जब खराब फॉर्म में चल रहे विराट कोहली ने अपना खेल सुधारने के लिए सचिन से मांगी सलाह

विराट कोहली ने अपने कॅरियर में कई उतार-चढ़ाव भी देखे हैं। वर्ष 2014 में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान विराट कोहली खराब फॉर्म में चल रहे थे।

By: Mahendra Yadav

Updated: 05 Aug 2021, 12:14 PM IST

विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया इस समय इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेल रही है। विराट कोहली आज दुनिया के दिगगज क्रिकेटरों की श्रेणी में गिने जाते हैं लेकिन उन्होंने अपने कॅरियर में कई उतार—चढ़ाव भी देखे हैं। वर्ष 2014 में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान विराट कोहली खराब फॉर्म में चल रहे थे। उस वक्त उन्होंने सचिन तेंदुलकर से सलाह मांगी थी। इस बात का खुलासा कोहली ने एक इंटरव्यू के दौरान किया। सचिन की सलाह के बाद विराट कोहली मिचेल जॉनसन जैसे गेंदबाजों का सामना करने के लिए पूरी तरह से निर्भीक बन गए थे। इंटरव्यू के दौरान विराट कोहली ने बताया कि लंबे समय तक इस स्तर पर खेलते हुए आप थोड़े असुरक्षित और भयभीत हो जाते हो, आप लोगों को साबित करना चाहते हो कि आप अलग-अलग परिस्थितियों में कितना अच्छा खेलते हो।

चल रहा था खराब दौर
वर्ष 2014 में इंग्लैंड दौरे के दौरान विराट कोहली का प्रदर्शन निराशाजनक रहा था। उन्होंने इंग्लैंड दौरे पर 10 पारियों में 13.50 के औसत से रन बनाए थे। हालांकि इसके बाद ऑस्ट्रेलिया दौरे में विराट ने अच्छा प्रदर्शन किया और टेस्ट सीरीज में 692 रन बनाए। विराट ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले वह हर विदेशी दौरे को इंजीनियरिंग की परीक्षा के जैसे ले रहे थे। उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसा लग रहा था कि उन्हें किसी तरह से पास होना है और लोगों को दिखाना है कि वह भी इस स्तर पर खेल सकता हैं। उस वक्त विराट का खराब दौर चल रहा था।

यह भी पढ़ें— IND vs ENG: हरभजन ने किया खुलासा, इसलिए कोहली ने जडेजा को किया प्लेइंग इलेवन मे शामिल, अश्विन रहे बाहर

virat_sachin.png

निराश हो गए थे विराट
विराट ने बताया कि जब खराब दौर होता है तो पता नहीं होता कि कौन आपके शुभचिंतक हैं और कोई आपकी मदद करेगा या नहीं। विराट ने बताया कि उस वक्त उनके पास मेहनत करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था। कोहली ने बताया कि उस वक्त वह थोड़ा निराश हो गए थे। साथ ही उन्होंने कहा कि अभ्यास सत्र में उन्होंने यह सोचकर अभ्यास किया कि वह पूर्व ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिचेल जॉनसन का सामना कैसे करेंगे। जॉनसन उस वक्त बेहतरीन फॉर्म में थे।

यह भी पढें—IND VS ENG: जसप्रीत बुमराह के सामने इंग्लैंड की टीम ने टेके घुटने, 25 साल बाद किया ये कारनामा

सचिन से मांगी सलाह
विराट कोहली ने बताया कि वह मुंबई गए और सचिन तेंदुलकर को फोन किया। विराट ने सचिन को फोन कर अपना खेल सुधारने के लिए सलाह मांगी। साथ ही उन्होंने सचिन से पूछा कि वह जानना चाहते हैं कि इस स्तर पर रन कैसे बना रखें। इस पर सचिन ने विराट को कहा कि 'आप लोगों को दिखाने के लिये टेस्ट क्रिकेट नहीं खेल सकते। आप अपनी टीम को जीत दिलाने के लिए यह खेल खेलते हो।' विराट ने बताया कि उनके दिमाग में सिर्फ यही चल रहा था कि ऑस्ट्रेलिया जाकर इन खिलाड़ियों के खिलाफ रन कैसे बनाएंगे। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाने से पहले तक विराट हर वक्त यही सोचते रहते थे कि जॉनसन को कैसे हिट कर रहे हैं और इन गेंदबाजों की गेंदों को पूरे पार्क में भेज रहे हैं। कोहली ने बताया कि जब वह दौरे के लिए पहुंचे तो पूरी तरह से निर्भीक हो गए थे और चीजें सही होती चली गईं।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned