scriptNavjot Singh Sidhu when sachin tendulkar injured on waqar younis ball | सचिन तेंदुलकर के नाक से बह रहा था खून, फिर भी बोला- 'मैं खेलेगा' | Patrika News

सचिन तेंदुलकर के नाक से बह रहा था खून, फिर भी बोला- 'मैं खेलेगा'

क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर (sachin tendulkar) जब 15 साल के थे तब पाकिस्तान के खूंखार गेंदबाजी लाइनअप के खिलाफ खेलते हुए उनके साथ एक दर्दनाकर घटना घटी थी। नवजोत सिंह सिद्धू ने बीते दिनों सचिन तेंदुलकर से जुड़ा एक ऐसा किस्सा शेयर किया है जिसने उनमें जान फूंक दी थी।

Updated: January 18, 2022 12:51:00 pm

'यूं ही नहीं कोई सचिन तेंदुलकर बन जाता' सचिन तेंदुलकर (sachin tendulkar) केवल एक नाम नहीं बल्कि करोड़ो दिलों की धड़कन है। इंटरनेशनल क्रिकेट में कुछ ही ऐसे रिकॉर्ड होंगे जिसे मास्टर ब्लास्टर ने ना तोड़ा हो।छोटे कद का लड़का जो आगे चलकर क्रिकेट का भगवान बन गया उसके इंसान से भगवान बनने की कहानी काफी दिलचस्प रही है। सचिन तेंदुलकर जब 15 साल के थे तभी उन्होंने इस चीज की नींव रख दी थी। टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने सचिन से जुड़ा एक हैरान कर देने वाला किस्सा शेयर किया था। सिद्धू ने बताया कि कैसे व़कार युनुस (Waqar Younis) की गेंद पर खून-खच्चर होने के बावजूद सचिन तेंदुलकर ने मैदान नहीं छोड़ा था।
sachin tendulkar
sachin tendulkar
किस्सा है 14 दिसंबर, 1989 का जब टीम इंडिया पाकिस्तान के खिलाफ सियालकोट के मैदान पर चौथा टेस्ट मैच खेल रही थी। टीम इंडिया के बल्लेबाज पाकिस्तानी गेंदबाजों इमरान खान, वसीम अकरम और वक़ार युनुस के सामने पूरी तरह से बेबस नजर आ रहे थे। हरी पिच पर पाकिस्तान के गेंदबाज आग बरसा रहे थे आलम ये रहा कि टीम इंडिया ने 22 रन पर ही अपने 4 विकेट गंवा दिए। इसके बाद बल्लेबाजी के लिए आए 15 साल के सचिन तेंदुलकर।
नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, 'सचिन तेंदुलकर जब बल्लेबाजी के लिए आ रहा था तब मैंने सोचा ये बलि का बकरा है। ये तो आउट होगा ही। जैसे ही सचिन ने वकार युनुस की दूसरी गेंद को हुक करने का प्रयास किया वैसे ही गेंद ने उनके बल्ले का किनारा लिया और उनकी नाक से टकराई। सचिन पिच पर गिर गए उनकी नाक से खून बह रहा था और वो काफी दर्द में थे। एक पल के लिए मुझे लगा कि ये बचेगा भी की नहीं बचेगा।'
यह भी पढ़ें

हरभजन सिंह ने चुनी अपनी ऑल-टाइम XI

नवजोत सिंह सिद्धू ने आगे कहा, 'मैं जब नॉनस्ट्राइकर एंड पर जा रहा था और सोच रहा था कि अब हमारी टीम का क्या होगा। तब मुझे एक धीमी सी आवाज सुनाई दी ये आवाज सचिन तेंदुलकर की थी वो कह रहे थे- मैं खेलेगा। मैंने पीछे मुड़ककर देखा उसकी नाक से खून बह रहा था और वो बोल रहा था मै खेलेगा। अगर मेरे चोट लगी हुई होती तो मैं ऐसा कभी नहीं कर पाता।'

बता दें कि इस मैच में सचिन तेंदुलकर ना केवल खेले बल्कि धागा ही खोल दिया। 15 साल के सचिन ने पाकिस्तान की खूंखार गेंदबाजी के सामने 57 रनों की पारी खेली और बता दिया कि क्रिकेट के मैदान पर एक नए सितारे का जन्म हो गया है। सचिन ने इसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा और भारत के लिए 200 टेस्ट मैच और 463 वनडे मुकाबले खेले।
यह भी पढ़ें

सचिन तेंदुलकर ने चुनी अपनी ऑल-टाइम XI

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

Asia Cup में भारत ने इंडोनेशिया को 16-0 से रौंदा, पाकिस्तान का सपना चूर-चूर करते हुए दिया डबल झटकामानसून ने अब तक नहीं दी दस्तक, हो सकती है देरखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचलमहंगाई का असर! परिवहन मंत्रालय ने की थर्ड पार्टी बीमा दरों में बढ़ोतरी, नई दरें जारी'तमिल को भी हिंदी की तरह मिले समान अधिकार', CM स्टालिन की अपील के बाद PM मोदी ने दिया जवाबहिन्दी VS साऊथ की डिबेट पर कमल हासन ने रखी अपनी राय, कहा - 'हम अलग भाषा बोलते हैं लेकिन एक हैं'अजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातबोरवेल में गिरा 12 साल का बालक : माधाराम के देशी जुगाड़ से मिली सफलता, प्रशासन ने थपथपाई पीठ
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.