जडेजा के प्रदर्शन प्रभावित हुए सहवाग, बोले-'अभी तो उन्हें बल्ले से और चमत्कार करना है'

टीम इंडिया के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि अभी जडेजा को अपनी क्षमता का एहसास नहीं हैं। अभी उनके बल्ले से शानदार प्रदर्शन आना बाकी है।

By: भूप सिंह

Published: 12 Aug 2021, 04:44 PM IST

नई दिल्ली। टीम इंडिया (Indian Cricket Team) के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (Virenda Sehwag) क्रिकेट जगत में अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए पहचाने जाते हैं। अब जब वह रिटायरमेंट के बाद किसी भारतीय खिलाड़ी की तारीफ करते हैं तो सबको सुनना अच्छा लगता है। अपने क्रिकेट कॅरियर में रिकॉर्ड्स की झड़ी लगाने वाले सहवाग, ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) के प्रदर्शन से काफी प्रभावित हैं। हाल ही उन्होंने मीडिया से बातचीत में जडेजा की तारीफ करते हुए कहा कि अभी तो इस ऑलराउंडर को अपने बल्ले से शानदार प्रदर्शन करना बाकी है।

यह भी पढ़ें— शोएब अख्तर ने किया खुलासा-अगर उस वक्त सचिन तेंदुलकर को कुछ हो जाता तो लोग मुझे जिंदा जला देते

'अभी जडेजा को उनकी क्षमता का एहसास नहीं है'
रवींद्र जडेजा ने नॉटिंघम के ट्रेंट ब्रिज में खेले पहले टेस्ट मैच में केएल राहुल के साथ छठे विकेट के लिए 60 रन जोड़े थे। जडेजा ने इस मैच में 56 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली थी, जिसकी बदौलत टीम इंडिया को 95 रनों ही बढ़त हासिल हुई थी। हाल ही सहवाग ने कहा, 'अब जडेजा भारत के लिए एक मुख्य बाएं हाथ के स्पिनर गेंदबाज हैं और बल्ले से उनका योगदान है। उन्होंने अभी तक अपनी क्षमता को एहसास नहीं किया है, लेकिन पहले से ही शानदार हैं।'

'अच्छी सोच के साथ आए जडेजा'
सहवाग ने कहा, 'जब मैं टीम इंडिया का उपकप्तान था तो हमारी सोच थी कि टीम में एक ऐसा गेंदबाज लाए जो बल्लेबाजी भी करे और मुख्य गेंदबाजों को ब्रेक भी दे। जडेजा उसी सोच के साथ आए। विचारशील।'

यह खबर भी पढ़ें:—सचिन तेंदुलकर ने अपने टेस्ट कॅरियर में लगाए 51 शतक फिर भी नहीं बना पाए ये तीन रिकॉर्ड

'जडेजा टेस्ट टीम के महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं'
सहवाग ने कहा कि जडेजा भारतीय टेस्ट टीम के मौजूदा बल्लेबाजी क्रम में एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं। खासकर जब हम टेस्ट टीम की बात करते है तो वह पहले 25—30 ओवर गेंदबाजी करते हैं और फिर मुख्य बल्लेबाजों के आउट होने के बाद 7 या 8 नंबर पर बल्लेबाजी करते हैं। सहवाग ने कहा कि नॉटिघंम में खेले गए पहले टेस्ट में रवींद्र जडेजा ने 56 रन बनाए। वे महत्वपूर्ण थे। शायद, उनके 56 रनों की वजह से केवल भारत को बढ़त मिली और इंग्लैंड से आगे निकल गया।

भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned