scriptSourav Ganguly Birthday when Yuvraj singh forced him to resign through prank rahul dravid | Sourav Ganguly Birthday: युवराज सिंह की इस हरकत की वजह से गांगुली देने वाले थे इस्तीफा, फिर द्रविड़ ने ऐसे रोका | Patrika News

Sourav Ganguly Birthday: युवराज सिंह की इस हरकत की वजह से गांगुली देने वाले थे इस्तीफा, फिर द्रविड़ ने ऐसे रोका

सौरव गांगुली का आज 50वां जन्मदिन है। इस मौके पर हम आपको एक ऐसा किस्सा बताने जा रहे हैं। जिसके चलते दादा कप्तानी से इस्तीफा देने वाले थे। दादा ने भारतीय टीम की कप्तानी ऐसे समय पर संभाली जब फिक्सिंग के आरोपों के चलते टीम पूरी तरह बिखर गई थी और खिलाड़ियों का प्रदर्शन भी कुछ खास नहीं था। ऐसे वक़्त में गांगुली ने ज़िम्मेदारी उठाई और युवा खिलाड़ियों को टीम में शामिल किया। गांगुली अपनी इस टीम को परिवार की तरह प्यार करते थे।

नई दिल्ली

Published: July 08, 2022 10:00:37 am

Sourav Ganguly Birthday: भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली का आज 50वां जन्मदिन है। दादा' के नाम से मशहूर गांगुली का जन्म 8 जुलाई 1972 को कोलकाता में हुआ था। वे लंबे समय तक भारतीय टीम के कप्तान रहे और 2003 वर्ल्डकप में टीम को फाइनल तक पहुंचाया था। भारत के सबसे सफल कप्तानों में से एक गांगुली के करियर में एक ऐसा समय भी आया जब वे कप्तानी से इस्तीफा देने वाले थे। इसकी बड़ी वजह भारतीय टीम के खब्बू बल्लेबाज युवराज सिंह थे।

gaguly.png
सौरव गांगुली का आज 50वां जन्मदिन है।

दादा ने भारतीय टीम की कप्तानी ऐसे समय पर संभाली जब फिक्सिंग के आरोपों के चलते टीम पूरी तरह बिखर गई थी और खिलाड़ियों का प्रदर्शन भी कुछ खास नहीं था। ऐसे वक़्त में गांगुली ने ज़िम्मेदारी उठाई और युवा खिलाड़ियों को टीम में शामिल किया। दादा ने वीरेन्द्र सहवाग, युवराज सिंह, हरभजन सिंह, आशीष नेहरा, ज़हीर खान और अजित अगरकर जैसे खिलाड़ियों को चुना और एक मजबूत टीम बनाई।

यह भी पढ़ें

हार्दिक पांड्या ने पहले T-20 में इंग्लैंड के गेंदबाजों की उड़ाई धज्जियां, टीम इंडिया ने दिया 199 रनों का लक्ष्य


गांगुली अपनी इस टीम को परिवार की तरह प्यार करते थे। ऐसे में युवराज ने कप्तान के इस लगाव का फायदा उठाते हुए एक चल चली जिसके चलते गांगुली बहुत भावुक हो गए थे और कप्तान के पद से इस्तीफा देने वाले थे। लेकिन सही वक़्त पर टीम के उपकप्तान राहुल द्रविड़ ने उन्हें रोक लिया।

फिरकी गेंदबाज हरभजन सिंह, युवराज और जहीर ने साथ मिलकर दादा की खिंचाई करने की प्लानिंग की और इसके लिए फूलप्रूफ प्लान भी बना लिया। युवराज ने भारतीय टीम के प्रेस रिलीज का एक पापर जुगाड़ा। इस पेपर का इस्तेमाल सिर्फ कप्तान और बोर्ड अधिकारी ऑफिशियल स्टेटमेंट के लिए करते हैं।

युवराज ने उस पेपर को लिया और उसपर एक बयान टाइप कराया। बयान में लिखा गया कि हरभजन, युवराज और जहीर गेम को लेकर सीरियस नहीं है, बहुत पार्टी करते हैं और लड़कियों के साथ घूमते हैं। इतना ही नहीं इस प्रेस रिलीज पर युवराज ने दादा के नकली साइन भी कर दिए।

इसके बाद तीनों खिलाड़ी टीम प्रैक्टिस से पहले उस पेपर को लेकर दादा के पास पहुंचे और नाराजगी व्यक्त करते हुए दादा से बात की। युवी ने गांगुली से कहा कि ये अपने ठीक नहीं किया। हरभजन और ज़हीर ने भी युवराज का साथ दिया। अपने खिलाड़ियों के मुंह से ऐसे बात सुनकर दादा दुखी हो गए।

आरोपों को सुन गांगुली हैरान रह गए और इन्हें पूरी तरह गलत बताया। गांगुली बार-बार अपनी सफाई देते हुए कह रहे थे कि उन्होंने किसी से ऐसी बात नहीं कही। लेकिन प्लानिंग बहुत सटीक थी और युवी और भज्जी मान ही नहीं रहे थे।

तीनों खिलाड़ियों ने टीम के लिए खेलने से माना कर दिया और अपना बैग लेकर वहां से जाने लगे। गांगुली ने उन्हें रोकते हुए पूरे मामले से खुद को अनजान बताया, इसके बाद तीनों प्लेयर्स ने उन्हें वो नकली प्रेस रिलीज दी। प्रेस रिलीज देखते ही दादा के होश उड़ गए।

यह भी पढ़ें

4 करोड़ के भारतीय गेंदबाज का इंग्लैंड के खिलाफ T-20 मैच में हुआ डेब्यू, भारत ने टॉस जीतकर चुनी बल्लेबाजी


युवराज को पता था कि टीम के सीनियर खिलाड़ी गांगुली का साथ दे सकते हैं। ऐसे में युवराज ने इस मज़ाक में टीम के भरोसेमंद खिलाड़ी राहुल द्रविड़ और सचिन तेंदुलकर भी शामिल कर लिया था।

जैसे ही यह प्रैस रिलीज द्रविड़ और सचिन ने देखी। तो वे भी दादा पर नाराज़ हो गए और कहा कि वो मीडिया में ऐसा स्टेटमेंट कैसे दे सकते हैं जबकि ये तीनों तो बेहद सीरियस क्रिकेटर्स हैं। यह सब सुनकर गांगुली भावुक हो गए और कप्तानी छोड़ने के लिए राज़ी हो गए। दादा ने कहा, 'उन्होंने ऐसा कोई स्टेटमेंट नहीं दिया है। लेकिन फिर भी अगर सबको ऐसा लगता है तो वो अगले दिन कप्तानी से इस्तीफा देने के लिए तैयार हैं।'

अब मामला काफी सीरियस हो चुका था और अपने कप्तान को इतना परेशान द्रविड़ से देखा नहीं गया और उन्होंने गांगुली को सब सच बता दिया। द्रविड़ की बात सुनते ही दादा ने बल्ला उठा लिया और युवराज और भज्जी के पीछे दौड़े।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बांदा में यमुना नदी में डूबी नाव, 20 के डूबने की आशंकाCM अरविंद केजरीवाल ने किया सवाल- 'मनरेगा, किसान, जवान… किसी के लिए पैसा नहीं, कहां गया केंद्र सरकार का धन'SCO समिट में पीएम मोदी के साथ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की हो सकती है बैठकबिहारः 16 अगस्त को महागठबंधन सरकार का कैबिनेट विस्तार, 24 को फ्लोर टेस्ट, सुशील मोदी के दावे को नीतीश ने बताया बोगसझारखंड BJP ने बिहार के नए उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को गिफ्ट में भेजा पेन, कहा - '10 लाख नौकरी देने वाली फाइल पर इससे करें हस्ताक्षर'Coal Scam: कोयला घोटाले मामले में ED ने पश्चिम बंगाल के 8 आईपीएस ऑफिसर को जारी किया समनजम्मू-कश्मीर के रामबन में लैंडस्लाइड व बादल फटने से दो लोगों की मौत, हिमाचल के कुल्लू में कई दुकानें बहींVP Jagdeep Dhankhar: 'किसान पुत्र' जगदीप धनखड़ ने ली उपराष्ट्रपति पद की शपथ, झुंंझुनू सहित पूरे राजस्थान में जश्न का माहौल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.