scriptT20 वर्ल्ड कप 2024 कोई भी देश क्यों न जीते… खुशियां तो भारतीयों में ही बंटेंगी, जानें क्यों | t20 world cup 2024 super 8 all team has at least one player connect to india | Patrika News
क्रिकेट

T20 वर्ल्ड कप 2024 कोई भी देश क्यों न जीते… खुशियां तो भारतीयों में ही बंटेंगी, जानें क्यों

T20 वर्ल्ड कप 2024 के सुपर-8 में पहुंची कोई भी टीम वर्ल्‍ड कप क्यों न जीते, लेकिन उस देश में खुशियों के समंदर में भारतीयता की बूंदें जरूर होंगी। क्‍योंकि दक्षिण अफ्रीका हो या अमेरिका, इंग्लैंड हो या ऑस्‍ट्रेलिया हर टीम में कोई न कोई खिलाड़ी भारत से जुड़ा हुआ है।

नई दिल्लीJun 23, 2024 / 02:41 pm

lokesh verma

T20 World Cup 2024
राम नरेश गौतम. भारत 29 जून को जब राष्ट्रीय सांख्यिकी दिवस मना रहा होगा, उसी रोज क्रिकेट के फटाफट फॉर्मेट यानी टी20 वर्ल्‍ड कप 2024 का विजेता सामने आएगा। गजब का संयोग बन रहा है कि अमेरिका और वेस्टइंडीज की संयुक्त मेजबानी में हो रहे इस विश्वकप के सुपर-8 में पहुंची कोई भी टीम वर्ल्‍ड कप क्यों न जीते, लेकिन उस देश में खुशियों के समंदर में भारतीयता की बूंदें जरूर होंगी। इस तरह भारत अपनी जनसांख्यिकी छाप एक बार फिर दुनिया पर छोड़ेगा। दक्षिण अफ्रीका हो या अमेरिका, इंग्लैंड हो या ऑस्‍ट्रेलिया हर टीम में कोई न कोई खिलाड़ी भारत से जुड़ा हुआ है। अमेरिका की तो करीब आधी टीम ही भारतीय है। जानिए, किस देश के किस खिलाड़ी से है भारत से रिश्ता।

ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलियाई टीम के ऑलराउंडर ग्‍लेन मैक्सवेल की पत्नी विनी रमन तमिलनाडु के वेल्लूर मूल की हैं। विनी की बड़ी बहन मधु का जन्म भारत में ही हुआ। उनके पिता वेंकट रमन व मां विजयलक्ष्मी कॅरियर के लिए ऑस्ट्रेलिया चले गए थे। विनी के साथ मैक्सवेल ने 2022 में हिंदू और ईसाई परंपराओं के अनुसार शादी की थी।

अफगानिस्तान

अफगानी क्रिकेट टीम का होम ग्राउंड ही भारत में ग्रेटर नोएडा का शहीद विजय सिंह पथिक स्पोट्र्स कॉम्प्लेक्स है। भारतीयों के दिल में अफगानिस्तान टीम के प्रति प्यार भी कई मौकों पर झलक चुका है। इस टीम के सुपरस्टार राशिद खान सहित कुछ खिलाड़ी अच्छी हिंदी बोलते हैं। कई खिलाड़ी भारत को अपना दूसरा देश मानते हैं।

बांग्लादेश

बांग्लादेश के प्रति भारत और भारतीयों का लगाव किसी से छिपा नहीं है। बांग्लादेश का निर्माण ही भारत की मदद से हुआ है। बांग्लादेशी टीम में लिटन दास और सौम्य सरकार का ताल्लुक बंगाली हिंदू परिवार से है। ऐसे में बांग्लादेश की खुशियों में भी भारतीयता का महक होगी।

वेस्टइंडीज

इस टीम में गुयाना के स्पिनर गुडाकेश मोती भारतीय मूल परिवार से हैं। कैरिबियाई देशों में भारत के बिहार, बंगाल, ओडिशा, उत्तरप्रदेश, झारखंड, मध्यप्रदेश के हजारों परिवार उन्नीसवीं, बीसवीं सदी में जा बसे थे। इसके बाद वेस्ट इंडीज टीम से कई भारतीय मूल के खिलाड़ी मैदान में रंग जमाते रहे हैं।
यह भी पढ़ें

ऑस्ट्रेलिया को धोबी पछाड़ देकर राशिद खान ने दिया बड़ा बयान, कंगारुओं को लगेगी मिर्ची

अमेरिका

टीम के कप्तान मोनांक पटेल गुजरात के आणंद में जन्मे हैं। दिल्ली के मिलिंद कुमार, मुंबई के हरमीत सिंह और सौरभ नेत्रावलकर, अहमदाबाद के निसर्ग पटेल तथा नितीश कुमार और जसदीप सिंह भारतीय मूल के हैं। यों तो संभावना कम है लेकिन अमरीकी टीम जीतती है तो गुजरात से मुंबई तक खुशियां बिखरेंगी।

इंग्लैंड

इंग्लिश टीम में मोइन अली और आदिल रशीद की जड़े पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर (पीओके) के मीरपुर से जुड़ी हैं। भारत पीओके को अपना हिस्सा ही मानता है। जिसे भारत में मिलाने की बातें होती रही हैं। ऐसे में इंग्लैंड टीम से भी भारतीय रिश्ता जुड़ा हुआ है।

साउथ अफ्रीका

इस टीम में ऑलराउंडर केशव महाराज मूलरूप से भारतीय परिवार के हैं। उनके पिता आत्मानंद के दादा उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर को छोड़कर उन्नीसवीं सदी में गिरमिटिया मजदूर के रूप में डरबन में जा बसे थे। केशव आज साउथ अफ्रीका के प्रमुख खिलाड़ी हैं।

Hindi News/ Sports / Cricket News / T20 वर्ल्ड कप 2024 कोई भी देश क्यों न जीते… खुशियां तो भारतीयों में ही बंटेंगी, जानें क्यों

ट्रेंडिंग वीडियो