक बुधवार को दुबई में मुख्य कार्यकारियों (सीईसी) की बैठक में बीसीसीआइ सीईओ राहुल जौहरी के पत्र के कुछ मांगों पर चर्चा होगी। इसमें इंग्लैंड में 30 मई से शुरू होने वाले विश्‍व कप के दौरान खिलाड़ियों और अधिकारियों की सुरक्षा व्‍यवस्‍था अहम होगी। बीसीसीआइ के एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर यह जानकारी दी। उन्‍होंने बताया कि आइसीसी विश्व कप के लिए की गई सुरक्षा व्यवस्था के बारे में विस्तार से जानकारी देगी। यह सभी व्‍यवस्‍था विश्‍व कप में भाग लेने वाले सभी देशों के लिए एक समान होगी। यह जिम्‍मेदारी इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड की है, जो हमेशा उच्च स्तर की व्यवस्था करता है। चूंकि सुरक्षा व्‍यवस्‍था को लेकर आशंकाएं सामने आई है तो बैठक में उसे दूर किया जाएगा।

आइसीसी संबंध तोड़ने के लिए नहीं कह सकता
बीसीसीआइ अधिकारी ने बताया कि वह आइसीसी की कई मीटिंग में भाग ले चुके हैं और आइसीसी किसी देश को अन्य सदस्य देश से संबंध तोड़ने के लिए नहीं कह सकता। ऐसा करना सही नहीं होगा। यह कूटनीतिक मामला है, जिसे सरकारी स्तर पर ही निबटा जा सकता है। इसलिए बैठक में पाकिस्तान का बहिष्कार करने पर चर्चा होने की संभावना नहीं है, क्योंकि आइसीसी के पास विकल्प ही नहीं है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned