महाराष्ट्रः पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के खिलाफ FIR दर्ज, 15 करोड़ की रिश्वत मांगने का आरोप

मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्‍नर परमबीर सिंह के खिलाफ रंगदारी का मुकदमा दर्ज किया गया है। मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन में पूर्व पुलिस कमिश्नर के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है।

By: Shaitan Prajapat

Published: 22 Jul 2021, 12:46 PM IST

नई दिल्ली। भ्रष्टाचार के मामलों में फंसे आईपीएस अफसर और मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्‍नर परमबीर सिंह की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है। 100 करोड़ रुपए की वसूली कांड के बाद अब परमबीर सिंह के खिलाफ रंगदारी का मुकदमा दर्ज किया गया है। मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन में पूर्व पुलिस कमिश्नर के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है। एक बिजनेसमैन ने आठ लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है। जिसमें 6 पुलिसकर्मी और 2 आम नागरिक शामिल हैं। इस मामले में दो लोग की गिरफ्तारी हो चुकी है।


6 पुलिसकर्मी सहित 8 लोगों के खिलाफ FIR
मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन में परमबीर सिंह के खिलाफ रंगदारी का मामला दर्ज किया गया है। बताया जा रहा है कि एक व्यवसायी ने यह शिकायत दर्ज करवाई है। इस एफआईआर में 6 पुलिसकर्मी सहित 8 लोगों का नाम शामिल है। एफआईआर में जिन पुलिसकर्मियों के नाम हैं, उनमें से एक मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच यूनिट में डीसीपी हैं। जबकि अन्य पुलिसकर्मी क्राइम ब्रांच की अलग-अलग यूनिट्स में है। मुंबई पुलिस ने इस मामले में अब तक दो नागरिकों को भी गिरफ्तार किया है।

यह भी पढ़ें:- सुप्रीम कोर्ट निजी अस्पतालों की हरकतों से नाराज, कहा- प्राइवेट अस्पताल उद्योग बन गए हैं

 

 

शिकायतों का निपटारा करने के ऐवज में 15 करोड़ की डिमांड
इस प्रकार से भ्रष्टाचार के मामलों में मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्‍नर परमबीर सिंह के ऊपर शिकंजा कसता जा रहा है। ये एफआईआर मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई है। शिकायत करने वाले बिल्डर का आरोप है कि उनके खिलाफ दर्ज कुछ केस और शिकायतों का निपटारा करने के बदले में उनसे 15 करोड़ रुपए की मांग की।

यह भी पढ़ें:- भूमाफिया बन गया है चीन, दुनियाभर में 64 लाख हेक्टेयर जमीन पर किया ‘कब्जा’

100 करोड के कांड में गवाई थी कुर्सी
आपका बात दें कि पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर 100 करोड़ की वसूली का आरोप लगाया था। उनके इस आरोप के बाद महाराष्ट्र की सियासत में भूचाल आ गया था। अनिल देशमुख को महाराष्ट्र के गृहमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। वहीं, परमबीर सिंह को भी अपनी कुर्सी गंवानी पड़ी थी। इसके बाद महाराष्ट्र सरकार ने एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) को आईपीएस अधिकारी परमबीर सिंह के खिलाफ ओपन जांच के आदेश दिए गए है।

Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned