Punjab : जहरीली शराब पीने से 38 की मौत, मजिस्ट्रेट से जांच के आदेश, 8 गिरफ्तार

  • Punjab CM Amarinder Singh ने कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।
  • Shiromani Akali Dal ने हाईकोर्ट के मौजूदा जज से न्यायिक जांच की मांग की।
  • AAP नेताओं ने कहा कि मजिस्ट्रेटी जांच से काम नहीं चलेगा, सीएम इस्तीफा दें।

By: Dhirendra

Updated: 01 Aug 2020, 09:21 AM IST

नई दिल्ली। पंजाब ( Punjab ) के तीन जिलों में जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 38 हो गई है। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ( Punjab CM Amarinder Singh ) ने घटना की मजिस्ट्रेट से जांच ( magistrate Inquiry ) कराने के आदेश दिए हैं। इस मामले में अभी तक 8 आरोपियों को गिरफ्तार ( Eight arrested ) किया गया है। घटना के बाद सकते में आई पंजाब पुलिस ( Punjab Police ) ने तीन जिलों के 40 स्थानों पर रेड ( Raids ) मारकर भारी मात्रा में शराब बरामद की।

थाना प्रभारी सस्पेंड

अमृतसर के एसएसपी ( ग्रामीण ) विक्रमजीत सिंह दुग्गल (Amritsar SSP Rura Vikramjit Singh Duggal ) ने बताया कि तारसिक्का थाना के प्रभारी विक्रमजीत सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि जहरीली शराब पीने से बुधवार की रात से तरनतारन जिले में 19, अमृतसर में 10 और बटाला में 8 लोगों की मौत हुई है।

दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर लिखा है कि मैंने अमृतसर, गुरदासपुर और तरनतारन में जहरीली शराब की मौतों की मजिस्ट्रियल जांच जांच ( magistrial Inquiry ) के आदेश दिए हैं। कमिश्नर जालंधर डिवीजन जांच करेंगे। इस काम में संबंधित एसएसपी और अन्य अधिकारियों के साथ समन्वय करेंगे। इस मामले में जो भी दोषी पाया जाएगा उसे बख्शा नहीं जाएगा।

Delhi Riots : एलजी ने केजरीवाल कैबिनेट का फैसला बदला, राष्ट्रपति कोविंद के पास भेजा वकीलों का मुद्दा

जानकारी के मुताबिक संभागीय आयुक्त जालंधर के साथ ही पंजाब के संयुक्त आबकारी और कर आयुक्त तथा संबंधित जिलों के एसपी द्वारा जांच की जाएगी। मुख्यमंत्री ने संभागीय आयुक्त को त्वरित जांच के लिए प्रशासन या पुलिस के किसी भी अधिकारी या अन्य विशेषज्ञ का भी सहयोग लेने की छूट दी है।

40 स्थानों पर रेड, महिला सहित 8 गिरफ्तार

इस घटना के बाद शुक्रवार को सघन अभियान चलाते हुए पंजाब पुलिस ने अमृतसर, बटाला और तरन तारन में 40 जगहों पर छापेमारी की और शराब की तस्करी करने वाले 8 लोगों को गिरफ्तार किया। रेड के दौरान अमृतसर ग्रामीण से बलविंदर कौर और मिठू को गिरफ्तार किया गया है। दर्शन रानी और राजन के रूप में पहचाने गए दो लोगों को बटाला जिले से पकड़ा गया है। इसके अलावा कश्मीर सिंह, अंगरेज सिंह, अमरजीत और बलजीत को तरनतारन से गिरफ्तार किया गया है।

DGP ने जताई मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका

डीजीपी दिनकर गुप्ता ( DGP Dinkar Gupta ) ने बताया कि अमृतसर के तारसिक्का के मुच्छल गांव में गुरुवार रात एक महिला को पकड़ा गया। डीजीपी ने कहा कि नकली शराब का नेटवर्क कई इलाकों तक फैला हुआ था। इसलिए मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है। गिरफ्तार लोगों से पूछताछ के बाद मामले में और गिरफ्तारी की संभावना है। डीजीपी दिनकर गुप्ता ने कहा कि आरोपियों के पास से भारी मात्रा में नकली शराब, ड्रम और भंडारित कैन बरामद किए गए और इन्हें जांच के लिए भेजा गया है।

Gurugram : साइबर सिटी में कुछ युवकों ने की सरेआम गुंडागर्दी, मीट ले जा रहे युवक को हथोड़े से पीटा

हाईकोर्ट के न्यायाधीश से जांच की मांग

शिरोमणि अकाली दल ( Shiromani Akali Dal ) ने संभागीय आयुक्त स्तर की जांच को खारिज कर दिया और पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के मौजूदा न्यायाधीश से न्यायिक जांच ( High level Judial inquiry ) कराने की मांग की।

सीएम का इस्तीफा मांगा

वहीं जहरीली शराब पीने की घटना में 38 लोगों की मौत के बाद विपक्षी दलों खासकर AAP नेताओं ने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का इस्तीफा मांगा है। आम आदमी पार्टी ने कहा कि मजिस्ट्रेटी जांच से काम नहीं चलेगा। पार्टी के वरिष्ठ नेता और विधायक अमन अरोड़ा ने कहा कि पार्टी मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग करती है।

AAP
Show More
Dhirendra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned