Flashback: जब सचिन ने हॉग से कहा था, ऐसा फिर कभी नहीं होगा

-जब सचिन तेंदुलकर को हॉग ने किया था बोल्ड आउट।
-हॉग को ऑटोग्राफ देते वक्त सचिन तेंदुलकर ने कहा था जिंदगी फिर दोबारा कभी आउट नहीं कर पाओंगे।
-यह वाकया वर्ष 2007 में भारत और आस्ट्रेलिया के बीच खेली गई वनडे सीरीज के तीसरे मुकाबले का है।

 

By: भूप सिंह

Updated: 20 Nov 2020, 12:56 PM IST

नई दिल्ली। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) जितने महान खिलाड़ी हैं उतने ही विनम्र इंसान भी हैं। उन्होंने हमेशा अपने फैंस की दिली इच्छा को पूर्ण किया है। चाहे बात ऑटोग्राफ (autograph) देने की बात हो या फिर फोटो खिंचवाने की। आज हम आपको वर्ष 2007 की एक ऐसी घटना के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे जानकार आप भी गदगद हो उठेंगे। दरअसल, आस्ट्रेलिया के पूर्व चाइनामैन गेंदबाज ब्रैड हॉग (Brad Hogg) ने 5 अक्टूबर, 2007 में भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar ) का विकेट लिया था।

पृथ्वी शॉ बने लड़की तो शिखर धवन ने टी-शर्ट उतार बाहों में भरकर किया ऐसा धांसू डांस, वीडियो वायरल

फिर कभी नहीं कर सकोंगे आउट
सचिन (Sachin ) को आउट करने और मैच खत्म होने बाद ब्रैड हॉग, मास्टर ब्लास्टर सचिन के पास ऑटोग्राफ लेेने गए थे। उस वक्त सचिन ने ब्रैड हॉग (Brad Hogg) को ऑटोग्राफ देते हुए कहा था कि आज के बाद आप मुझे कभी भी आउट नहीं कर पाओंगे। यह बात है वर्ष 2007 की जब हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में वनडे सीरीज (ODI Series) का तीसरा मैच खेला गया था। इस मैच में भारत को जीत के लिए 291 रनों लक्ष्य मिला था। उस मैच में भारत की ओर से सचिन और गौतम गंभीर पारी की शुुरुआत करने उतरे थे। इस दौरान हॉग ने 27वें ओवर में सचिन को बोल्ड कर दिया था।

MS Dhoni की बेटी Ziva का क्यूट वीडियो वायरल, अब तक देख चुके हैं लाखों लोग

हॉग ने अब किया खुलासा
हॉग ने हाल ही द संडे ऐज से बात करते हुए इस बात का खुलासा किया कि वह सचिन के पास उनसे उसी तस्वीर पर ऑटोग्राफ लेने गए थे। सचिन ने बड़ी सादगी से ऑटोग्राफ तो दिया, लेकिन तस्वीर पर यह भी लिख दिया था कि अब वह अगली बार दोबारा कभी उन्हें आउट नहीं कर पाएंगे।

इंग्लैंड सीरीज से पहले दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर कोविड-19 पॉजिटिव

बिल्कुल ठीक निकली सचिन की बात
सचिन की कही हुई बातें बिल्कुल ठीक निकलीं और हॉग फिर उन्हें कभी आउट नहीं कर पाए। हॉग का कहना है कि सचिन जैसे खिलाड़ी के साथ मैदान पर खेलना सम्मान की बात है। उन्हें गेंदबाजी करना एक शानदार अनुभव है। अगर मैं वहां हूं, तो मैं उनसे मुकाबला करने और उनके लिए जीवन को कठिन बनाने के लिए हूं। इस मैच में युवराज सिंह के शतक के बावजूद भारत को उस मैच में 47 रन से हार का सामना करना पड़ा था।

Show More
भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned