IND vs ENG: वर्ल्ड कप में थमा टीम इंडिया का विजय रथ, धोनी नहीं बल्कि ये खिलाड़ी हैं हार के जिम्मेदार

World Cup के इस महामुकाबले में इंग्‍लैंड ने पहले बल्‍लेबाजी करते हुए भारत को 338 रन का लक्ष्य दिया था। जवाब में भारत 5 विकेट पर 306 रन ही बना सका।

By: Kapil Tiwari

Updated: 01 Jul 2019, 11:40 AM IST

बर्मिंघम। आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 ( ICC Cricket World Cup 2019 ) में टीम इंडिया का विजय रथ आखिरकार इंग्लैंड के सामने थम ही गया। 338 रन के विशाल लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम 50 ओवर में 306 रन बना पाई और 31 रन से मैच गंवा दिया। भारतीय टीम की हार के लिए अगर किसी को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है तो वो हैं गेंदबाज और टीम का टॉप ऑर्डर। जी हां, सबसे पहले तो गेंदबाजों ने खूब रन लुटाए और बाद में बल्लेबाजी के समय टॉप ऑर्डर ने बहुत ही धीमी शुरुआत की।

World Cup 2019 : भारत इंग्लैंड से 31 रनों से हारा, सेमीफाइनल में जाने के लिए अभी करना होगा इंतजार

शुरुआती 20 ओवर में ही मैच हार गया था भारत!

टॉस हारकर पहले गेंदबाजी करने उतरी भारतीय टीम पर इंग्लैंड के बल्लेबाज शुरू से ही हावी हो गए थे। जॉनी बेयरस्टो और जेसन रॉय ने इंग्लैंड को तेज शुरुआत दी। वहीं इसके मुकाबले भारतीय टीम की शुरूआत बहुत ही खराब रही। टीम इंडिया ने तीसरे ही ओवर में केएल राहुल का विकेट गंवा दिया। हालांकि इसके बाद विराट और रोहित ने पारी को संभाला, लेकिन इन दोनों खिलाड़ियों ने पिच पर सेट होने के लिए बहुत ज्यादा टाइम ले लिया।

20 ओवर में इंग्लैंड ने मारे 8 छक्के और भारत ने पूरे मैच में सिर्फ 1

इसको ऐसे भी समझा जा सकता है कि इंग्लैंड ने शुरुआती 20 ओवरों में बिना कोई विकेट खोए 145 रन बना लिए थे, जिसमें 8 छक्के शामिल हैं। वहीं टीम इंडिया शुरुआती 20 ओवर में 100 रन का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाई थी। भारत ने शुरुआती 20 ओवर में सिर्फ 83 रन बनाए थे और वो भी केएल राहुल का विकेट गंवाकर। भारतीय पारी का एकमात्र सिक्सर महेंद्र सिंह धोनी ने आखिरी के ओवरों में मारा था।

 

Dhoni

धीमी शुरुआत से मिडिल ऑर्डर पर पड़ा दबाव

विराट कोहली और रोहित शर्मा के बीच भले ही 100 रन की साझेदारी हुई, लेकिन इनकी धीमी बल्लेबाजी ने बाद के बल्लेबाजों पर दबाव बनाया, जिसका नतीजा हुआ कि डेथ ओवर्स में Asking Run Rate 13 के भी पार चला गया था। हालांकि विराट और रोहित के आउट होने के बाद स्कोरबोर्ड उस वक्त तेजी से चला, जब ऋषभ पंत और हार्दिक पांड्या क्रीज पर थे। दोनों खिलाड़ियों ने तेज से रन बनाना तो शुरू किया, लेकिन ज्यादा देर तक उस क्रम को जारी नहीं रख पाए। धीमी शुरुआत के बाद भी पांड्या और पंत ने 37 ओवर में भारत के स्कोर को इंग्लैंड के स्कोर के एकदम पास लाकर खड़ा कर दिया था, जहां से जीत नजर आ रही थी। लेकिन पंत के आउट होते ही रनों की रफ्तार पर एक बार फिर ब्रेक लग गया। धोनी और पंत आखिरी में संभलकर खेलने लगे। बाद में पांड्या भी तेज से रन बनाने के चक्कर में आउट हो गए।

आंकड़े India vs ENgland मैच में बने रिकॉर्ड पर एक नजर, कोहली ने किया 'विराट' कारनामा

Yuzi Chahal

भारतीय स्पिनर्स ने लुटाए रन

इससे पहले गेंदबाजों ने भी खूब रन लुटाकर मैच में इंग्लैंड को खुद पर हावी होने का मौका दिया। टीम इंडिया के स्पिन तो सबसे ज्यादा महंगे साबित हुए। युजवेंद्र चहल ने 10 ओवर में सबसे ज्यादा 88 रन खाए और 1 भी विकेट नहीं निकाला। वहीं कुलदीप यादव ने 10 ओवर में 72 रन देकर 1 विकेट हासिल किया। वहीं तेज गेंदबाजी में भले ही मोहम्मद शमी ने 5 विकेट लिए हों, लेकिन उन्होंने इसके लिए 69 रन भी लुटा दिए। सबसे किफायती गेंदबाज जसप्रीत बुमराह रहे, जिन्होंने 10 ओवर में सिर्फ 44 रन ही दिए। इंग्लैंड के शुरुआती 20 ओवर में तो भारतीय गेंदबाजों की खूब धुनाई हो रही थी, लेकिन जॉनी बेयरस्टो और जेसन रॉय के आउट होने के बाद भारतीय गेंदबाजों ने वापसी की, लेकिन फिर आखिरी ओवरों में बेन स्टोक्स की पारी से इंग्लैंड की टीम भारतीय गेंदबाजों पर फिर हावी हो गई। इंग्लैंड की तरफ से जॉनी बेयरस्टो ने शानदार 111 रन की पारी खेली, जिसमें 6 छक्के शामिल हैं। वहीं जेसन रॉय ने 57 गेंदों में 66 रन बनाए, जिसमें 2 छक्के शामिल हैं।

वर्ल्ड कप 2019 में इंग्लैंड के खिलाफ मिली पहली हार के बाद भारतीय टीम के सेमीफाइनल में जाने का इंतजार बढ़ गया है। टीम इंडिया के अभी 2 मैच बचे हैं और उसमें से एक जीतना है। भारत को अब बांग्लादेश और श्रीलंका से भिड़ना है।

Show More
Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned