Grahan 2021 : साल 2021 में पड़ेगे चार ग्रहण, भारत में रहेगा इनका ये का प्रभाव

2021 के ग्रहण...

By: दीपेश तिवारी

Updated: 01 Jan 2021, 12:12 PM IST

2021 नया साल इस बार पुष्य नक्षत्र में शुरू हो रहा है। वहीं वर्ष 2021 में दो सूर्य और दो चंद्र ग्रहण पड़ेगे। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इनमें से कुछ ग्रहण भारत में दिखाई देंगे। वहीं, इस साल गुरु ग्रह के परिवर्तन से कुछ राशियों को फायदा भी हो सकता है।

ऐसे में जहां इनकी दृश्यता नहीं होगी, वहां इनका सूतक काल भी प्रभावी नहीं होगा लेकिन जहां इनकी दृश्यता होगी, वहां ग्रहण का प्रभाव हर प्राणी के ऊपर किसी न किसी रूप से ज़रूर ही पड़ने वाला है। ।

जनवरी से नया कैलेंडर वर्ष शुरू हो जाएगा। वर्ष 2021 में 26 मई और 19 नवंबर को चंद्र ग्रहण होंगे। वहीं, 10 जून और 4 दिसंबर को दो सूर्य ग्रहण होंगे। आने वाले वर्ष में धनु, मकर, कुंभ, राशि वालों पर साढ़ेसाती का प्रभाव बना रहेगा। मिथुन, तुला, राशि वालों को शनि की दृष्टि सताती रहेगी।

MUST READ : HAPPY NEW YEAR 2021 - बेहद खास है नए साल 2021 का पहला दिन शुक्रवार, इस दिन जरूर कर लें ये काम

new_year_2021_is_best.png

सूर्य ग्रहण 2021 (Surya Grahan 2021)
2021 में पहला सूर्य ग्रहण वर्ष के मध्य में, यानि 10 जून 2021 को घटित होगा तो वहीं साल का दूसरा सूर्य ग्रहण 4 दिसंबर 2021 को घटित होगा।

: पहला सूर्य ग्रहण 2021
यह ग्रहण 10 जून 2021 को 13:42 बजे से शुरु होकर 18:41 बजे तक रहेगा। इसका दृश्य क्षेत्र उत्तरी अमेरिका के उत्तरी भाग, यूरोप और एशिया में आंशिक व उत्तरी कनाडा, ग्रीनलैंड और रुस में पूर्ण रहेगा।

ये सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा। इसलिए भारत में इस सूर्य ग्रहण का धार्मिक प्रभाव और सूतक मान्य नहीं होगा।

10 जून 2021 को लगने वाला सूर्य ग्रहण वलयाकार सूर्य ग्रहण होगा। वलयाकार सूर्य ग्रहण उस घटना को कहते हैं, जब चंद्र पृथ्वी की परिक्रमा करते हुए, सामान्य की तुलना में उससे दूर हो जाता है। इस दौरान चंद्र सूर्य और पृथ्वी के बीच होता है, लेकिन उसका आकार पृथ्वी से देखने पर इतना नज़र नहीं आता कि वह पूरी तरह सूर्य की रोशनी को ढक सके। इस स्थिति में चंद्र के बाहरी किनारे पर सूर्य काफ़ी चमकदार रूप से रिंग यानि एक अंगूठी की तरह प्रतीत होता है। इस घटना को ही वलयाकार सूर्य ग्रहण कहते है।

: दूसरा सूर्य ग्रहण 2021
वर्ष 2021 का दूसरा व अंतिम सूर्य ग्रहण शनिवार,04 दिसंबर 2021 को 10:59 बजे से शुरु होकर 15:07 बजे तक रहेगा। यह ग्रहण अंटार्कटिका, दक्षिण अफ्रीका, अटलांटिक के दक्षिणी भाग, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अमेरिका में दिखाई देगा।

ये सूर्य ग्रहण भी भारत में नहीं दिखाई देगा। इसलिए भारत में इस सूर्य ग्रहण का धार्मिक प्रभाव और सूतक मान्य नहीं होगा।
यह एक पूर्ण सूर्य ग्रहण होगा। पूर्ण सूर्य ग्रहण उस स्थिति में होता है जब चंद्र,सूर्य और पृथ्वी के बीच में आकर सूर्य को ढक लेता है जिससे सूर्य का प्रकाश पृथ्वी तक नहीं पहुंच पाता है।

चंद्र ग्रहण 2021 (Chandra Grahan 2021)
वहीं 2021 में पहला चंद्र ग्रहण वर्ष के 5वें माह में, यानि 26 मई 2021 को लगेगा तो वहीं साल का दूसरा चंद्र ग्रहण ग्यारवें माह यानि नवंबर में 19 नवंबर 2021 को घटित होगा।

: पहला चंद्र ग्रहण 2021
2021 का पहला चंद्रग्रहण 26 मई 2021, बुधवार को दोपहर 14:17 बजे से शुरु होकर 19:19 बजे तक रहेगा। यह पूर्ण चंद्र ग्रहण भारत, पूर्वी एशिया, ऑस्ट्रेलिया, प्रशांत महासागर और अमेरिका में दिखाई देगा।

ये चंद्र ग्रहण भारत में तो दिखाई देगा, लेकिन यहां ये चंद्र ग्रहण केवल उप छाया ग्रहण की तरह दृश्य होगा, इसलिए भारत में इस चंद्र ग्रहण का धार्मिक प्रभाव और सूतक मान्य नहीं होगा।

: दूसरा चंद्र ग्रहण 2021

वहीं साल 2021 का दूसरा चंद्रग्रहण 19 नवंबर 2021, शुक्रवार को 11:32 बजे से शुरु होकर 17:33 बजे तक रहेगा। यह आंशिक भारत, अमेरिका, उत्तरी यूरोप, पूर्वी एशिया, ऑस्ट्रेलिया और प्रशांत महासागर के कुछ क्षेत्र दिखेगा।

ये चंद्र ग्रहण भी भारत में दिखाई तो देगा, लेकिन उपचाया ग्रहण के रूप में दृश्य होने के चलते, इस चंद्र ग्रहण का धार्मिक प्रभाव और सूतक यहां मान्य नहीं होगा।

 

MUST READ : शनि 2021 : इस साल करेंगे न्याय, आपकी राशि पर ये होगा असर

shani_effects.png

साल 2021 पर शनि का रहेगा खास प्रभाव ( shani effects on 2021 ) ...
ज्योतिष के जानकारों के अनुसार साल 2021 पर शनि का खास प्रभाव रहेगा। ऐसे में इस दौरान सभी राशि के लोगों को हनुमान चालीसा का पाठ और हनुमान जी का दर्शन शुभ होगा। गुरु पांच अप्रैल से कुंभ राशि में आ जाएंगे और कुंभ पर्व प्रारंभ होगा। पंडित सुनील शर्मा के अनुसार वर्ष का शुभारंभ पुष्य नक्षत्र में होना शुभ है।

14 सितंबर से गुरु फिर अपनी नीच राशि मकर में आ जाएंगे। 20 नवंबर को गुरु का आगमन फिर से कुंभ राशि में हो जाएगा। मेष, वृषभ, कर्क, कन्या, तुला, राशि वाले जातक इस वर्ष धन और संपत्ति की प्राप्ति कर सकते हैं।

ज्योतिष के जानकारों के अनुसार इस समय मीन वालों को बहुत लाभ हो सकता है। इस वर्ष राहु, वृषभ में और केतु, वृश्चिक राशियों में ही रहेंगे। दो जून से 30 जुलाई तक शनि, मंगल, सूर्य, शनि, गुरु, शुक्र, जैसे विपरीत ग्रहों की प्रति युति होगी।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned