90 के दशक में डेब्यू करने वाले आखिरी खिलाड़ी रंगना हेराथ ने लिया संन्यास

90 के दशक में डेब्यू करने वाले आखिरी खिलाड़ी रंगना हेराथ ने लिया संन्यास

Siddharth Rai | Publish: Nov, 10 2018 10:34:47 AM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 10:34:48 AM (IST) क्रिकेट

श्रीलंका क्रिकेट टीम के सबसे अनुभवी खिलाड़ियों में से एक दिग्गज लेफ्ट आर्म स्पिनर रंगना हेराथ ने कहा है कि उनके अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने का यह सही समय था। 40 वर्षीय हेराथ ने पहले ही यह ऐलान कर दिया था कि इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लेंगे और अब उन्होंने यहां गॉल इंटरनेशनल स्टेडियम में इंग्लैंड और श्रीलंका के बीच खेले गए पहले टेस्ट मैच के बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया।

नई दिल्ली। श्रीलंका के दिग्गज स्पिनर रंगना हेराथ ने क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। हेराथ के संन्यास से एक खिलाड़ी का ही नहीं बल्कि एक युग का अंत हो गया है। 40 साल के हेराथ 90 के दशक में डेब्यू करने वाले आखिरी खिलाड़ी हैं। बचपन में जिन खिलाड़ियों को आज के युवाओं ने खेलते देखा था उनमें आखिरी नाम हेराथ का है। शुक्रवार को इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए टेस्ट मैच हेराथ आखिरी बार मैदान पर उतरे। हालाँकि श्रीलंका उन्हें विजयी विदाई नहीं दे सका।

संन्यास का ऐलान पहले ही कर दिया था -
श्रीलंका क्रिकेट टीम के सबसे अनुभवी खिलाड़ियों में से एक दिग्गज लेफ्ट आर्म स्पिनर रंगना हेराथ ने कहा है कि उनके अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने का यह सही समय था। 40 वर्षीय हेराथ ने पहले ही यह ऐलान कर दिया था कि इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लेंगे और अब उन्होंने यहां गॉल इंटरनेशनल स्टेडियम में इंग्लैंड और श्रीलंका के बीच खेले गए पहले टेस्ट मैच के बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया।

 

rangana

श्रीलंका विजयी विदाई नहीं दे सका -
क्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार, श्रीलंका को इस मैच में इंग्लैंड के हाथों 211 रन से हार का सामना करना पड़ा जिसकी बदौलत हेराथ की यह विदाई थोड़ी फिकी रही। हेराथ ने मैच के बाद कहा, "हारना, कभी भी अच्छा परिणाम नहीं होता लेकिन यह खेल का एक हिस्सा है। हम अच्छी क्रिकेट खेलना चाहते थे। उम्मीद है कि खिलाड़ी दूसरे और तीसरे मैच में मजबूती से वापसी करेंगे।" हेराथ ने अपने टेस्ट करियर के दौरान श्रीलंका के लिए 93 टेस्ट मैच खेले जिसमें उन्होंने कुल 433 विकेट अपने नाम किए। उन्होंने इसके अलावा अपने देश के लिए 71 वनडे और 17 टी-20 अंतर्राष्ट्रीय मैच भी खेले हैं।

संन्यास के बाद ये कहा हेराथ ने -
उन्होंने कहा, "यह एक भावुक क्षण है। लेकिन हर किसी को सही समय पर फैसला लेना होता है। मैंने जितने साल भी अपने देश के लिए क्रिकेट खेली, उस दौरान मेरा समर्थन करने के लिए मैं लोगों, खासकर टीम साथियों और श्रीलंका क्रिकेट को धन्यवाद देना चाहता हूं।" हेराथ ने इसी मैदान पर टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया था और अब उन्होंने इसी मैदान से क्रिकेट को अलविदा कहा है। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में आठवें सबसे सफल गेंदबाज हेराथ ने कहा, "अपने देश के लिए खेलना मेरे लिए गर्व और सम्मान की बात है। श्रीलंका में 2.2 करोड़ लोग हैं और उनमें से कुछ लोगों को ही अपने देश के लिए खेलने का मौका मिल पाता है, इसलिए किसी भी खिलाड़ी के लिए एक बड़ी उपलब्धि है।" उन्होंने अपने आखिरी टेस्ट मैच की पहली पारी में 78 रन पर एक विकेट और दूसरी पारी में 59 रन पर दो विकेट हासिल किए।

Ad Block is Banned