सरकारी विद्यालय के भवनों में चलेगी गांव की सरकार

प्रस्ताव के दो माह बाद भी भूमि रूपांतकरण नहीं

By: Rajendra Jain

Published: 02 Oct 2020, 08:50 AM IST

दौसा. सरकार ने गांवों के विकास के लिए नई पंचायत समिति व ग्राम पंचायत तो बना दी, लेकिन अब गांव की सरकार को बैठने के लिए आसरे की तलाश है। भवनों के नही होने से अब ग्राम पंचायत किसमें चलेगी। इसको लेकर संशय बना हुआ है। इन दिनों सरकारी स्कूलों में छुट्टी होने के कारण अधिकारी गांव की सरकार इन भवनोंं में चलाने की तैयारी कर रहे हैं। जबकि नए भवनों के निर्माण की कोई चर्चा नहीं की जा रही है।
लवाण पंचायत समिति की ग्राम पंचायतों के चुनाव हो चुके हैं। इनमें कंवरपुरा, पीपल्या ग्राम पंचायत नई बनी है, लेकिन अभी तक भूमि का रूपांतकरण नही होने से भवनों के निर्माण का काम अभी फाइलों में अटका हुआ है। कंवरपुरा में 16 गुणा 20 फीट के भवन में ग्राम ंपचायत चलाने पर विचार किया जा रहा है। ऐसे में यहां दस्तावेजों को रखने तथा जनप्रतिनिधियों व ग्रामीणों की बैठने की समस्या होगी।
लवाण विकास अधिकारी डॉ.हरकेश मीणा ने बताया कि सरकार ने लवाण पंचायत समिति में पीपल्या और कंवरपुरा को नई ग्राम पंचायत बनाया है, वहीं नांगलराजावतान पंचायत समिति मे ठीकरिया, कालीखाड़ और मानपुरिया को ग्राम पंचायत का दर्जा मिला है। विकास अधिकारी ने बताया कि पंचयात भवनों के मौके पर जाकर जमीन भी देख ली है, लेकिन भूमि चरागाह की होने से भवनों के पट्टे जारी नहीं किए जा सकते । ऐसे में पहले भूमि का रूपांतकरण का होना जरूरी है। जिला प्रशासन के पास 6 अगस्त 2020 को भवनों की भूमि के रूपांतकरण के लिए फाइल भी भेज दी है। जब तक ग्राम पंचायतों भवन नहीं बनेंगे, तब तक सरकारी स्कूलों के भवन व किसी अन्य जगह ग्राम पंचायतों का संचालन किया जाएगा।
एक छत के नीचे होगा आम जन का काम
सरकार ग्राम पंचायतों के भवन नए तरीके से बनाने जा रही है। इसमें प्रत्येक नए भवनो में पटवार मंडल होने से पटवारी को भी ग्राम ंपचायत में ही बैठना होगा। इससे ग्रामीणों के एक ही छत के नीचे सब काम होंगे। इसके अलावा कृषि कार्यालय, ई-मित्र और मिनी बैंक भी होगा।
ग्राम पंचायत भवन निर्माण के लिए दस लाख सरकार व दस लाख रुपए मनरेगा के तहत मिलेंगे। ऐसे में बीस लाख रुपए की लागत से ग्राम पंचायत का भवन बनेगा व तीन करोड़ की लागत से नांगलराजावतान में पंचायत समिति का भवन बनेगा। इस समय पंच व सरपंच के चुनाव कार्य चलने से कुछ नहीं हो रहा है। 11 अक्टूबर के बाद में ही भवन निर्माण के बारे में विचार-विमर्श किया जाएगा।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned