पुराने विवाद पर बोले ग्रेग चैपल- सौरव गांगुली क्रिकेट में सुधार नहीं चाहते थे...

ग्रेग चैपल ने हाल ही एक पोडकास्ट कार्यक्रम के दौरान भारतीय क्रिकेट के अपने कोचिंग काल के लम्हों को याद किया। इस दौरान उन्होंने एक बार फिर से सौरव गांगुली पर आरोप लगाते हुए कहा कि गांगुली बस कप्तान बने रहकर चीजों को अपने काबू में रखना चाहते थे।

By: Mahendra Yadav

Published: 20 May 2021, 06:51 PM IST

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान ग्रेग चैपल काफी विवादों में रहे हैं। ग्रेग चैपल भारत के सबसे विवादित कोच रहे हैं। पूर्व कप्तान सौरव गांगुली और ग्रेग चैपल के बीच की नोंक झोंक काफी सुर्खियों में रही हैं। इसी वजह से ग्रेेग चैपल के टीम इंडिया के कोच बनने के बाद गांगुली को न सिर्फ कप्तानी गंवानी पड़ी बल्कि करीब डेढ साल तक उन्हें टीम इंडिया में जगह भी नहीं मिली। बता दें कि सौरव गांगुली की गिनती अब ग्रेग चैपल ने फिर से सौरव गांगुली को बयान दिया है कि सौरव गांगुली बस कप्तान बने रहना चाहते और क्रिकेट में कोई सुधार नहीं करना चाहते थे।

फिर दी विवादों को हवा
ग्रेग चैपल ने हाल ही एक पोडकास्ट कार्यक्रम के दौरान भारतीय क्रिकेट के कोच बनने पर बात की। उन्होंने एक बार फिर विवादों को हवा देते हुए अपने कोचिंग काल के लम्हों को याद किया। इस दौरान उन्होंने एक बार फिर से सौरव गांगुली पर आरोप लगाते हुए कहा कि गांगुली बस कप्तान बने रहकर चीजों को अपने काबू में रखना चाहते थे। साथ ही उन्होंने कहा कि गांगुली बतौर खिलाड़ी अपने क्रिकेट में सुधार नहीं करना चाहते थे। बता दें कि चैपल वर्ष 2005—2007 तक टीम इंडिया के कोच रहे। उन्हें 2007 वर्ल्ड कप को ध्यान में रखकर भारतीय टीम का कोच नियुक्त किया गया था।

यह भी पढ़ें— वीवीएस लक्ष्मण ने की सिराज की तारीफ, कहा- उनके पास लंबे स्पेल तक गेंदबाजी करने की क्षमता

greg_chappell_and_sourav_ganguly.png

चैपल बोले फ्लॉप रही टीम इंडिया
पोडकास्ट कार्यक्रम में चैपल ने ने कहा कि वर्ल्ड कप 2007 में टीम इंडिया भले ही फ्लॉप साबित हुई थी और टूर्नामेंट के पहले ही राउंड में वह बाहर हो गई। साथ ही उन्होंने दावा किया कि इसके बावजूद बीसीसीआई ने उन्हें दोबारा टीम इंडिया का कोच बनने का ऑफर दिया था। चैपल का कहना है बतौर कोच भारत में उनके दो साल काफी चुनौतीपूर्ण रहे।

यह भी पढ़ें— सदमे में क्रिकेट जगत, इस भारतीय क्रिकेटर की कोरोना से मौत, 10 दिन पहले पिता को खोया, भाई भी पॉजिटिव

राहुल द्रविड की तारीफ की
चैपल ने कार्यक्रम के दौरान कहा कि उन्होंने टीम इंडिया का कोच बनना इसलिए स्वीकार किया था क्योंकि सौरव गांगुली ने उनसे आग्रह किया था। वहीं चैपल ने राहुल द्रविड की तारीफ की। बता दें कि सौरव गांगुली के बाद राहुल द्रविड टीम इंडिया के कप्तान बने थे। चैपल ने कहा कि राहुल द्रविड़ ने टीम इंडिया को दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम बनाने में काफी मेहनत की थी, लेकिन टीम के बाकी सीनियर खिलाड़ी ऐसा नहीं कर रहे थे। साथ ही उन्होंने कहा कि गांगुली के कप्तान रहते हुए कुछ दिक्कतें थीं। गांगुली मेहनत नहीं करना चाहते थे, बस बतौर कप्तान टीम में बने रहना चाहते थे।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned